रघुराम राजन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
रघुराम राजन
Raghuram Rajan, IMF 69MS040421048l.jpg
वर्ल्ड इकोनोमिक आउटलुक कांफ्रेंस में रघुराम राजन

भारतीय रिजर्व बैंक के 23वें गवर्नर
कार्यकाल
2013-2016
पूर्वा धिकारी डी॰ सुब्बाराव
उत्तरा धिकारी उर्जित पटेल

अन्तर्राष्ट्रीय मुद्राकोष के मुख्य अर्थशास्त्री
कार्यकाल
2003–2006
पूर्वा धिकारी केनेथ रोगॉफ
उत्तरा धिकारी साइमन जॉनसन (अर्थशास्त्री)

जन्म (1963-02-03) फ़रवरी 3, 1963 (आयु 53 वर्ष)
भोपाल, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
शैक्षिक सम्बद्धता मासाचुसेट्स इन्स्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (पीएच॰डी॰)
इण्डियन इन्स्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेण्ट अहमदाबाद (एम॰बी॰ए॰)
इण्डियन इन्स्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली(बी॰टेक॰)
धर्म हिन्दू

रघुराम राजन (पूरा नाम: रघुराम गोविंद राजन, तमिल: ரகுராம் கோவிந்த ராஜன்[1] जन्म: 3 फ़रवरी 1963) भारतीय रिजर्व बैंक के 23वें गवर्नर हैं।

4 सितम्बर 2013 को डी॰ सुब्बाराव की सेवानिवृत्ति के पश्चात उन्होंने यह पदभार ग्रहण किया।[2][3] इससे पूर्व वह प्रधानमन्त्री, मनमोहन सिंह के प्रमुख आर्थिक सलाहकार[4] व शिकागो विश्वविद्यालय के बूथ स्कूल ऑफ बिजनेस में एरिक॰ जे॰ ग्लीचर फाईनेंस के गणमान्य सर्विस प्रोफेसर थे।[2][5] 2003 से 2006 तक वे अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के प्रमुख अर्थशास्त्री व अनुसंधान निदेशक रहे[2] और भारत में वित्तीय सुधार के लिये योजना आयोग द्वारा नियुक्त समिति का नेतृत्व भी किया।[6]

राजन मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलोजी के अर्थशास्त्र विभाग और स्लोन स्कूल ऑफ मैनेजमेण्ट; नॉर्थ वेस्टर्न यूनिवर्सिटी के केलौग स्कूल ऑफ मैनेजमेण्ट और स्टॉकहोम स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स में अतिथि प्रोफेसर भी रहे हैं। उन्होंने भारतीय वित्त मन्त्रालय, विश्व बैंक, फेडरल रिजर्व बोर्ड और स्वीडिश संसदीय आयोग के सलाहकार के रूप में भी काम किया है।[5]

सन् 2011 मे़ं वे अमेरिकन फाइनेंस ऐसोसिएशन के अध्यक्ष थे तथा वर्तमान समय में अमेरिकन अकैडमी ऑफ आर्ट्स एण्ड साइंसेज़ के सदस्य हैं।

प्रारम्भिक जीवन[संपादित करें]

रघुराम राजन का जन्म भारत के भोपाल शहर में 3 फ़रवरी 1963 को हुआ था। 1985 में उन्होंने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक डिग्री हासिल की। इण्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेण्ट, अहमदाबाद से उन्होंने 1987 में एम॰बी॰ए॰ किया। मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से 1991 में उन्होंने अर्थशास्त्र विषय में पीएच॰डी॰ की।

कैरियर[संपादित करें]

स्नातक स्तर तक की पढ़ाई के बाद राजन शिकागो विश्वविद्यालय के ग्रेजुएट स्कूल ऑफ बिजनेस में शामिल हो गए। सितम्बर 2003 से जनवरी 2007 तक वह अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में आर्थिक सलाहकार और अनुसंधान निदेशक (मुख्य अर्थशास्त्री) रहे। जनवरी 2003 में अमेरिकन फाइनेंस एसोसिएशन द्वारा दिए जाने वाले फिशर ब्लैक पुरस्कार के प्रथम प्राप्तकर्ता थे। यह सम्मान 40 से कम उम्र के अर्थशास्त्री के वित्तीय सिद्धान्त और अभ्यास में योगदान के लिए दिया जाता है।[7]

