लोथल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
लोथल is located in गुजरात
गुजरात में लोथल की अवस्थिति
लोथल

लोथल (गुजराती: લોથલ), प्राचीन सिंधु घाटी सभ्यता के शहरों में से एक बहुत ही महत्वपूर्ण शहर है। लगभग 2400 ईसापूर्व पुराना यह शहर भारत के राज्य गुजरात के भाल क्षेत्र में स्थित है और इसकी खोज सन 1954 में हुई थी। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने इस शहर की खुदाई 13 फरवरी 1955 से लेकर 19 मई 1956 के मध्य की थी। लोथल, अहमदाबाद जिले के ढोलका तालुका के गाँव सरागवाला के निकट स्थित है। अहमदाबाद-भावनगर रेलवे लाइन के स्टेशन लोथल भुरखी से यह दक्षिण पूर्व दिशा में 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। लोथल अहमदाबाद, राजकोट, भावनगर और ढोलका शहरों से पक्की सड़क द्वारा जुड़ा है जिनमें से सबसे करीबी शहर ढोलका और बगोदरा हैं।

लोथल गोदी जो कि विश्व की प्राचीनतम ज्ञात गोदी है, सिंध में स्थित हड़प्पा के शहरों और सौराष्ट्र प्रायद्वीप के बीच बहने वाली साबरमती नदी की प्राचीन धारा के द्वारा शहर से जुड़ी थी, जो इन स्थानों के मध्य एक व्यापार मार्ग था। उस समय इसके आसपास का कच्छ का मरुस्थल, अरब सागर का एक हिस्सा था। प्राचीन समय में यह एक महत्वपूर्ण और संपन्न व्यापार केंद्र था जहाँ से मोती, जवाहरात और कीमती गहने पश्चिम एशिया और अफ्रीका के सुदूर कोनों तक भेजे जाते थे। मनकों को बनाने की तकनीक और उपकरणों का समुचित विकास हो चुका था और यहाँ का धातु विज्ञान पिछले 4000 साल से भी अधिक से समय की कसौटी पर खरा उतरा था।

1961 में भारतीय पुराततव सर्वेक्षण ने खुदाई का कार्य फिर से शुरु किया और टीले के पूर्वी और पश्चिमी पक्षों की खुदाई के दौरान उन वाहिकाओं और नालों को खोद निकाला जो नदी के द्वारा गोदी से जुड़े थे। प्रमुख खोजों में एक टीला, एक नगर, एक बाज़ार स्थल और एक गोदी शामिल है। उत्खनन स्थल के पास ही एक पुरात्तत्व संग्रहालय स्थित हैं जिसमें सिंधु घाटी से प्राप्त वस्तुएं प्रदर्शित की गयी हैं।

पुरातत्व[संपादित करें]

सिंधु घाटी सभ्यता का विस्तार और प्रमुख स्थल

इतिहास[संपादित करें]

नगर योजना[संपादित करें]

अर्थव्यवस्था और शहरी संस्कृति[संपादित करें]

प्राचीन कुआं और जल निकास नहरें

वास्तुकला का विकास[संपादित करें]

लोथल के घरों का स्नानघर-शौचालय

उत्तर हड़प्पा संस्कृति[संपादित करें]

लोथल का पुरातत्व स्थल

सभ्यता[संपादित करें]

विज्ञान और अभियांत्रिकी[संपादित करें]

प्रमुख जलनिकास नहर में इंटों का संयोजन

धर्म और मृतक संस्कार[संपादित करें]

धातु विज्ञान और आभूषण[संपादित करें]

एक तराशा हुआ औजार, संभवत: एक छैनी

कला[संपादित करें]

मिट्टी के बर्तनों के टुकड़े

लोथल की खुदाई[संपादित करें]

लोथल गोदी

गोदी और भंडारगृह[संपादित करें]

प्रमुख कुआं

प्रमुख और गौण शहर[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]