एबरडीन की संस्कृति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(एबरडीन की संस्कृती से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
यह पृष्ठ एबरडीन की संस्कृति के बेरेमें है। वहाँ की मीडिया से संबंधित जानकारी के लिए एबरडीन में पत्रकारिता पर जाएं

एबरडीन में सांस्कृतिक गतिविधियों, सुख-सुविधाओं और संग्रहालयों की एक विस्तृत श्रृंखला है। स्कॉटलैंड की राष्ट्रीय कला कंपनियां नियमित रूप से शहर का दौरा किया करती हैं। एबरडीन आर्ट गैलरी में चांदी और कांच के संग्रहों के साथ-साथ इंप्रेशनिस्ट, विक्टोरियन, स्कॉटिश और बीसवीं सदी की ब्रिटिश पेंटिंग्स के संग्रह हैं। इसमें अलेक्जेंडर मैकडोनाल्ड बिक्वेस्ट भी शामिल है, इस उन्नीसवीं सदी के संग्रह को संग्रहालय के पहले संरक्षक ने दान में दिया था; इसके अलावा निरंतर बदलते समकालीन कार्य के संग्रह हैं और यहां नियमित रूप से प्रदर्शनियां लगा करती हैं।[1]

एबरडीन के संस्कृति संबंधित वस्तु[संपादित करें]

महामहिम के रंगमंच
दाहिने ओर में प्रोवोस्ट रॉस के घर के साथ शिप्रो निचे देखते हुए.
Aberdeen buildings grey.JPG

संग्रहालय और दीर्घाएं[संपादित करें]

शिपरो में स्थित एबरडीन समुद्री संग्रहालय, एबरडीन के समुद्री संपर्क की कहानी बयान करता है, पाल नौका और क्लिपर जहाज़ों के जमाने से लेकर आधुनिक तेल और गैस अन्वेषण प्रौद्योगिकी के समय तक की कहानी. इसमें एक 8.5 मीटर (28 फीट) ऊंचा मर्चीसन तेल उत्पादन प्लेटफार्म का मॉडल और रेटरे हेड लाईटहाउस से लाया हुआ एक उन्नीसवीं सदी का संयोजन भी है।[2]

प्रोवोस्ट रोस का घर शहर का दूसरा सबसे पुराना निवासस्थान है। यह 1593 में बनाया गया था और 1702 में आर्नेज के प्रोवोस्ट जॉन रॉस का आवास बना। रसोईघर, फायर प्लेस और बरगे व पटरे की छतों सहित घर में अब भी कुछ मौलिक मध्ययुगीन विशेषताएं बची हुई हैं।[3] गॉर्डन हाईलैंडर्स संग्रहालय, स्कॉटलैंड के सर्वश्रेष्ठ ज्ञात रेजिमेंटों की कहानी बताता है।[4]

मेरीस्चल संग्रहालय में एबरडीन विश्वविद्यालय के प्रमुख संग्रह हैं, जिसमें ललित कला, स्कॉटलैंड का इतिहास और पुरातत्व तथा यूरोपीय, भूमध्य और पूरब के करीब के पुरातत्व संबंधी लगभग 80,000 सामग्री है। नियमित अस्थायी प्रदर्शनियों से यहां के स्थायी प्रदर्शन और संदर्भ संग्रह संवर्धित होते हैं।[5]

परफॉर्मिंग आर्ट[संपादित करें]

एबरडीन में कार्यक्रमों और उत्सवों सहित एबरडीन अंतर्राष्ट्रीय युवा महोत्सव (युवा प्रदर्शनकारियों का विश्व का सबसे बड़ा कला उत्सव), एबरडीन जाज़ उत्सव, रूटीन' एबूट (निम्बू वृक्ष पर आधारित लोक व मूल संगीत कार्यक्रम), ट्रिपटीच और एबरडीन विश्वविद्यालय का साहित्य उत्सव वर्ड जैसे अनेक उत्सव हुआ करते हैं।

एबरडीन स्टुडेंट्स चैरिटीज कैम्पेन के तत्वावधान में 1921 से बिना व्यवधान के एबरडीन स्टुडेंट शो होता आ रहा है, जो ब्रिटेन में अपनी तरह का सबसे लंबे समय से चला आ रहा कार्यक्रम है। एबरडीन इंस्टीच्यूट्स ऑफ़ टेरिटरी एजुकेशन के विद्यार्थियों और स्नातकों द्वारा इसका लेखन, निर्माण और इसमें प्रदर्शन किया जाता है। कुछ अवसरों को छोड़कर 1929 से इसका मंचन हिज मैजेस्टी'स थिएटर में होता आ रहा है। उत्तर-पूर्व की डोरिक बोली और हास्य से प्रेरित स्टुडेंट शो परंपरागत रूप से कॉमेडी और संगीत का मिश्रण है।

