एस्कारियासिस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
एस्कारियासिस
वर्गीकरण एवं बाह्य साधन
Ascaris lumbricoides.jpeg
Ascaris lumbricoides
आईसीडी-१० B77.
आईसीडी- 127.0
ओएमआईएम 604291
डिज़ीज़-डीबी 934
मेडलाइन प्लस 000628
ईमेडिसिन article/212510 
एम.ईएसएच D001196

एस्कारियासिस गोल कृमिएस्कारिस लम्ब्रीकॉइड्स परजीवी के कारण होने वाली बीमारी है। [1] 85% से अधिक मामलों में संक्रमण के कोई लक्षण नहीं होते हैं, विशेष रूप से यदि कृमि का आकार छोटा हो। [1] कृमियों की संख्या के साथ ही लक्षण भी बढ़ जाते हैं और बीमारी की शुरुआत में सांस की तकलीफ तथा बुखार हो सकता है। [1] इनके पश्चात पेट की सूजन, पेट दर्द तथा डायरिया के लक्षण प्रकट हो सकते हैं। [1] बच्चे इनसे सर्वाधिक प्रभावित हो जाते हैं, तथा इस आयुवर्ग में संक्रमण के कारण उचित रूप से वज़न न बढ़ना, कुपोषण तथा सीखने की क्षमता में कमी आ जाती है। [1][2][3]

संक्रमण ‘'एस्केरिस'’ के 'अंडे', जो मल द्वारा आते हैं, से दूषित भोजन या पेय खाने से होता है। [2] अण्डों से कृमि आँतों में निकलते हैं, पेट की दीवार के माध्यम से छिद्र करके निकलते हैं, तथा रक्त के माध्यम से फेफड़ों की और बढ़ जाते हैं। [2] वहाँ वे ऐल्वेली में प्रविष्ट हो कर ट्रेकीआ की और बढ़ जाते हैं, जहाँ से खांसने के कारण वे मुंह में आकर पुनः निगल लिए जाते हैं। [2] इसके पश्चात लार्वा पेट से होते हुए पुनः आँतों में पहुँच जाते हैं, जहाँ वे वयस्क कृमि बन जाते हैं। [2]

रोकथाम के लिए स्वच्छता के स्तर को बढ़ाना आवश्यक है, जिसमें शौचालयों की संख्या तथा उन तक पहुँच को बढ़ाना तथा मल का उचित निस्तारण शामिल है। [1][4] साबुन से हाथ धोना भी सुरक्षा प्रदान करता है। [5] ऐसे क्षेत्रों में जहाँ 20% से अधिक जनसँख्या प्रभावित है, प्रत्येक व्यक्ति को निश्चित अवधि पर उपचारित करने की संस्तुति की जाती है। [1] संक्रमण की पुनरावृत्ति सामान्य है। [2][6] इसके लिए कोई टीका उपलब्ध नहीं है। [2] विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा सुझाई गयी दवाएं हैं एल्बेन्डोज़ोल, मीबेंडाज़ोल, लेवामीसोल अथवा पाईरैन्टेल पैमोट.[2] अन्य प्रभावी एजेंटों में शामिल हैं ट्राईबेंडीमाईडाईन और नाईटाज़ोक्सैनाइड.[2]

वैश्विक रूप से लगभग 0.8 से 1.2 बिलियन लोग एस्कारियासिस के ग्रस्त हैं जिसमें से सर्वाधिक प्रभावित जनसँख्या उप-सहारन अफ्रीका, लैटिन अमेरिका, और एशिया में है। [1][7][8] इसके कारण एस्कारियासिस सबसे आम मिट्टी द्वारा स्थानांतरित होने वाली हेल्मिनथाईसिस हो गयी है। [7] 2010 तक इसके कारण होने वाली मौतों की संख्या घट कर लगभग 2,700 हो गयी थी जो कि 1990 में 3,400 थी। [9] एक अन्य प्रकार का एस्कारिस सुअरों को प्रभावित करता है। [1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Dold, C; Holland, CV (Jul 2011). "Ascaris and ascariasis". Microbes and infection / Institut Pasteur. 13 (7): 632–7. PMID 20934531. डीओआइ:10.1016/j.micinf.2010.09.012.
  2. Hagel, I; Giusti, T (Oct 2010). "Ascaris lumbricoides: an overview of therapeutic targets". Infectious disorders drug targets. 10 (5): 349–67. PMID 20701574. डीओआइ:10.2174/187152610793180876.
  3. "Soil-transmitted helminth infections Fact sheet N°366". World Health Organization. June 2013.
  4. Ziegelbauer, K; Speich, B; Mäusezahl, D; Bos, R; Keiser, J; Utzinger, J (Jan 2012). "Effect of sanitation on soil-transmitted helminth infection: systematic review and meta-analysis". PLoS medicine. 9 (1): e1001162. PMC 3265535. PMID 22291577. डीओआइ:10.1371/journal.pmed.1001162.
  5. Fung, IC; Cairncross, S (Mar 2009). "Ascariasis and handwashing". Transactions of the Royal Society of Tropical Medicine and Hygiene. 103 (3): 215–22. PMID 18789465. डीओआइ:10.1016/j.trstmh.2008.08.003.
  6. Jia, TW; Melville, S; Utzinger, J; King, CH; Zhou, XN (2012). "Soil-transmitted helminth reinfection after drug treatment: a systematic review and meta-analysis". PLoS neglected tropical diseases. 6 (5): e1621. PMC 3348161. PMID 22590656. डीओआइ:10.1371/journal.pntd.0001621.
  7. Keiser, J; Utzinger, J (2010). "The drugs we have and the drugs we need against major helminth infections". Advances in parasitology. 73: 197–230. PMID 20627144. डीओआइ:10.1016/s0065-308x(10)73008-6.
  8. Fenwick, A (Mar 2012). "The global burden of neglected tropical diseases". Public health. 126 (3): 233–6. PMID 22325616. डीओआइ:10.1016/j.puhe.2011.11.015.
  9. Lozano, R (Dec 15, 2012). "Global and regional mortality from 235 causes of death for 20 age groups in 1990 and 2010: a systematic analysis for the Global Burden of Disease Study 2010". Lancet. 380 (9859): 2095–128. PMID 23245604. डीओआइ:10.1016/S0140-6736(12)61728-0.