ऍप्सिलन सॅन्टौरी तारा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ऍप्सिलन सॅन्टौरी नरतुरंग (सॅन्टौरस) तारामंडल में 'ε' के चिह्न द्वारा नामांकित तारा है

ऍप्सिलन सॅन्टौरी, जिसका बायर नाम भी यही (ε Centauri या ε Cen) है, नरतुरंग तारामंडल का एक तारा है और पृथ्वी से दिखने वाले तारों में से ७२वाँ सब से रोशन तारा है। यह हमसे ३८० प्रकाश-वर्ष की दूरी पर स्थित है और पृथ्वी से इसका औसत सापेक्ष कांतिमान (यानि चमक का मैग्निट्यूड) २.२९ है।[1]

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

अंग्रेज़ी में ऍप्सिलन सॅन्टौरी को "बिरडन" (Birdun) भी कहा जाता हैं, जो अरबी के "अल-बरदून" (البردون‎) शब्द से लिया गया है।

तारे का ब्यौरा[संपादित करें]

ऍप्सिलन सॅन्टौरी एक B1 III श्रेणी का नीला-सफ़ेद दानव तारा है। यह एक बेटा सॅफ़ॅई परिवर्ती तारा है जिसकी चमक +२.२९ से +२.३१ मैग्निट्यूड की सीमाओं के बीच बदलती रहती है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]