उद्दीपक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

उद्दीपक वह साईकोएक्टिव औषधि है जिनसे मनुष्य के शारीर की और मस्तिष्क की अस्थायी स्थिति को रोकती है। यह वह औषधियाँ है जो मनुष्य के शरीर की कार्यशीलता को बढ़ाती है। इनका सेवन करने से सतर्कता बढती है, नींद कम होती है। उद्दीपक औषधि दुनिया भर में व्यापक रूप में इस्तेमाल की जाती है पर्दर्शन बड़ाने और मनोरंजक दवाओं के रूप में भी इस्तेमाल की जाती है[1]। यह उत्तेजक पदार्थ मध्य और परिधीय तंत्रिका प्रणाली की गतिविधि को बढ़ता है। कई उत्तेजक पदार्थ तो मूड में सुधार और चिंता से राहत के लिए भी सक्षम होते हैं, और कुछ उत्साह की भावना पैदा करने में सहायक होते हैं। इन उत्तेजक औषधियों का प्रभाव इनकी मात्रा पर निर्भर करती है। इन औषधियों के अक्सर अलग-अलग प्रभाव देखे जाते है जैसे की एम्फ़ैटेमिन अधिक मात्रा में लेने से चिंता, डिसथीमिया, सक्रियता और संभावित दिल की विफलता बढती है लेकिन चिंता से राहत मिलती है, उत्साह का निर्माण होता है। उत्तेजक विभिन्न औषधीय तंत्र के माध्यम से अपने प्रभाव डालती है, जिनमें से सबसे प्रमुख नोरीपाइनफ्रिन का माध्यम है। उद्दीपक का अत्यधिक मात्र में सेवन करना खतरनाक होता है क्यूंकि यह मानव शरीर की कार्यशीलता बढ़ा देते है और तंत्रिका पर नियंत्रण कर लेते है। इन पदार्थो का सेवन करने से केंद्रीय तंत्रिका तंत्र का दुरुपयोग होता है, सीएनएस उत्तेजक की लत जल्दी से चिकित्सा, मनोरोग के लिए नेतृत्व कर सकते हैं, मनोसामाजिक गिरावट भी उत्पन्न करते है।[2] इनका लगातार सेवन करने से दवा सहिष्णुता, निर्भरता, और संवेदनशील बनाने के साथ ही एक वापसी सिंड्रोम हो सकता है। यह पदार्थ बहुत सी अपराधिक गतिविधियों को बढ़ावा देता है, और उन अपराधो के न्यायालयिक परिक्षण के लिए सीरम और मूत्र का परीक्षण किया जाता है।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://www.cdc.gov/overdose
  2. AJ Giannini. Drug Abuse. Los Angeles, Health Information Press, 1999, pp.203–208
  3. Dackis CA, Gold MS (1990). "Addictiveness of central stimulants". Advances in Alcohol & Substance Abuse. 9 (1–2): 9–26. doi:10.1300/J251v09n01_02. PMID 1974121