रघुनाथ विनायक धुलेकर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

रघुनाथ विनायक धुलेकर (7 जनवरी, 1891 — 1980) भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख सेनानी, लेखक, प्रथम लोकसभा के सदस्य तथा भारतीय संविधान सभा के सदस्य थे। उन्होने भारत छोड़ो आन्दोलन तथा दण्डी मार्च में सक्रिय भूमिका निभाई थी।

जीवन परिचय[संपादित करें]

धुलेकर जी का जन्म उत्तर प्रदेश के झाँसी में हुआ था। १० मई १९१२ को उनका विवाह जानकी से हुआ। उन्होने कोलकाता विश्वविद्यालय से १९१४ में बीए की डिग्री प्राप्त की और १९१६ में इलाहाबाद विश्वविद्यालय से एम ए की उपाधि प्रप्त की। झांसी में उन्होने वकालत करना शुरू किया।

कृतियाँ[संपादित करें]

  • श्वेतश्वतरुपनिषद भाष्य
  • प्रश्नोपनिषद सरल भाष्यात्मदर्शी गीता भाष्य
  • चतुर्वेदानुगामी भाष्य
  • कठोपनिषद सरल भाष्य
  • 'पिलर्स आफ वेदान्त'

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]