उर्जित पटेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
श्री शशि कांत दास

भारतीय रिजर्व बैंक के २५वें गवर्नर
कार्यकाल
सितंबर 2016 से

10 दिसंबर 2018 तक।

पूर्वा धिकारी रघुराम राजन

भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर
कार्यकाल
14 जनवरी 2013 से सितंबर 2016

जन्म 28 अक्टूबर 1963
राष्ट्रीयता भारतीय
हस्ताक्षर

डॉ॰ उर्जित पटेल (जन्म- 28 अक्टूबर 1963) भारतीय रिज़र्व बैंक के पूर्व गवर्नर हैं।[1][2] सितंबर २०१६ में रघुराम राजन की सेवानिवृत्ति के पश्चात् इन्होंने यह पद ग्रहण किया था, परंतु सरकार से तनातनी की खबरों के बीच उन्हीने 10 दिसम्बर 2018 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

उर्जित रविंद्र पटेल, एक भारतीय अर्थशास्त्री, जो वर्तमान में २०१६ के सितम्बर के बाद से रघुराम राजन की सेवानिवृत्ति के पश्चात् इन्होंने यह पद ग्रहण किया।इंडिया (आरबीआई) के रिजर्व बैंक के गवर्नर के रूप में सेवारत है उन्होने  एक भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर के रूप में, वह मौद्रिक नीति, आर्थिक नीति अनुसंधान, सांख्यिकी और सूचना प्रबंधन देखा, जमा बीमा, संचार और सूचना का अधिकार में काम किया।नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा पटेल ४ सितंबर २०१६ को भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर के रूप में नियुक्त किया गया।इससे पूर्व 14 जनवरी 2013 से वे उप-गवर्नर के पद पर कार्यरत थे।[3]

उप गवर्नर के रूप में उन्होंने मौद्रिक नीति संबंधी विशेषज्ञ समिति की अध्यक्षता की। भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए उन्होंने ब्रिक्स देशों के साथ अंतर-सरकारी समझौते और अंतर-केंद्रीय बैंक करार (आईसीबीए) में मुख्य भूमिका निभाई आकस्मिक आरक्षित निधि व्यवस्था (सीआरए) की स्थापना हुई जो इन देशों के केंद्रीय बैंकों के बीच स्वैप लाइन ढांचा है।[1]

प्रारंभिक जीवन और शिक्षा[संपादित करें]

डॉ पटेल लंदन स्कूल ऑफ इकॉनॉमिक्स [एलएसई, लंदन विश्वविद्यालय], एम फिल से बी.ए. प्राप्त की। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से डिग्री १९८६ में वह येल विश्वविद्यालय में १९९० में उन्होंने एक केन्याई नागरिक के रूप में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में शामिल हुए से अर्थशास्त्र में डॉक्टरेट प्राप्त किया। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में भारत डेस्क पर १९९१-१९९४ संक्रमण काल के दौरान किया गया उन्हे भारत १९९२-१९९५ में आईएमएफ देश मिशन के लिए तैनात किया गया था।

डॉ पटेल १९९० में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष आईएमएफ में शामिल हो गए पर अमरीका, भारत, बहामास और म्यांमार डेस्क पर १९९५ तक काम किया।इसके बाद वह प्रतिनियुक्ति पर अंतर्राष्,ट्रीय मुद्रा कोष में भारत, जहां वह विकास के  एक सलाहकार की भूमिका निभाई रिजर्व बैंक के पास गया कर्ज बाजार, बैंकिंग क्षेत्र में सुधार, पेंशन फंड सुधार, वास्तविक विनिमय दर उनके काम का मुखय भाग रहे।

उन्होंने आईडीएफसी लिमिटेड में मुख्य नीति अधिकारी के रूप में कार्य भी किया। डॉ पटेल, दोनों केंद्रीय और राज्य सरकार के स्तर पर कई उच्च स्तरीय समितियों, प्रतिस्पर्धा आयोग, टास्क फोर्स प्रत्यक्ष करों पर, इंफ्रास्ट्रक्चर पर प्रधानमंत्री की टास्क फोर्स, मंत्रियों के समूह दूरसंचार मामलों पर सलाहकार समिति अनुसंधान परियोजनाओं और बाजार अध्ययन पर सहित के साथ काम किया नागरिक उड्डयन सुधारों पर, राज्य बिजली बोर्डों पर विशेषज्ञ समूह में काम किया।

महत्वपूर्ण पद[संपादित करें]

  • सलाहकार, बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप
  • अध्यक्ष (बिजनेस डेवलपमेंट), रिलायंस इंडस्ट्रीज (1997-2006)
  • कार्यकारी निदेशक, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट फाइनेंस कंपनी (1996-1997
  • सदस्य, समेकित ऊर्जा नीति समिति, भारत सरकार (2004-2006)
  • गैर-कार्यकारी निदेशक, गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कॉरपोरेशन
  • गैर-कार्यकारी निदेशक, इंडिया लिमिटेड मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज
  • डिप्टी गवर्नर, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया। भारत के गवर्नर, रिजर्व बैंक (4 से सितंबर 2016)

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "डॉ॰ ऊर्जित आर. पटेल ने भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर के रूप में कार्यभार संभाला". भारतीय रिज़र्व बैंक. अभिगमन तिथि 15 सितंबर 2016.
  2. http://khabar.ndtv.com/news/business/urjit-patel-to-be-new-rbi-governor-1446413
  3. "हमारे बारे में >> भूतपूर्व गवर्नर्स की सूची". भारतीय रिज़र्व बैंक की आधिकारिक वैबसाईट. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2014.