उरुमची

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अरोमची शहर के विभिन्न दृश्य, सब से ऊपर अरोमची के केंद्रीय व्यापारिक क्षेत्र का एक ताइरा ना दृश्य, नीचे बाईं ओर लाल पहाड़ (हाँग शान) और दायीं तरफ अरोमची का शबीना बाज़ार और नीचे अरोमची से कोह तयानि शान का एक दृश्य

अरोमची (अवीग़ौर: ئۈرۈمچی‎‎, सादा चीनी: 乌鲁木齐, रवायती चीनी: 烏魯木齊, अंग्रेज़ी: Ürümqi या Ürümchi) शुमाल मग़रिबी चीन के शिंज्यांग प्रांत का दारुलहकूमत है। ये क़ाज़क़सतान की सीमा के निकट खनिज तेल से भरपूर ख़ित्ते का सनअती ओ- सक़ाफ़ती केंद्र है। 2007 के अनुमान के अनुसार शहर की जनसंख्या 15 लाख 90 हज़ार है।

ये कोह तयानि शान के शुमाली क्षेत्र में समुंद्र की सतह से 3 हज़ार फुट (900 मीटर) की उँचाई पर एक मरुस्थलीय मरुद्यान में क़दीम रेशम का मार्ग पर स्थित है और वुस़्त एशिया में महत्वपूर्ण रहा है।


यहां की सनअतों में लोहा, सीमेंट, ज़रई मशीनरी, कीमीयाई मादे और पारचा जात तैयार किए जाते हैं। कोइलह और ख़ाम लोहे के ज़ख़ाइर क़रीब ही पाए जाते हैं।

इस की बीशुत्र आबादी हाँ नस्ल के चीनी बाशनदों पर मुशतमिल है जबकि तर्क क़बीले अवीग़ौर मुस्लमान बाशिंदे सब से बड़ी अक़लीयत हैं। अलावा अज़ीं काज़क़ और करगज़ अक़लीयत भी पाई जाती है।

इस शहर की मसाजिद आज भी इस्लाम के वाज़िह असरात की गवाही देती हैं। यहां जामा सन्कियानग भी वाक़िअ है।

तारीख़[संपादित करें]

हाँ (206 क़बल मसीह220ए) और तअंग ख़ानदानों (618ए907ए) की हुकूमतों के बाद यहां मुसलमानों ने आठवीं सदी में क़दम रखा और 1760ए में मशरक़ी तरकसतान पर चीनी क़ब्ज़े तक यहां मुसलमानों की हुकूमत रही। 1884ए में शहर को नौ तशकील शूदा सूबा सन्कियानग का दारुलहकूमत बनाया गया। 1763ए के बाद से इस का बाज़ाबता चीनी नाम देखोअ था लेकिन 1954ए में उसे अरोमची का नाम दिया गया जो आम तौर पर मारूफ़ था। 1955ए में उसे सन्कियानग अवीग़ौर ख़ुद मुख़तार इलाके का दारुलहकूमत बनाया गया। 1955ए में तेल के ज़ख़ाइर की दरयाफ़त के बाद यहां बड़े पैमाने पर सनअती तरक़्की हुई है।

जुलाई 2009ए में सन्कियानग में ये शहर मुस्लिम चीनी फसादाद, जिसे हाँ-अवीग़ौर फसादाद क़रार दिया जाता है, का निशाना बिना जिस के नतीजे में 200 से ज़ायद अफ़राद मारे गए।

जुड़वां शहर[संपादित करें]

  • उलमाते, क़ाज़क़सतान
  • बुशकिक, करगज़सतान
  • पिशावर, पाकिस्तान
  • चलयाबनसिक, रूस