किज़िल गुफ़ाएँ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मुज़ात नदी के किनारे तंग घाटी की चट्टानों में कटी हुई किज़िल गुफाएँ

किज़िल गुफाएँ (उईग़ुर: قىزىل مىڭ ئۆي, अंग्रेज़ी: Kizil Caves) या क़िज़िल गुफाएँ (Qizil Caves) जनवादी गणतंत्र चीन द्वारा नियंत्रित शिंजियांग प्रान्त में एक बौद्ध गुफ़ाओं का समूह है जहाँ प्राचीनकाल में तारिम द्रोणी में तुषारी लोगों और बौद्ध धर्म से सम्बन्धित चित्र, मूर्तियाँ, लिखाईयाँ व अन्य पुरातन चीज़ें मिली हैं।[1][2] यह गुफाएँ शिंजियांग प्रान्त के आक़्सू विभाग के बाईचेंग ज़िले में मुज़ात नदी के उत्तरी किनारे पर कूचा से ६५ किमी दूर स्थित हैं। यह इलाक़ा ऐतिहासिक रेशम मार्ग पर स्थित हुआ करता था और तीसरी से आठवी शताब्दी ईसवी के बीच विकसित हुआ।[3]

किज़िल गुफाओं के कुछ चित्र[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Manko Namba Walter (October, 1998). "Tokharian Buddhism in Kucha: Buddhism of Indo-European Centum Speakers in Chinese Turkestan before the 10th Century C.E". Sino-Platonic Papers (85).
  2. "Kezil Thousand-Buddha Grottoes". xinjiang.gov. Archived from the original on 2007-09-30. Retrieved 2007-08-05.
  3. Daniel C. Waugh. "Kucha and the Kizil Caves". Silk Road Seattle. University of Washington.