2005 में ऐलन ग्रीनस्पैन अमेरिकी फेडरल रिजर्व की सेवानिवृत्ति पर उनके सम्मान में आयोजित एक समारोह में राजन ने वित्तीय क्षेत्र की आलोचना कर एक विवादास्पद शोधपत्र प्रस्तुत किया।[8] उस शोधपत्र में उन्होंने स्थापित किया कि अन्धाधुन्ध विकास से विश्व में आपदा हावी हो सकती है।[9] राजन ने तर्क दिया कि वित्तीय क्षेत्र के प्रबन्धकों को निम्न बातों के लिए प्रेरित किया जाता है:

"उन्हें ऐसे जोखिम उठाने हैं जो गम्भीर व प्रतिकूल परिणाम उत्पन्न कर सकते हैं मगर इसकी सम्भावना कम होती है। पर यह जोखिम बदले में बाकी समय के लिए बेहिसाब मुआवजा मुहैय्या कराते हैं। इन जोखिमों को टेल रिस्क के रूप में जाना जाता है। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण चिन्ता का विषय यह है कि क्या बैंक वित्तीय बाजारों को वह चल निधि प्रदान कर पायेंगे जिससे टेल रिस्क अगर कार्यान्वित हो तो वित्तीय हालात के तनाव कम किये जा सकें? और हानि को इस प्रकार आवण्टित किया जाये कि वास्तविक अर्थव्यवस्था पर इसका प्रभाव कम से कम हो।"

और इस प्रकार राजन ने विश्व की 2007-2008 के लिए वित्तीय प्रणाली के पतन की 3 वर्ष पूर्व ही भविष्यवाणी कर दी थी।

उस समय राजन के शोधपत्र पर नकारात्मक प्रतिक्रिया ज़ाहिर की गयी। उदाहरण के लिए अमेरिका के पूर्व वित्त मन्त्री और पूर्व हार्वर्ड अध्यक्ष लॉरेंस समर्स ने इस चेतावनी को गुमराह करने वाला बताया।[10]

अप्रैल 2009 में, राजन ने द इकोनोमिस्ट के लिए अतिथि स्तम्भ लिखा जिसमें उन्होंने प्रस्तावित किया कि एक नियामक प्रणाली होनी चाहिए जो वित्तीय चक्र में होने वाले अप्रत्याशित लाभ को कम कर सके।[11]

इन सबके अतिरिक्त उन्हें जो सम्मान प्राप्त हुए हैं वो हैं -

  • 2011- में नासकोम द्वारा - ग्लोबल इंडियन ऑफ द ईयर
  • 2012- में इन्फोसिस द्वारा-आर्थिक विज्ञान के लिए सम्मान
  • 2013- वित्तीय अर्थशास्त्र के लिए सैंटर फार फाइनेंशियल स्टडीज़, ड्यूश बैंक सम्मान

प्रकाशन[संपादित करें]

2004 में उनकी पुस्तक सेविंग कैपिटलिज्म फ्रॉम कैपिटलिस्ट प्रकाशित हुई जिसके सह लेखक थे उनके साथी शिकागो बूथ के प्रोफेसर लुईगी जिन्गैल्स। उनके लेख जर्नल ऑफ फाइनेंशियल इकोनॉमिक्स, जर्नल ऑफ फाइनेंस और ऑक्सफोर्ड रिव्यू ऑफ इकोनॉमिक पॉलिसी में प्रकाशित हुए। उनकी दूसरी पुस्तक फाल्ट लाइन्स: हाऊ हिडेन फैक्टर्स स्टिल थ्रेटेन्स द वर्ल्ड इकोनॉमी? 2010 में प्रकाशित हुई थी, जिसे फाईनैंशियल टाईम्स-गोल्डमैन सैक ने 2010 की अर्थ-व्यापार श्रेणी की सर्वोत्तम पुस्तक के सम्मान से नवाज़ा।[12][2]

गवर्नर के रूप में कार्यकाल[संपादित करें]

4 सितम्बर 2013 को पदभार ग्रहण करने के बाद अपने प्रथम भाषण में ही राजन ने भारतीय बैंकों की नयी शाखाएँ खोलने के लिये लाईसेंस प्रणाली की समाप्ति की घोषणा कर दी।[13]

