गिब्स मुक्त ऊर्जा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ऊष्मागतिकी में, गिब्स मुक्त ऊर्जा (Gibbs free energy) एक ऊष्मागतिक विभव है जिसका उपयोग किसी निकाय द्वारा नियत ताप और दाब पर किए जाने वाले अधिकतम व्युत्क्रमणीय कार्य की गणना के लिए किया जा सकता है। गिब्स की मुक्त ऊर्जा (), गैर-प्रसारात्मक कार्य की वह अधिकतम मात्रा है जो ऊष्मागतिक रूप से बन्द निकाय से लिया जा सकता है।

कार्य की अधिकतम मात्रा तभी प्राप्त की जा सकती है जब प्रक्रम पूर्णतः व्युत्क्रमणीय हो। जब कोई निकाय एक आरम्भिक प्रावस्था (स्टेट) से अन्तिम प्रावस्था में व्युत्क्रमणीय परिवर्तित होता है, तो गिब्स की मुक्त ऊर्जा में होने वाली कमी, निकाय द्वारा अपने चारों ओर के वातावरण (surroundings) पर किए गए कार्य तथा दाब-बलों द्वारा किए गए कार्य के अन्तर के बराबर होती है।

गिब्स की ऊर्जा (संकेत ) वह ऊष्मागतिक विभव भी है जो नियत ताप और दाब पर निकाय के रासायनिक साम्यावस्था में पहुँच जाने के बाद निम्नतम हो जाता है। [1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Perrot, Pierre (1998). A to Z of Thermodynamics. Oxford University Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-19-856552-6.