अंतराल (गणित)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
संख्या रेखा पर x + ax से अधिक और x + a से कम सभी संख्याएँ इस अंतराल में सम्मिलित हैं।

गणित में अंतराल (interval) वास्तविक संख्याओं का ऐसा समुच्चय होता है जिसमें यह नियम लागू हो कि समुच्चय के किन्हीं दो सदस्य संख्याओं के बीच की सभी संख्याएँ भी उस समुच्चय की सदस्य होती हैं। उदाहरण के लिए, x द्वारा अंकित वह सभी संख्याएँ जो 0 ≤ x ≤ 1 को संतुष्ट करती हैं, उनका समुच्चय एक अंतराल है। इसमें 0.00001, 0.99, 0.0567 और 0 से 1 के बीच सभी वास्तविक संख्याएँ अंतराल की सदस्य हैं।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Complex interval arithmetic and its applications, Miodrag Petković, Ljiljana Petković, Wiley-VCH, 1998, ISBN 978-3-527-40134-5
  2. Rudin, Walter (1976). Principles of Mathematical Analysis. New York: McGraw-Hill. p. 31. ISBN 0-07-054235-X.