गुरू रविदास जयंती

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

गुरु रविदास जयंती, माघ महीने में पूर्णिमा (माघ पूर्णिमा) के दिन पर मनाया जाने वाला गुरु रविदास का जन्मदिवस है।[1] यह रैदास पंथ धर्म का वार्षिक केंद्र बिंदु है। जिस दिन अमृतवाणी गुरु रविदास जी को पढ़ी जाती है, और गुरु के चित्र के साथ नगर में एक संगीत कीर्तन जुलूस निकाला जाता है। इसके अलावा श्रद्धालु पूजन करने के लिए नदी में पवित्र डुबकी लगाते हैं, उसके बाद भवन में लगी उनकी छवि पूजी जाती है। हर साल, श्री गुरु रविदास जन्म स्थान मंदिर, सीर गोवर्धनपुर, वाराणसी में एक भव्य उत्सव के अवसर पर दुनिया भर से लाखों श्रद्धालुओं आते है। यह त्यौहार 2020 में 9 फरवरी को थी, और 2021 में 27 फरवरी को मनाई जायेगी।[2]

जन्म[संपादित करें]

रविदास जी का जन्म सीर गोवर्धनपुर गाँव में हुआ था।[3] वे कबीर जी के समकालीन थे, और अध्यात्म पर कबीर जी के साथ कई संवाद उपलब्ध हैं।[4]

जयंती[संपादित करें]

रविदास के जन्म को रविदास जयंती के रूप में मनाया जाता है। जातिवाद और आध्यात्मिकता के खिलाफ काम करने के कारण रविदास पूजनीय हैं।[5][6] वह एक आध्यात्मिक व्यक्ति थे।[7]

इस दिन, उनके अनुयायी पवित्र नदियों में स्नान करते हैं। फिर, वे अपने जीवन से जुड़ी महान घटनाओं और चमत्कारों को याद करके अपने गुरु रविदास जी से प्रेरणा लेते हैं। उनके भक्त उनके जन्म स्थान पर जाते हैं और रविदास जयंती पर उनका जन्मदिन मनाते हैं।

महत्व[संपादित करें]

रविदास जयंती, रविदास जी के जन्म का प्रतीक है। रविदास जी जाति प्रथा के उन्मूलन में प्रयास करने के लिए जाने जाते हैं।[8] उन्होंने भक्ति आंदोलन में भी योगदान दिया है, और कबीर जी के अच्छे दोस्त और शिष्य के रूप में पहचाने जाते हैं। रैदास पंथ का पालन करने वाले लोगों में रविदास जयंती का एक विशेष महत्व है, इसमे न केवल रविदास जी का अनुसरण करने वाले लोग, बल्कि अन्य लोग जो किसी भी तरह से रविदास जी का सम्मान करते हैं, जैसे कुछ कबीरपंथियों, सिखों और अन्य गुरुओं के अनुयायी, भी शामिल हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "संत रविदास जयंती कब है, कौन थे गुरु रविदास जी और कैसे बने संत". दैनिक भास्कर. 18 फरवरी 2019. अभिगमन तिथि 5 दिसम्बर 2020.
  2. "गुरु रविदास जयंती 2021, 2022 और 2023". PublicHolidays.in. अभिगमन तिथि 5 दिसम्बर 2020.
  3. Singh, Archana (2014-07-07). "Sant Ravidas - Biography (Jivani), History, Jayanti, Death" (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-10-01.
  4. "Guru Ravidas Jayanti 2020: Date, Birth Anniversary, Story, Quotes |". S A NEWS (अंग्रेज़ी में). 2020-02-06. अभिगमन तिथि 2020-10-02.
  5. "PM Narendra Modi pays tributes to Guru Ravidas". The Economic Times. अभिगमन तिथि 2020-10-02.
  6. Feb 10, TNN / Updated:; 2020; Ist, 12:22. "In times of hatred, Sant Ravidas' beliefs most relevant today: Priyanka Gandhi Vadra | Varanasi News - Times of India". The Times of India (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-10-03.सीएस1 रखरखाव: फालतू चिह्न (link)
  7. "Guru Ravidas Jayanti—Why it is celebrated!". Zee News (अंग्रेज़ी में). 2016-02-22. अभिगमन तिथि 2020-10-02.
  8. "President greets nation on eve of Guru Ravidas Jayanti". Zee News (अंग्रेज़ी में). 2015-02-02. अभिगमन तिथि 2020-10-02.