हउमेया (बौना ग्रह)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
हउमेया और उसके उपग्रहों (हिइआका और नामाका) का काल्पनिक चित्रण

हउमेया हमारे सौर मण्डल के काइपर घेरे में स्थित एक बौना ग्रह है। अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ द्वारा रखा गया इसका औपचारिक नाम "१३६१०८ हउमेया" है। यह हमारे सौर मण्डल का चौथा सब से बड़ा बौना ग्रह है और इसका द्रव्यमान यम (प्लूटो) का एक-तिहाई है। हउमेया का औसत व्यास (डायामीटर) लगभग १,४३६ किमी है। इसकी खोज २००४ में की गयी थी। हउमेया का आकार सारे ज्ञात बौने ग्रहों में अनूठा है - जहाँ बाक़ी सब गोल हैं यह एक पिचका हुआ गोला है। हउमेया की चौड़ाई उसकी लम्बाई से दो गुना ज़्यादा है। इसके इस अजीब आकार के साथ-साथ इसमें कुछ और भी भिन्नताएँ हैं - यह बहुत तेज़ी से अपने घूर्णन अक्ष (ऐक्सिस) पर घूमता है और इसका घनत्व बाहरी सौर मण्डल के अन्य बौने ग्रहों से अधिक है। इन विशेषताओं को देखकर लगता है के हउमेया अतीत में किसी भयंकर टकराव का नतीजा है।

रूप-रंग[संपादित करें]

हउमेया की सतह का एल्बीडो (सफ़ेदपन या चमकीलापन) ०.७ से ०.८ के बीच है। यह काफ़ी ऊंचा माना जाता है और वैज्ञानिकों की सोच है के यह हउमेया की सतह पर जमी पानी की बर्फ़ की वजह से है। बौने ग्रहों में अन्दर एक पत्थरीला केंद्र होता है और उसके ऊपर बर्फ़ की मोटी तह होती है जिसमें पानी, मीथेन, नाइट्रोजन की बर्फ़ें मिलती हैं। लेकिन हउमेया पर ऊपरी बर्फ़ की चादर बहुत पतली है, जिस से उसका घनत्व अन्य बौने ग्रहों की तुलना में अधिक है। हउमेया का घूर्णन बहुत तेज़ है - जहाँ पृथ्वी को एक दफ़ा घूमने में लगभग २४ घंटे लगते हैं, वहाँ हउमेया ४ घंटे से ज़रा कम में एक दफ़ा पूरा घूम जाता है। खगोलशास्त्री समझते हैं के हउमेया का पिचका आकार इसी तेज़ घूर्णन का नतीजा है। हउमेया के इतिहास के बारे में अंदाज़ा लगते हुए वे समझते हैं के एक बहुत बड़ा टकराव हुआ होगा जिसमें हउमेया के ऊपर की बरफ का हिस्सा उड़ गया और ज़्यादातर पत्थर-ही-पत्थर बचा। उसी टकराव ने शायद हउमेया को तेज़ी से घूमता हुआ छोड़ दिया।

हउमेया की सतह वैसे तो सफ़ेद है, लेकिन उसपर एक लाल रंग का क्षेत्र देखा गया है। संभव है के इस क्षेत्र में प्लूटो की तरह अन्य लालिमा प्रदान करने वाले पदार्थ हों।

उपग्रह[संपादित करें]

हउमेया की परिक्रमा करते हुए दो छोटे से उपग्रह भी मिलें हैं जिनके नाम हिइआका और नामाका हैं।

नाम का स्रोत[संपादित करें]

जिस दूरबीनशाला (ऑबज़रवटोरी) से हउमेया, हिइआका और नामाका पाए गए, वे हवाई में स्थित हैं, इसलिए उनके नाम प्राचीन हवाईयन धर्म पर रखे गए। इसमें हउमेया बच्चों की जन्मने की देवी मानी जाती थीं और हिइआका और नामाका उनकी दो बेटियाँ थीं। अंग्रेज़ी में हउमेया को "Haumea", हिइआका को "Hi'iaka" और नामाका को "Namaka" लिखा जाता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  वा  
सौर मण्डल
सूर्य बुध शुक्र चन्द्रमा पृथ्वी Phobos and Deimos मंगल सीरिस) क्षुद्रग्रह बृहस्पति बृहस्पति के उपग्रह शनि शनि के उपग्रह अरुण अरुण के उपग्रह वरुण के उपग्रह नेप्चून Charon, Nix, and Hydra प्लूटो ग्रह काइपर घेरा Dysnomia एरिस बिखरा चक्र और्ट बादलSolar System XXVII.png
सूर्य · बुध · शुक्र · पृथ्वी · मंगल · सीरीस · बृहस्पति · शनि · अरुण · वरुण · यम · हउमेया · माकेमाके · एरिस
ग्रह · बौना ग्रह · उपग्रह - चन्द्रमा · मंगल के उपग्रह · क्षुद्रग्रह · बृहस्पति के उपग्रह · शनि के उपग्रह · अरुण के उपग्रह · वरुण के उपग्रह · यम के उपग्रह · एरिस के उपग्रह
छोटी वस्तुएँ:   उल्का · क्षुद्रग्रह (क्षुद्रग्रह घेरा‎) · किन्नर · वरुण-पार वस्तुएँ (काइपर घेरा‎/बिखरा चक्र) · धूमकेतु (और्ट बादल)