अजमेर सिंह औलख

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अजमेर सिंह औलख

अजमेर सिंह औलख 19 अगस्त 1942 - 15 जून 2017) पंजाबी भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक नाटक इश्क बाझ नमाज़ दा हज नाही के लिये उन्हें सन् 2006 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[1]

जीवन[संपादित करें]

श्री ओळख का जीवन 19 अगस्त 1942 को पंजाब के मानसा जिले के गाँव कुंभडवाल में हुआ। उनके पिता का नाम श्री कौर सिंह और माता का नाम श्रीमती हरनाम कौर था।वः एक आदर्श अध्यापक थे। वह पंजाब एक जाने माने नाटककार थे और अपने जेअवं के अंत समय तक्क वः नाटक खेलते रहे।15 जून 2017 को उनका कैंसर की बीमारी क्र कारण उनका निधन हो गया।

नाट-पुस्तकें[संपादित करें]

एकांगी[संपादित करें]

पूरे नाटक[संपादित करें]

  1. भज्जीआं बाहाँ (1987)
  2. सत्ਬ बिगाने (1988)
  3. कहर सिंह की मौत (1992)
  4. सलवान (1994)
  5. इक्क सी दरिया (1994)
  6. झना डा पानी (2000)[2]

बाहरी कड़ीयां[संपादित करें]

  1. http://www.profiles.manchanpunjab.org/people.php?id=15
  2. http://www.indianetzone.com/28/ajmer_singh_aulakh_indian_theatre_personality.htm
  3. http://www.facebook.com/ajmersingh.aulakh

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "अकादमी पुरस्कार". साहित्य अकादमी. अभिगमन तिथि 11 सितंबर 2016.
  2. ਅਜਮੇਰਔਲਖ.ਇਨ ਨਾਟ ਰਚਨਾ