काला ताज महल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
काला ताज महल
سیاہ تاج محل
स्थान: आगरा, उत्तर प्रदेश, भारत
समुद्र सतह से ऊंचाई: 171 मीटर (561 फुट)
वास्तु शैली(याँ): मुगल निर्माण कला
प्रकार: संस्कृतिक
राज्य: भारत
क्षेत्र: एशिया के विश्व विरासत स्थान

काला ताज महल (हिन्दी: काला ताज महल, फारसी/उर्दू: سیاہ تاج محل) काले पत्थरों के साथ बना एक काल्पनिक मकबरा है जिसके बारे में कहा जाता है कि यह यमुना की दूसरी तरफ ताज महल के सामने बनाया जाना था। माना जाता है कि मुगल बादशाह शाह जहाँ ने अपनी तीसरी बीवी मुमताज़ महल की तरह अपने लिए भी एक मकबरा बनाने की इच्छा प्रगट की थी।[1]

काले ताज महल की बात सबसे पहले यूरोपी यात्री यां बापतीस्त तावेरनिए ने अपनी लिखतों में किया जो 1665 में आगरा पहुँचा था। यां बापतीस्त लिखता है कि शाह जहाँ ने दरिया के दूसरी तरफ अपने लिए मकबरा बनाना शुरू किया था, पर उसके बेटे औरंगजेब ने उसको कैद कर लिया। आधुनिक पुरातत्व विज्ञानी इस कथा को मिथक मानते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Black Taj Mahal Myth". अभिगमन तिथि 11 June 2013.