संगीत और फिल्म[संपादित करें]

एबरडीन के संगीत दृश्य में पब, क्लब और चर्च गायक-वृंद जैसे विभिन्न प्रकार के लाइव संगीत स्थान शामिल हैं। बेल्मोंट स्ट्रीट के बार विशेष रूप से लाइव संगीत के लिए जाने जाते हैं। सीलिध (Cèilidhs) भी शहर के हॉलों में आम हैं। अनेक लोकप्रिय स्थानों में शामिल हैं द मूरिंग्स, द लेमन ट्री, द्रुमंड्स, मोशुलू (अब बारफ्लाई का स्वामित्व), स्नाफु, द टनल्स, द एबरडीन एक्जीबिशन एंड कांफ्रेंस सेंटर तथा एबरडीन म्यूजिक हॉल।

उल्लेखनीय एबर्डीनियाई संगीतकारों में एवलिन ग्लेनी, रोनी मैकलेयोड़ (तुरहीवादक और बैंडलीडर), कल्ट बैंड पल्लास, रिचर्ड हेड बैंड (रॉक), अब्बा एलाईट (ट्रिब्यूट बैंड) एनी लेनोक्स शामिल हैं। समकालीन संगीतकार जॉन मैकलेयोड़ और मार्टिन डेल्बी एबरडीन के भी हैं।

स्टीयरटन प्रोडक्शंस और कैनी फिल्म्स की पहली और एकमात्र डोरिक बोली की फीचर फिल्म 2008 में जारी हुई थी। पैट्रिक वाईट और स्कॉट आयरनसाइड अभिनीत 'वन डे रिमुवल्स' दो ऐसे हटाये गये अभागे लोगों की कहानी है जिनके दिन बद से बदतर होते जाते हैं। एबर्डीनशायर के स्थलों में 60000 पाउंड के एक बजट के साथ इसे फिल्माया गया, यह एक दुखद हास्य/वयस्क कहानी है।

सांस्कृतिक सिनेमा, शिक्षा कार्य और स्थानीय फिल्म कार्यक्रम द बेल्मोंट पिक्चरहाउस जो कि बेल्मोंट स्ट्रीट पर है तथा पीकॉक विजुअल आर्ट्स और द फोयर में हुआ करते हैं।

बोली[संपादित करें]

एबरडीन से स्कॉट्स के एक वक्ता की रिकॉर्डिंग को सुनें

तराई के स्कॉट्स की स्थानीय बोली को आमतौर पर डोरिक कहा जाता है और इसे न सिर्फ शहर में बल्कि पूरे उत्तर-पूर्व स्कॉटलैंड में बोला जाता है। यह अन्य स्कॉट्स बोलियों से थोड़ा अलग है, सबसे ध्यान देने योग्य बात है एफ (f) का उच्चारण, जिसके लिए आमतौर पर व्ह (wh) लिखा जाता है; ईई (ee) के लिए अग्रेजी में आमतौर पर ओओ (oo) (स्कॉट्स में युआई (ui)) लिखते हैं। उत्तर-पूर्व की भाषा के इतिहास के कीर्तिगान के लिए एबर्डीनशायर में हर साल वार्षिक डोरिक महोत्सव[6] मनाया जाता है। जैसा कि शहरी क्षेत्रों में सभी स्कॉट्स बोलियों के साथ होता है, इसका उपयोग उतने व्यापक रूप से नहीं होता जितना कि एबरडीन में हुआ करता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Aberdeen Art Gallery". Aberdeen Art Galleries and Museums. मूल से December 6, 2006 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2007-02-18.
  2. "Aberdeen Maritime Museum". Aberdeen Art Galleries and Museums. मूल से February 2, 2007 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2007-02-18.
  3. "Provost Ross' House". The Gazetteer for Scotland. अभिगमन तिथि 2007-02-18.
  4. "The Gordon Highlanders Museum". Army Museums Ogilby Trust. अभिगमन तिथि 2007-02-18.
  5. "Marischal Museum: Introduction". University of Aberdeen. अभिगमन तिथि 2007-02-18.
  6. "The Doric Festival". The Doric Festival. अभिगमन तिथि 2009-06-25.