सम्मान/पुरस्कार[संपादित करें]

  • २००३ में उन्हें पेहला ब्लेक फिशर प्रैज़ प्राप्त हुआ|[14]
  • ‘सर्वश्रेष्ठ केंद्रीय बैंक गवर्नर’ पुरस्कार (10 अक्टूबर, 2014 को ‘यूरोमनी’ पत्रिका द्वारा वर्ष 2014 के लिए), यह पुरस्कार रघुराम राजन को भारतीय अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए कठोर मौद्रिक उपाय करने के लिए चयनित किया गया। उनकी पुस्तक ‘फाल्ट लाइंस : हाउ हिडेन फ्रैक्चर्स स्टिल थ्रीटेन द वर्ल्ड इकॉनोमी’काफी चर्चित है।[15]
  • २०१४ में उन्हें एक केन्द्रिय बैन्किङ विती पत्रिका ने "साल के सर्वश्रेष्ठ राज्यपाल" का पुरस्कार देकर सम्मानित किया|[16]
  • २०१६ में उन्हें सर्वश्रेष्ठ केंद्रीय बैंकर पुरस्कार 'दि बैंकर" द्वारा प्राप्त हुआ|[17]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://india.blogs.nytimes.com/2012/10/06/a-conversation-with-chief-economic-adviser-raghuram-g-rajan/
  2. http://rbi.org.in/scripts/BS_PressReleaseDisplay.aspx?prid=29476
  3. By PTI (2013-09-04). "Raghuram Rajan takes over as 23rd Governor of Reserve Bank of India - The Economic Times" ((अंग्रेजी) में). Economictimes.indiatimes.com. http://economictimes.indiatimes.com/news/economy/policy/Raghuram-Rajan-takes-over-as-23rd-Governor-of-Reserve-Bank-of-India/articleshow/22288110.cms. अभिगमन तिथि: 2016-07-20. 
  4. भारत के पीएम (PM) ने सलाहकार के रूप में पूर्व-आईएमएफ (ex-IMF) मुख्य अर्थशास्त्री को नियुक्त किया
  5. शिकागो विश्वविद्यालय के बायो
  6. योजना आयोग ने समिति को नियुक्त किया
  7. बायोग्राफिकल इंफॉर्मेशन, इंटरनैशनल मानटेरी फंड
  8. क्या वित्तीय विकास ने विश्व को और जोखिम बना दिया?, नवम्बर 2005
  9. ग्रीनस्पैन पार्टी, वॉल स्ट्रीट जर्नल में श्री राजन अलोकप्रिय और भविष्यदर्शी था
  10. Krugman, Paul (2 सितंबर 2009), "How Did Economists Get It So Wrong?", New York Times, http://www.nytimes.com/2009/09/06/magazine/06Economic-t.html 
  11. साइकिल-प्रूफ विनियमन 8 अप्रैल 2009
  12. "Press Releases - Fault Lines - Raghuram G. Rajan Wins the Financial Times and Goldman Sachs Business Book of the Year Award 2010". Goldman Sachs. http://www.goldmansachs.com/media-relations/press-releases/archived/2010/business-book-winner-2010.html. अभिगमन तिथि: 2016-07-20. 
  13. http://rbi.org.in/scripts/BS_PressReleaseDisplay.aspx?prid=29479
  14. "Raghuram G. Rajan: Biographical Information". International Monetary Fund. Retrieved on 18 August 2012.
  15. रघुराम राजन को ‘सर्वश्रेष्ठ केंद्रीय बैंक गवर्नर’ पुरस्कार
  16. 15 October 2014) Raghuram Rajan gets Euromoney's best central bank governor award The Hindu Business Line, Retrieved 11 November 2014
  17. "Raghuram Rajan conferred central banker of the year award" ((अंग्रेजी) में). The Hindu. 2015-01-13. http://www.thehindu.com/business/raghuram-rajan-conferred-central-banker-of-the-year-award/article6785093.ece. अभिगमन तिथि: 2016-07-20. 
राजनीतिक कार्यालय
पूर्वाधिकारी
केनेथ रोगॉफ
अन्तर्राष्ट्रीय मुद्राकोष के मुख्य अर्थशास्त्री
2003–2006
उत्तराधिकारी
साइमन जॉनसन (अर्थशास्त्री)