विकिपीडिया:स्वशिक्षा/ध्यान रखें

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
परिचय   सम्पादन   रूपरंग   विकिपीडिया जोड़   सन्दर्भ और स्रोत   संवाद पृष्ठ   ध्यान रखें   पंजीकरण   जाते-जाते    

विकिपीडिया पर संपादन करते हुए कुछ बातों को सदैव ध्यान में रखें

संपादन नीति

विषय सामग्री

विकिपीडिया नियमित नई जानकारियों से समृद्ध होता एक ज्ञानकोश है। इसमें लेख उल्लेखनीय विषयों पर ही होने चाहिए। क्या उल्लेखनीय है और क्या नहीं, इसको लेकर विकिपीडिया पर हमेशा बहस जारी रहती है लेकिन यह बात स्पष्ट है कि पृथ्वी पर हर व्यक्ति के लिए लेख नहीं होना चाहिए। न ही हर कंपनी पर, न ही हर शहर की हर सड़क पर। ऐसे विषयों का स्थान अक्सर विकिपीडिया की किसी साथी परियोजना में होता है।

उदाहरण के लिए ज्ञानकोश के लेख किसी विषय के बारे में होते हैं, शब्दों के अर्थों के बारे में नहीं। ऐसा लेख जो किसी शब्द के अर्थ की परिभाषा करता हो, शब्दकोश में होना चाहिए, विकिपीडिया पर नहीं। इसे विकिशब्दकोश (उर्फ़ विक्शनरी) में डालिए।

किसी मुद्राधिकार-मुक्त (यानि पब्लिक डोमेन) किताब या लेख को आप विकिपीडिया में न डालें। अगर आप चाहते हैं कि यह सामग्री पूर्ण और मुक्त रूप से सभी को मिले तो इसे विकिस्रोत पर डाल सकतें हैं। अगर आप किसी विषय पर कोई किताब लिखकर उसे विश्व को मुफ़्त पहुँचाना चाहते हैं तो उसे विकिताब पर डाल सकते हैं। विकिमीडिया फाउंडेशन, जो विकिपीडिया को चलने वाली संस्था है, ऐसी कई और परियोजनाएँ भी चलाती है। अगर आप कोई तस्वीर खींचते हैं जो आपको लगता है कि अभी या भविष्य में किसी लेख के लिए उपयोगी होगा, तो उसे विकिमीडिया कोमन्ज़ पर अच्छे वर्णन और श्रेणी के साथ डाल दें।

विकिपीडिया पर मूल शोध वर्जित है। इसका अर्थ है कि विकिपीडिया पर ऐसा कोई तथ्य नहीं होना चाहिए जो पहले ही किसी अन्य, विकिपीडिया से असम्बंधित, प्रमाणित और विश्वसनीय स्रोत में न हो।

लेखकों को अपने बारे में और अपनी उपलब्धियों के बारे में लेख न लिखने की चेतावनी दी जाती है, क्योंकि यह एक "स्वार्थ संघर्ष" (कॉन्फ़्लिक्ट ऑफ़ इन्ट्रॅस्ट) की स्थिति बना देता है। अगर आपके कारनामें वास्तव में उल्लेखनीय हैं, तो धीरज रखिये। कभी न कभी, कोई न कोई आप पर लेख बना ही देगा - कृपया स्वयं न बनाए।

निष्पक्ष दृष्टिकोण

विकिपीडिया की नीति है कि सारे लेख "निष्पक्ष दृष्टिकोण" से लिखे हों। इसे छोटे रूप में "NPOV" (अंग्रेज़ी के "न्यूट्रल पॉइंट ऑफ़ वियू" के लिए संक्षेप) लिखा जाता है। इस नीति का अर्थ है कि किसी भी मुद्दे पर हम सभी मुख्य दृष्टिकोणों को मान्यता देते हैं। किसी एक पक्ष को प्रस्तुत करने कि बजाए हम हर मुख्य पक्ष को प्रस्तुत करते हैं और उनमें किसी एक को सही नहीं ठहराते। विकिपीडिया का उद्देश्य केवल जानकारी बाँटना है, किसी बात या पक्ष को मनवाना नहीं।

लेखों में किसी मुद्दे पर मतों का वर्णन लिखना ठीक है, लेकिन वह लेखक के मत के रूप में प्रस्तुत नहीं किया जा सकता। विश्वसनीय और प्रमाणित स्रोतों के साथ यह ज़रूर लिखा जा सकता है कि "यह गुट कहता है कि ..." या "प्रसिद्ध वैज्ञानिक फ़लाना-फ़लाना का कहना है कि ...."। यही वजह है कि कुछ भावात्मक शब्दों का प्रयोग लेखों में नहीं किया जाना चाहिए। ऐसा कहना कि "दुर्भाग्य से भ्रष्टाचार बढ़ गया" विकिपीडिया में सही नहीं है क्योंकि इसमें आपका पक्ष आ जाता है। केवल इतना ही लिखें कि "भ्रष्टाचार बढ़ गया" या "प्रसिद्ध आर्थशास्त्री जोहर तीव्रबुद्धि का कहना है कि भ्रष्टाचार का बढ़ना दुर्भाग्यपूर्ण है"।

