अन्नपूर्णा २

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अन्नपूर्णा २
Annapurna II north.jpg
अन्नपूर्णा २ उत्तर से
उच्चतम बिंदु
ऊँचाई7,937 मी॰ (26,040 फीट) 
स्थान 16वां
उदग्रता2,437 मी॰ (7,995 फीट)
एकाकी अवस्थिति29.02 कि॰मी॰ (18.03 मील)
सूचीयनसात हज़ारी
निर्देशांक28°32′9″N 84°7′17″E / 28.53583°N 84.12139°E / 28.53583; 84.12139निर्देशांक: 28°32′9″N 84°7′17″E / 28.53583°N 84.12139°E / 28.53583; 84.12139
भूगोल
मातृ श्रेणीअन्नपूर्णा, हिमालय
आरोहण
प्रथम आरोहणMay 17, 1960
सरलतम मार्गsnow/ice climb

अन्नपूर्णा २ , अन्नपूर्णा पर्वत श्रृंखला का हिस्सा है, और यह श्रृंखला के पूर्वी छोर पर है। यह पहली बार 1960 में एक ब्रिटिश / भारतीय / नेपाली संयुक्त टीम द्वारा चढ़ाई की गई थी, जिसका नेतृत्व जे औ एम रॉबर्ट्स ने किया था। इस पर पश्चिमी रिज के माध्यम से चढ़ाई की गई थी जहां उत्तर से पहुंचा गया। समिट पार्टी में रिचर्ड ग्रांट, क्रिस बोनिंगटन और शेरपा आंग न्यामा शामिल थे। ऊंचाई के संदर्भ में, अलगाव (एक उच्च शिखर तक की दूरी, अर्थात् अन्नपूर्णा I पूर्व पीक, 29.02 कि॰मी॰ या 18.03 मील ) और प्रमुखता ( 2,437 मी॰ या 7,995 फीट ), अन्नपूर्णा २ अन्नपूर्णा १ से बहुत पीछे नहीं है, जो कि इस श्रृंखला के पश्चिमी छोर पर स्थित है। अन्नपूर्णा १ के साथ घनिष्ठ संबंध के बावजूद यह एक पूरी तरह से स्वतंत्र चोटी है। अन्नपूर्णा २ दुनिया का 16 वां सबसे ऊँचा पर्वत है

स्लोवेनिया के यूगोस्लाव्स ने 1969 में इस चढ़ाई को दोहराया, तथा अन्नपूर्णा ४ पर भी चढ़ाई की। काज़मीर ड्रैस्लर और मतीजा मालेज़िक शिखर पर पहुँचे। [1] 1973 में जापानीयो ने इस रास्ते को ओर छोटा करते हुए सीधे उत्तरी दीवार से चढ़ाई करके IV और V के बीच से पश्चिम रिज पर पहुंचे और उसी को जारी रखते हुए शिखर पर पहुंचे। इस उल्लेखनीय एकल प्रदर्शन में काट्सुयुकी कोंडो शीर्ष पर पहुंच गया। [2]

1983 में, टिम मैकार्टनी-स्नेप ने अन्नपूर्णा २ ( 7,937 मी॰ या 26,040 फीट ) में एक अभियान में भाग लिया और सफलतापूर्वक दक्षिण स्पर के माध्यम से चढ़ाई की चढ़ाई के दौरान एक बर्फानी तूफान के कारण उतराई में देरी हुई जिससे अभियान में अंतिम पांच दिनों में खाने की कमी हो गई। तथा उनकी लापता होने की सूचना दी गई और जब अभियान ने अंततः वापसी की तो उन्हें महत्वपूर्ण प्रचार मिला। [3]

2 फरवरी, 2007 को; फिलिप कुंज, लखपा वांगेल, टेम्बा नूरू और लखपा थिंदुक ने पहली शीतकालीन चढ़ाई की। टीम ने उत्तर से पहली चढ़ाई के मार्ग का अनुसरण किया। [2]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. AAJO 1970
  2. एएजेओ 2008
  3. हॉल, लिंकन, व्हाइट लिम्बो: माउंट का पहला ऑस्ट्रेलियाई पर्वतारोहण। एवरेस्ट रैंडम हाउस ऑस्ट्रेलिया 1985

यह भी देखें[संपादित करें]