ख़ुर्रम सुल्तान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ला सुल्ताना रोज़्ज़ा, तितियन द्वारा चित्र, 1550.

ख़ुर्रम सुल्तान (तुर्कीयाई: हुर्रेम सुल्टान, उच्चारण: [hyɾɾem suɫtaːn], उस्मान तुर्कीयाई: خرم سلطان) जो पश्चिमी दुनिया में रोक्सेलाना (Roxelana) के नाम से प्रसिद्ध सुलैमान प्रथम की पत्नी और शहज़ादा महमद, महर माह सुल्तान, शहज़ादा अब्दुल्लाह, सलीम द्वितीय, शहज़ादा बायज़ीद और शहज़ादा जहाँगीर की माँ थीं[1]

वे ख़ासकी सुल्तान के पद की सर्वप्रथम पदाधिकारी थीं और इसलिए उस्मान साम्राज्य के इतिहास में सबसे शक्तिशाली महिलाओं में से एक थीं। वे महिलाओं की सल्तनत की एक प्रतिष्ठित व्यक्ति थीं। उन्होंने अपने पति के माध्यम से उस्मान साम्राज्य में राजकीय शक्ति प्राप्त की और राजनीति में उन्होंने एक प्रभावशाली भूमिका निभाई थीं।[2]

नाम[संपादित करें]

उन्हें आम तौर पर ख़ासकी ख़ुर्रम सुल्तान (Haseki Hürrem Sultan, उस्मान तुर्कीयाई: خاصکی خرم سلطان) या ख़ुर्रम ख़ासकी सुल्तान के नाम से जाने जाते थे। यूरोपीय भाषाओं में इन्हें रॉक्सेलाना (Roxolana), रोक्सोलेना (Roxolena), रोक्सेलाने (Roxelane) और रोज़्ज़ा (Rossa) के नामों से जाने जाते है। तुर्कीयाई में ख़ुर्रम (फ़ारसी से خرم‎‎, अर्थ "ख़ुशदिल" या "हंसमुख") जबकि अरबी में इन्हें करीमा (अरबी: كريمة‎‎) के रूप में भी जाने जाते है। नाम "रोक्सेलाना" के बारे में कहा जाता है कि यह उनके असली नाम बजाय यूक्रेनी पारिवारिक विरासत के संदर्भ में उनका उपनाम हो सकता है। जबकि उनका वास्तविक जन्मनाम के बारे में मतभेद पाया जाता है, यह वास्तविक नाम संभवतः एलेक्ज़ांड्रा लीज़ोव्स्का (Alexandra Lisowska), ला रोज़्ज़ा (La Rossa) और आनास्तासिया (Anastasia) हो सकता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]