आप कभी-कभी विकिसदस्यों को किसी लेख में "POV" या "पक्ष" की समस्या होने की बात करते देखेंगे। इसका यही अर्थ है कि उनकी राय में वह लेख किसी एक पक्ष को लेकर लिखा गया है। अगर किसी लेख में इश्तेहारनुमा भाषा का प्रयोग है, किसी एक राजनैतिक या धार्मिक पक्ष को सत्य और सही के रूप में पेश किया जा रहा है, या किसी व्यक्ति की केवल बढ़ाई ही लिखी है, जो वह इस "पक्ष की समस्या" की श्रेणी में आता है। ऐसा भी हो सकता है के किसी लेख में हर पक्ष प्रस्तुत तो हो लेकिन किसी एक पक्ष को अनुचित स्थान या मान्यता दी गई हो - यह भी इसी समस्या की श्रेणी में आता है। पृथ्वी के लेख में अगर इस पक्ष को उतना ही स्थान दिया जाए जो कहता है के पृथ्वी गोल नहीं है बल्कि एक चपटा क्षेत्र है जितना की गोलाकार पृथ्वी को दिया जा रहा है, तो यह भी पक्षपात दिखता है क्योंकि एक ग़ैर-मुख्य पक्ष को उसकी वैज्ञानिक मान्यता से कहीं ज़्यादा स्थान दिया जा रहा है।

अगर आप राजनीति, भाषा-पहचान और धर्म जैसे संवेदनशील विषयों पर समय लगाने वाले हैं, तो निष्पक्ष दृष्टिकोण पर बहुत ध्यान दें। ऐसे विषयों में झड़पों से बचने के लिए मतभेद में स्वयं को शांत रखने पर भी विशेष ध्यान दें। अगर गणित और विज्ञान जैसे कम संवेदनशील विषयों पर लेख लिखने वाले हैं, तो यह कम चिंता का कारण है लेकिन फिर भी निष्पक्षता की नीतियों का पालन कीजिये।

स्रोत और सन्दर्भ

विकिपीडिया पर ज़रूरी है के जो जानकारी आप प्रस्तुत कर रहें हैं उसके लिए आप विश्वसनीय और प्रमाणित स्रोतों का भी उल्लेख करें। सन्दर्भों से हमारे पाठकों के लिए आपकी लिखाई को जाँचना आसान हो जाता है और उन्हें अधिक जानकारी के लिए स्रोत भी मिल जाते हैं।

अगर कोई विकिपीडिया से बाहर की वेबसाईट किसी विषय के पाठकों के लिए दिलचस्पी रखेगी तो उसे "बाहरी कड़ियाँ" नाम के विभाग में शामिल करें। अगर कोई पुस्तकें या पत्रिकाएँ उनके काम की होंगी और वे स्रोतों में शामिल नहीं हैं, तो उन्हें एक "विषय-रूचि की पुस्तकें" नाम के विभाग में भी डाला जा सकता है।

मुद्राधिकार (कॉपीराईट)

विकिपीडिया में किसी भी सूरत में मुद्राधिकार द्वारा सुरक्षित कोई भी सामग्री न डालें। जब आप लेखों में जानकारी डाल रहें हों, यह ध्यान रखें के शब्द आपके अपने होने चाहिए। याद रखिये के इन्टरनेट पर मिलने वाली सभी सामग्री (लिखाई, चित्र, इत्यादि) मुद्राधिकार से सुरक्षित होते हैं। केवल वही सामग्री मुद्राधिकार-मुक्त है जिसमे साफ़-साफ़ शब्दों में यह कहा गया हो कि वह मुद्राधिकार से बाहर है।

भाषा और शब्द

किसी भी शब्द के सामान्य रूप से इस्तेमाल होने वाले शब्दों को विकिपीडिया पर प्रयोग किया जा सकता है। संक्षेप में नीति यह है कि:

