आव्यूह (जीवविज्ञान)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

जीवविज्ञान में आव्यूह (matrix) प्राणीवनस्पति कोशिकाओं में वह सामग्री या ऊतक होता है जिसमें उन कोशिकाओं के अन्य अंग (कोशिकांग) अपने-अपने स्थानों पर उपस्थित होते हैं। मसलन कोशिका केन्द्रक के भीतर केन्द्रक आव्यूह होता है जिसमें केन्द्रक में उपस्थित गुणसूत्र टिके हुए होते हैं। नाखून भी आव्यूहों से उत्पन्न होते हैं।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Biology Eighth Edition Campbell, Reece, Urry, Cain, Wasserman, Minorsky, Jackson