एमिली वॉरेन रोब्लिंग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
एमिली वॉरेन रोब्लिंग का कार्ल्स -डुरान, ब्रुकलीन संग्रहालय में चित्र

एमिली वॉरेन रोब्लिंग (23 सितंबर, 1843 – 28 फरवरी, 1903) को उनके पति वाशिंगटन रोब्लिंग में विसंपीडन बीमारी विकसित होने के बाद ब्रुकलिन ब्रिज पूरा करने के लिए जाना जाता है  । उसके पति के एक सिविल इंजीनियर और ब्रुकलिन ब्रिज के निर्माण के दौरान चीफ इंजीनियर थे।

बचपन[संपादित करें]

एमिली का जन्म सिल्वेनस और फ़ीबे वॉरेन के घर [[कोल्ड स्प्रिंग, न्यु यार्क]] में 23 सितंबर, 1843 को हुआ। वह बाकी बारह बच्चों  में से दूसरी सबसे छोटी बच्ची थीं।[1] एमिली की पढाई में रुचि का समर्थन उनके बड़े भाई गवर्नर के वॉरेन ने किया। दोनो भाई बहनों में हमेशा एक करीबी रिश्ता रहा। [2]

रोब्लिंग्ज़[संपादित करें]

1864 में अमेरिकी नागरिक युद्ध के दौरान, एमिली अपने भाई जो कि पांचवें सेना के कमांडिंग अफ़सर थे, से मिलने उनके मुख्यालय गईं।यात्रा के दौरान, उनका परिचय ब्रुकलिन ब्रिज के डिजाइनर जॉन ए रोब्लिंग के बेटे वाशिंगटन रोब्लिंग से हुआ, जो गवर्नर वॉरेन के कर्मचारियों में सिविल इंजीनियर सेवारत थे। [3] एमिली और वाशिंगटन मिले और 18 जनवरी, 1865 को वह शादीशुदा थे। [4]

ब्रुकलिन ब्रिज[संपादित करें]

यूरोपीय अध्ययन से वप्सि पर, एमिली और वाशिंगटन के साथ स्वागत एक दुर्भाग्य से हुआ; टिटनेस से वाशिंगटन के पिता की मृत्यु हो गई, और वाशिंगटन ने तुरंत ब्रुकलिन ब्रिज के निर्माण का कार्यभार संभल लिया।[5] वह पूर्ण रूप से इस परियोजना में डूब गये, वाशिंगटन में [[विसंपीडन बीमारी]] फ़ैल गयी,[6][7] जिसने उन्हें भी प्रभावित किया और वो भी इतनी बुरी तरह से कि वह बिस्तर से ग्रस्त हो गये। इस मौके पर एमिली ने  पहली महिला "फील्ड इंजीनियर" के रूप में कदम रखा और ब्रुकलिन ब्रिज का अधूरा काम पूरा किया।

आज ब्रुकलिन ब्रिज पर एक पट्टिका की स्मृति एमिली, उसके पति वाशिंगटन रोब्लिंग, और उसके ससुर जॉन ए रोब्लिंग को समर्पित है। [8][9]

पुल के बाद[संपादित करें]

ब्रुकलिन ब्रिज के पूरा होने के बाद, रोब्लिंग परिवार ने [[ट्रेंटन, न्यु जर्सी]] स्थानांतरित क्र लिया। वहाँ, एमिली ने सामाजिक संगठनों में भाग लिया जैसे कि स्पेनिश–अमेरिकी युद्ध के दौरान राहत सोसाइटी और वह विश्व कोलंबियन प्रदर्शनी में न्यु जर्सी की महिला प्रबंधकों के बोर्ड में भी शामिल हैं। [10] उन्होंने व्यापक रूप से यात्रा की—1896 में वह रानी विक्टोरिया के सामने प्रस्तुत हुईं और वह ज़ार निकोलस द्वितीय केराज्याभिषेक में शामिल हुईं थीं।  उन्होंने शिक्षा जरी रखी और न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री प्राप्त की। [11] 28 फरवरी, 1903 में मौत तक शेष समय उन्होंने अपने परिवार के साथ व्यतीत किया और सामाजिक एवं मानसिक रूप से सक्रिय रहीं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Roebling, Emily Warren: "Notes on the Warren Family" in the Appendix, Page 446, "The Journal of the Reverend Silas Comfort", Lippincott, Philadelphia, 1903
  2. Weingardt, Richard: "Engineering Legends: Great American Civil Engineers", page 56.
  3. Petrash, Antonia: "More than Petticoats: Remarkable New York Women", page 80.
  4. Logan, Mary: "The Part Taken by Women in American History", page 297.
  5. Petrash, Antonia: More than Petticoats: Remarkable New York Women, page 82.
  6. Petrash, page 83
  7. Butler WP (2004). "Caisson disease during the construction of the Eads and Brooklyn Bridges: A review". Undersea and Hyperbaric Medicine. 31 (4): 445–59. PMID 15686275. अभिगमन तिथि 2009-03-11. |author= और |last= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद); |accessdate= और |access-date= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद); |pmid= और |PMID= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  8. Historical Marker Database Photo of Emily Warren Roebling plaque
  9. Petrash, page 89
  10. Logan, Mary: The Part Taken by Women in American History, page 298.
  11. Petrash, page 88

आगे पढ़ें[संपादित करें]

  • Roebling, Emily Warren "Notes on the Warren Family" in Appendix, Page 466, "The Journal of the Reverend Silas Constant" Lippincott, Philadelphia, PA 1903
  • McCullough, David. The Great Bridge: The Epic Story of the Building of the Brooklyn Bridge. Simon and Schuster, 1972.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]