कलकत्ता का सम्मेलन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भारत में सिक्किम

कोलकाता का सम्मेलन 19 वी सदी की एक सन्धि थी जो चिंग राजवंश और ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैंड का यूनाइटेड किंगडम केबीच में। यह सन्धि तिब्बत और भारतीय के बीच की सीमाओं से संबंधित था। भारत के गवर्नर जनरल, लॉर्ड लांसडाउन और चीनी अम्बन (तिब्बत में निवासी), शेंग ताई, ने 17 मार्च 1890 को कोलकाता, भारत में हस्ताक्षर किया। [1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://treaties.fco.gov.uk/docs/pdf/1894/TS0011.pdf