कनाडाई मूल निवासी आवासीय विद्यालय प्रणाली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

कनाडा में, मूल निवासी आवासीय विद्यालय प्रणाली (अंग्रेज़ी: Canadian Indian residential school system) मूल निवासी लोगों के लिए आवासीय विद्यालयों का तंत्र था। इस तंत्र को कनाडाई सरकार के इंडियन मामलों के विभाग द्वारा वित्त पोषित किया जाता था। इन विद्यालयों को ईसाई चर्चों द्वारा प्रशासित किया जाता था।

स्थायी प्रभाव[संपादित करें]

भाषा और संस्कृति को नुकसान[संपादित करें]

कनाडा के मूल निवासियों को कनाडा के समाज से जोड़ने के लिए बनाई गई मुख्य नीति में केवल उनके मातृभाषा और संस्कृति को नुकसान पहुंचाना ही था। कई विद्यार्थी प्रवेश लेते समय उन्हें अपनी मातृभाषा का बहुत अच्छा ज्ञान था। लेकिन वहाँ के शिक्षकों ने उनकी भाषाओं पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया था। उनमें से कई बच्चों को अंग्रेजी या फ्रांसीसी भाषा बहुत कम ज्ञान था या बिलकुल भी ज्ञान नहीं था। उनके सभी पारंपरिक कार्यों पर भी पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया था, जिसमें पोटलैक और सन डांस भी शामिल है। यदि कोई अपनी मातृभाषा बोलते हुए पकड़ा जाता, तो उसे कोड़े मारे जाते थे या साबुन खाने के लिए मजबूर किया जाता था। जो अपनी मातृभाषा को पूरी तरह भूल जाते हैं, वे लोग अपने परिवार वालों से बातचीत भी नहीं कर पाते हैं, क्योंकि उनके परिवार वाले अंग्रेजी या फ्रांसीसी बोलने में असमर्थ होते हैं। कुछ लोग विद्यालय से बाहर आने के बाद अपनी भाषा और संस्कृति को बदसूरत और गंदा मानने लगते हैं और अपने स्वदेशी होने पर शर्म महसूस करते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]