अजित बरुवा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अजित बरुवा

अजित बरुवा (असमिया: অজিৎ বৰুৱা; १९ अगस्त १९२६ से ३ एप्रिल २०१५) एक कवि-सहित्यिक, अनुवादक और प्रशाशनिक विषया थे। ब्रह्मपुत्र इत्यादि कविता ग्रन्थ के लिए उन्हे सन १९८९ में साहित्य अकादमी पुरस्कार (असमिया) मिला।[1][2] १९६३ के जेंराइ कविता के लिए वे जनप्रिय हुए।[3] इलियत की शैली असमीया कविताओ में लाकर वे एक प्रकार से असमीया कविता की बौद्धिकता वापस लाए।[4] ३ एप्रिल २०१५ को ८९ साल की उम्र में वे परलोक सिधारे।

तथ्य संग्रह[संपादित करें]

  1. Satyendra Nath Sarma (1976). A History of Indian Literature: Modern Indo-Aryan literatures. Assamese literature. Otto Harrassowitz Verlag. पपृ॰ 104–. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-3-447-01736-7. अभिगमन तिथि 27 November 2012.
  2. "अकादमी पुरस्कार". साहित्य अकादमी. अभिगमन तिथि 11 सितंबर 2016.
  3. "Ajit Barua passes away". The Assam Tribune. 3 এপ্ৰিল 2015. अभिगमन तिथि 4 এপ্ৰিল 2015. |accessdate=, |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  4. Subodh Kapoor (জানুৱাৰী 2002). "The Indian Encyclopaedia, Volume 1". Cosmo publications. अभिगमन तिथि 4 এপ্ৰিল 2015. |accessdate=, |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)