  1. किसी लेख को केवल इसलिए सम्पादित न करें क्योंकि किसी शब्द का रूप आपकी पसन्द का नहीं है। उदाहरण के लिए "किये" और "किए" दोनों ठीक हैं।
  2. हिन्दी और उर्दू के शब्दों के सम्बन्ध में फेर-बदल करने से पहले लेख के संवाद पृष्ठ पर, लेखक के वार्ता पृष्ठ पर या चौपाल में विचार-विमर्श करें। कुछ-एक शब्दों के लिए अपनी और औरों की उर्जा बेकार न करें। लेख-से-लेख भटककर इक्के-दुक्के शब्दों को अपने पसन्द के शब्दों में परिवर्तित करने पर ज़ोर न लगाएँ।
  3. हिन्दी एक बड़े भूक्षेत्र में विभिन्न समुदायों द्वारा बोली जाने वाली भाषा है। संभव है कि किसी अन्य लेखक की शैली आप से थोड़ी भिन्न हो। किसी एक लेख के अन्दर एक ही शैली होनी चाहिए ताकि यह अटपटी न लगे, लेकिन अगर शैली किसी साधारण हिंदीभाषी द्वारा सरलता से पढ़ी जा सकती है तो उसे अपनी पसन्द की शैली में परिवर्तित करने पर ज़ोर न लगाएँ।
  4. अंग्रेज़ी और अन्य भाषाओँ से हिन्दी में लिप्यन्तरण करते हुए ध्वनी और प्रथा दोनों का ध्यान रखें। "America" को ध्वनी के अनुसार "अमॅरिका" लिखा जाएगा, लेकिन प्रथानुसार इसे "अमरीका" या "अमेरिका" लिखा जाता है। अगर प्रथा के बारे में असमंजस हो तो इन्टरनेट पर खोज कर के सब से अधिक प्रयोग होने वाला लिप्यन्तरण ढूँढा जा सकता है। जहाँ कोई शब्द बहुत ही कम लिप्यन्तरित हुआ हो, वहाँ सही ध्वनी दर्शाने का प्रयास करें।
  5. नुक्ते (बिंदु) वाले शब्दों में नुक्तों के होने या न होने पर ज़ोर ना दें। हिन्दी में "अफ़्ग़ानिस्तान" को "अफ्गानिस्तान", "अफ़्गानिस्तान", "अफ्ग़ानिस्तान" और "अफ़्ग़ानिस्तान" सभी रूपों में लिखा जाता है। इसी तरह "Tethys" का लिप्यन्तरण "टॅथ़िस" या "टॅथिस" हो सकता है। सही ध्वनी "थ़" की ध्वनी है लेकिन दोनों रूप विकिपीडिया पर मान्य हैं। इनमें फेर-बदल करने के लिए संपादन न करें।

व्यवहार

विकिपीडिया पर एक मित्रता और खुलेपन का वातावरण रखने का प्रयास किया जाता है। यह बात सच है के कभी-कभी मतभेद होते हैं और जहाँ-तहाँ गरम बहस भी छिड़ जाती है, लेकिन सदस्य-समाज के हर सदस्य से शिष्टता की अपेक्षा की जाती है।

यह बहुत ही ज़रूरी है कि आप हमेशा यह मान के चलें कि अन्य लेखक विकिपीडिया में सच्चे हृदय से योगदान देना चाहते हैं। जहाँ तक संभव हो यह ना सोचे कि कोई दूसरा सदस्य द्वेष या शत्रुता की भावना से कुछ कर रहा है। अगर आपको किसी की करी या कही बात अजीब लगे तो बहुत नम्रता से उसके वार्ता पृष्ठ पर या सम्बंधित लेख के संवाद पृष्ठ पर उस से पूछे के उसने ऐसा क्यों किया। ऐसा करने से बहुत सी ग़लतफ़हमियों और बेकार की झड़पों से बचा जा सकता है।

नए लेखों का निर्माण

विकिपीडिया में नए लेख बनाते हुए इस स्वशिक्षा में दी गई सलाह को ध्यान में रखें, जैसे की निष्पक्षता की नीति। स्रोतों के प्रयोग से प्रमाणित करें की लेख का विषय उल्लेखनीय है (यानि विकिपीडिया में सम्मिलित होने के योग्य है) और किसी भी पाठक द्वारा जाँचा जा सकता है। नए लेख बनाने के लिए आपका पंजीकृत होना आवश्यक है।

नाम स्थानान्तरण

अगर आपको कोई ऐसा लेख मिलता है जिसका शीर्षक आपको ग़लत लगे, तो उसकी सामग्री काट के नए नाम के लेख में न चिपकाएँ। इस से लेख में किये गए सारे बदलावों के इतिहास की धारा खंडित हो जाती है। मुद्रधिकारों की दृष्टि से भी इस धारा का एक होना आवश्यक है। लेख का नाम बदलने का सही तरीक़ा है उसका स्थानांतरण करना। उसके लिए आपका पंजीकृत होना ज़रूरी है। किसी लेख को स्थानांतरित करने से पहले स्थानांतरण पृष्ठ पर लिखी चेतावनियाँ ध्यान से पढ़ लें। ग़लत स्थानांतरण से जोड़ टूट सकते हैं और बेकार की बहस आरम्भ हो सकती है। अगर आपको ज़रा भी खटका है कि नाम बदलने से कठिनाइयाँ या मतभेद हो सकता है तो पहले उस लेख के संवाद पृष्ठ पर अपना नामांतरण का सुझाव डाल कर लोगों के मतों को देखें।



सीखी गई बातें प्रयोगस्थल पर आज़माइए
पंजीकरण के साथ अपनी स्वशिक्षा जारी रखें