इस्लाम के अनुसार विश्व का विभाजन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

आरम्भिक इस्लामी न्यायविदों ने विश्व को दारुल-इस्लाम (इस्लाम का घर) और दारुल-हरब आदि में बाँटा है यद्यपि कुरान और हदीस में इस प्रकार की संकल्पना मौजूद नहीं है।

  • दार-उल-इस्लाम (उर्दू: دارُ الْاِسْلام देवनागरीकृत : दार-उल-इस्लाम ) ( अरबी: دار الإسلام ‎ — देवनागरीकृत : दार-अल-इस्लाम ) - ऐसे समस्त मुस्लिम बहुल क्षेत्र, जहाँ इस्लाम का शासन चलता है। सभी इस्लामी देश इसी परिभाषा के अन्तर्गत आते हैं।
  • दार-उल-हर्ब (उर्दू: دارُ الْحَرْب देवनागरीकृत : दार-उल-हर्ब ) (अरबी: دار الحرب‎ — देवनागरीकृत : दार-अल-हरब ) (शाब्दिक अर्थ : 'युद्ध भूमि') – ऐसे देश अथवा स्थान, जहाँ शरीयत विधि नहीं चलती तथा जहाँ अन्य आस्थाओं वाले अथवा अल्लाह को नहीं मानने वाले लोगों का बहुमत हो, अर्थात अ-इस्लामी देश।

इसके भी तीन उपविभाग हैं-

  • (क) दार-उल-अहद
  • (ख) दार-उल सुलह
  • (ग) दार-उल-दावा

भारत की स्थिति[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ी[संपादित करें]