हान चीनी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
चीन में विभिन्न जातियों का फैलाव - हान चीनी पूर्व की ओर गाढ़े ख़ाकी रंग में हैं

हान चीनी (चीनी: 汉族, हानज़ू या हानरेन) चीन की एक जाति और समुदाय है। आबादी के हिसाब से यह विश्व की सब से बड़ी मानव जाति है। कुल मिलाकर दुनिया में १,३१,०१,५८,८५१ हान जाति के लोग हैं, यानी सन् २०१० में विश्व के लगभग २०% जीवित मनुष्य हान जाति के थे। चीन की जनसँख्या के ९२% लोग हान नसल के हैं। इसके अलावा हान लोग ताइवान में ९८% और सिंगापुर में ७८% होने के नाते उन देशों में भी बहुतायत में हैं। हज़ारों साल के इतिहास में बहुत सी अन्य जातियाँ और क़बीले समय के साथ हान जाति में मिलते चले गए जिस से वर्तमान हान समुदाय में बहुत सांस्कृतिक, सामाजिक और आनुवंशिकी (यानि जॅनॅटिक) विविधताएँ हैं।[1]

नाम की उत्पत्ति[संपादित करें]

'हान' शब्द चीन के ऐतिहासिक हान राजवंश से आया है, जो चिन राजवंश के बाद सत्ता में आये। चिन राजवंश ने चीन के कुछ भाग को जोड़कर एक साम्राज्य में बाँधा और हान राजवंश के पहले सम्राट ने अपने आप को 'हान जोंग का राजा' की उपाधि दी। इसमें 'हान' शब्द प्राचीन चीनी भाषा में क्षीरमार्ग (हमारी आकाशगंगा) के लिए एक शब्द हुआ करता था, जिसे प्राचीन चीन के लोग 'स्वर्ग की नदी' (天河, तियान हे) बुलाया करते थे। हान राजवंश के बाद बहुत से चीनी लोग अपने आप को 'हान के लोग' (漢人) या 'हान के बेटे' बुलाने लगे और यही नाम आज तक चलता आया है।[2]

आनुवंशिकी (जॅनॅटिक) जड़ें[संपादित करें]

पितृवंश समूह ओ की ओ३ (O3) शाखा लगभग ५०% हान चीनी पुरुषों में पाई जाति है और हानो के कुछ समुदायों में तो यह हिस्सा बढ़ के ८०% तक मिलता है।[3] चीन में मिले अति-प्राचीन शवों में भी यह पितृवंश समूह पाया गया है। पितृवंश में इस एकरूपता से उल्टा मातृवंश समूह में उत्तरी चीन और दक्षिणी चीन में अंतर पाया जाता है, जिस से लगता है कि इतिहास के किसी मोड़ पर उत्तरी चीन से पुरुषों ने बड़ी मात्रा में आकर दक्षिणी चीन की स्त्रियों के साथ विवाह और संताने पैदा की थीं।[4]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Genetic evidence support demic diffusion of Han culture (PDF), Nature Publishing Group, 2004
  2. The History of the Former Han Dynasty, Gu Ban, Lo-Chi P'an, Jen T'ai, Taylor & Francis
  3. Matthew E. Hurles, Bryan C. Sykes, Mark A. Jobling, and Peter Forster, "The Dual Origin of the Malagasy in Island Southeast Asia and East Africa: Evidence from Maternal and Paternal Lineages," American Journal of Human Genetics 76:894–901, 2005.
  4. Table from " A spatial analysis of genetic structure of human populations in China reveals distinct difference between maternal and paternal lineages". European Journal of Human Genetics (journal, 23 जनवरी 2008 issue)