अत्याचार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अत्याचार एक हिन्दी भाषा का शब्द है जिसका अर्थ किसी व्यक्ति अथवा प्राणी पर नृशंसता से किये गये उत्पीड़न के कार्य से सम्बंधित है।

वाक्य में प्रयोग[संपादित करें]

  • किरण बेदी मानती हैं कि महिलाएँ ही महिलाओं पर अत्याचार का पहला कारण होती हैं।[1]

अन्य शब्द[संपादित करें]

संज्ञा
स्वेच्छाचारिता, प्रजापीडन, निर्दयता।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. नगेंदर शर्मा (बीबीसी संवाददाता, दिल्ली) (04 सितंबर 2005 को 16:03 GMT). "महिलाओं को विचार बदलना होगा". बीबीसी. http://www.bbc.co.uk/hindi/regionalnews/story/2005/09/050904_aapkibaat_kiranbedi.shtml. अभिगमन तिथि: 22 जून 2013.