ओं मणिपद्मे हूं

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ॐ मणिपद्मे हूँ
महात्मा बुद्ध के चित्र के साथ पत्थर पर लिखा गया मंत्र

ॐ मणिपद्मे हुम् एक संस्कृत मंत्र है जिसका संबंध अवलोकितेश्वर (करुणा के बोधिसत्त्व) से है। यह तिब्बती बौद्ध धर्म का मूल मंत्र है।

यह प्रायः पत्थरों पर लिखा जाता है या फिर कागज पर लिख कर पूजाचक्र में लगा दिया जाता है। मान्यता है कि इस पहिये को जितनी बार घुमाया जायेगा यह उतनी बार मंत्र बोलने के बराबर फल देगा।

लिप्यंतरण[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]