उदय मैत्रा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
उदय मैत्रा
जन्म भारत
आवास Bengaluru, Karnataka, India
राष्ट्रीयता Indian
क्षेत्र
संस्थान
शिक्षा
डॉक्टरी सलाहकार
प्रसिद्धि Studies on molecular tools and supramolecular assemblies
उल्लेखनीय सम्मान

उदय मैत्रा भारतीय विज्ञान संस्थान में जैविक रसायन विज्ञान विभाग में एक भारतीय जैविक रसायनज्ञ और प्रोफेसर हैं|[1][2] वह अपनी आणविक उपकरण और विशाल अणुकणिका असेंबलियों के पढ़ाई के लिए जाने जाते है| एक उच्चतम भारतीय विज्ञान पुरस्कार, विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार के वह एक प्राप्तकर्ता हैं। [3]

जीवन[संपादित करें]

बिलासपुर में पैदा हुए मैत्रा ने 1986 में कोलंबिया यूनिवर्सिटी से रोनाल्ड ब्रेसलो के मार्गदर्शन में काम कर पीएचडी हासिल किया और कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के बर्कले विश्वविद्यालय के पॉल ए बार्टलेट की प्रयोगशाला में डॉक्टरेट के अध्ययन के बाद का पद संभाला। उनका अध्ययन नई पद्धति के आधार पर है जिनसे उन्होंने सुप्रामोलेक्यूलर असेंबलीज़ और आणविक उपकरण जैसे रिसेप्टर्स, चिमटी और जीलेटर्स विकसित करने में काम किया था।[4] उन्होंने कई शोधकर्ताओं में अपने शोध प्रकाशित किए हैं जिनमे से रिसर्चगेट, वैज्ञानिक लेखों के एक ऑनलाइन भंडार में उनमें से 142 सूचीबद्ध हैं।[5] उन्होंने कई डॉक्टरेट विद्वानों को सलाह दी है[6] और रसायन शास्त्र को लोकप्रिय बनाने के पहल में  शामिल है।[7] उन्होंने पूर्ण / निमंत्रित भाषण देने के लिए सेमिनार में भाग लिया है, और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर द्वारा आयोजित रसायन विज्ञान के फ्रंटियर्स ऑफ केमिस्ट्री पर इंडो-जर्मन सिंपोसियम में एक भारतीय प्रतिनिधिमंडल के सदस्य थे [8] और कार्बनिक रसायन विज्ञान के जर्नलएक संपादकीय बोर्ड के सदस्य भी है।[9] वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए भारत सरकार की सर्वोच्च संस्था, वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद, ने उन्हें विज्ञान शास्त्र में उनके योगदान के लिए 2001 में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार जो कि सर्वोच्च भारतीय विज्ञान पुरस्कारों में से एक पुरस्कार है से सम्मानित किया।.[10]

यह भी देखें[संपादित करें]

  • [ Ronald Breslow]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Faculty profile". Indian Institute of Science. 2016. मूल से 15 मार्च 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 मार्च 2018.
  2. "Department of Organic Chemistry" (PDF). Indian Institute of Science. 2016. मूल से 7 अगस्त 2017 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 15 मार्च 2018.
  3. "Chemical Sciences". Council of Scientific and Industrial Research. 2016. मूल से 12 सितंबर 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 मार्च 2018.
  4. "Handbook of Shanti Swarup Bhatnagar Prize Winners" (PDF). Council of Scientific and Industrial Research. 2016. मूल (PDF) से 4 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 मार्च 2018.
  5. "On ResearchGate". ResearchGate. 2016. मूल से 16 मार्च 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 मार्च 2018.
  6. Singh (1 September 2009). Conceptual Problems In Organic Chemistry. Pearson Education India. पपृ॰ 7–. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-317-2463-7. |author= और |last= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद); |ISBN= और |isbn= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  7. "Chemistry is boring because of the way it is taught in schools". The Hindu. January 1, 2011.
  8. "Frontiers of Chemistry". Indian Institute of Technology, Kanpur. 2016. मूल से 1 मई 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 मार्च 2018.
  9. "Editorial Board". Asian Journal of Organic Chemistry. 201. मूल से 16 मार्च 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 मार्च 2018.
  10. "View Bhatnagar Awardees". Shanti Swarup Bhatnagar Prize. 2016. मूल से 11 अक्तूबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि November 12, 2016.