गला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
गले के अंदरूनी अंगों का चित्र

मनुष्यों व कुछ अन्य जीवों में गला गर्दन के आगे के हिस्से को कहते हैं। मनुष्यों के गले में कई अंग होते हैं, जैसे - स्वरग्रंथि, श्वासनली, ग्रासनाल और कंठच्छद

अन्य नाम[संपादित करें]

गले को हिंदी में और भी नामों से जाना जाता है जैसे की कंठ, हलक़ और घिग्घी।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

१.^ अंग्रेज़ी में स्वरग्रंथि को लैरिंक्स (larynx) या वाइसबाक्स (voicebox) कहते हैं।
२.^ अंग्रेजी में श्वासनली को ट्रैकिया (trachea) कहते हैं। हिंदी में इसे सांस की नली भी कहा जाता है।
३.^ अंग्रेजी में ग्रासनाल को एसाफ़ेगस (esophagus) कहते हैं। हिंदी में इसे खाने की नली भी कहा जाता है।
४.^ अंग्रेजी में कंठच्छद को एपिग्लाटिस (epiglottis) कहते हैं।