आसक्ति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

आसक्ति का अर्थ है किसी वस्तु के प्रति विशेष रुचि होना।

उदाहरण[संपादित करें]

  • चिन्ता का मूल आसक्ति है।
  • आसक्ति के कारण हम विषयों के अधीन हो जाते हैं।
  • ऋषि-मुनियों या संत-संन्यासियों की सांसारिक पदार्थों में आसक्ति नहीं होती।
  • राम सम्राट के बेटे हैं, किन्तु महल-अटारी से उन्हें कोई आसक्ति नहीं।
  • जो मूर्ख मनुष्य सुन्दर रूप के प्रति तीव्र आसक्ति रखता है, वह अकाल में ही नष्ट हो जाता है।

मूल[संपादित करें]

  • आसक्ति मूलतः संस्कृत का शब्द है।

अन्य अर्थ[संपादित करें]

  • लगाव
  • चाह
  • स्नेह
  • प्रेम
  • अनुरक्ति
  • मोह
  • आसंग
  • अनुराग
  • प्रेम

संबंधित शब्द[संपादित करें]

  • आसक्त
  • अनासक्ति

हिंदी में[संपादित करें]

  • [[ ]]

अन्य भारतीय भाषाओं में निकटतम शब्द[संपादित करें]