उज्बेकिस्तान में खेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सदियों से, उज़्बेकिस्तान में घुड़सवार और पहलवानों को बढ़ावा देने की परंपरा थी। देश में पैदा होने वाले कुछ खेल कुरैश हैं, जो कि एक प्रकार का सीधा कुश्ती है। उजबेकिस्तान में अन्य प्रकार की कुश्ती बेल्बोगली कुरश, ट्यूरोन और बॉयकुरगन सभी एक ही मूल हैं। उजबेकिस्तान में अन्य लोकप्रिय खेल फुटबॉल, बास्केटबॉल, मुक्केबाजी, कुश्ती, और जूडो हैं।

फुटबॉल[संपादित करें]

उजबेकिस्तान में फुटबॉल सबसे लोकप्रिय खेल है। उजबेकिस्तान का प्रमुख फुटबॉल लीग उज़्बेक लीग है, जिसमें 2010 से 14 से पहले 16 टीम शामिल हैं। मौजूदा चैंपियन लोकोमोटिव ताशकंद हैं, और सबसे अधिक चैंपियनशिप वाली टीम हैं| उजबेकिस्तान में सबसे सफल फुटबॉल क्लब एफसी बुनोडकोर, एफसी पख्तकोकर और एफसी नासाफ हैं। उजबेकिस्तान में 2011 में एफसी नासाफ ने एएफसी कप जीता और अंतरराष्ट्रीय क्लब कप जीतने वाली पहली उज़्बेकिस्तान टीम बन गई।[1][2]

बास्केटबाल[संपादित करें]

उजबेकिस्तान शक्तिशाली सोवियत संघ राष्ट्रीय बास्केटबाल टीम का हिस्सा था। टीम के विघटन के बाद, उजबेकिस्तान ने अपनी टीम की स्थापना की जो कि 90 के दशक के मध्य और 2000 के मध्य के बीच मामूली रूप से सफल रही।

आइस हॉकी[संपादित करें]

उजबेकिस्तान सोवियत संघ राष्ट्रीय आइस हॉकी टीम का हिस्सा था।

रग्बी[संपादित करें]

उजबेकिस्तान सोवियत संघ की राष्ट्रीय रग्बी यूनियन टीम का हिस्सा था, लेकिन 1991 में अपनी आजादी के बाद, उजबेकिस्तान ने अपनी राष्ट्रीय टीम बनाई है।

ओलंपिक[संपादित करें]

उजबेकिस्तान में 1991 में अपनी आजादी के बाद, उजबेकिस्तान ने ग्रीष्मकालीन ओलंपिक और शीतकालीन ओलंपिक में बढ़ती सफलता के साथ भाग लिया है। उजबेकिस्तान ने ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में चार बार प्रतिस्पर्धा की है, मुक्केबाजी में एक स्वर्ण पदक और पांच कांस्य पदक, दो स्वर्ण पदक और कुश्ती में दो रजत पदक और जूडो में रजत पदक हासिल किया है। शीतकालीन ओलंपिक में उजबेकिस्तान का एकमात्र पदक 1994 में क्रॉस-कंट्री स्कीइंग में स्वर्ण पदक था। 2016 में रियो ओलंपिक में रुस्लान नूरुडिनोव ने पुरुषों के 105 किलोग्राम वेटलिफ्टिंग में स्वर्ण जीता, कुल 431 किलो वजन उठाया|

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Messi batte Ronaldo e Buffon" (इतालवी में). Rai Sport. 2015-12-27.
  2. "Ravshan Irmatov named as best referee of 2015". UzDaily. 2015-12-28.