मातृ दिवस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

इस अनुच्छेद को विकिपीडिया लेख Mother's Day के इस संस्करण से अनुवादित किया गया है.

Mother's Day
Mother's Day
A homemade cake, one of many ways a family might celebrate Mother's Day, or Mothering Sunday
द्वारा मनाया जाता है Many countries
प्रकार Historical
तिथि Varies regionally

आधुनिक मातृ दिवस का अवकाश ग्राफटन वेस्ट वर्जिनिया में एना जार्विस के द्वारा समस्त माताओं तथा मातृत्व के लिए खास तौर पर पारिवारिक एवं उनके आपसी संबंधों को सम्मान देने के लिए आरम्भ किया गया था।[1] यह दिवस अब दुनिया के हर कोने में अलग-अलग दिनों में मनाया जाता हैं। जैसे कि पिताओं को सम्मान देने के लिए पितृ दिवस की छुट्टी मनाई जाती हैं।

यह छुट्टी अंततः इतनी व्यवसायिक बन गई कि इसकी संस्थापक, एना जार्विस, तथा कई लोग इसे एक "होलमार्क होलीडे", अर्थात् एक प्रचुर वाणिज्यिक प्रयोजन के रूप में समझने लगे. एना ने जिस छुट्टी के निर्माण में सहयोग किया उसी का विरोध करते हुए इसे समाप्त करना चाहा.[1][2]

ऐतिहासिक पूर्ववृत[संपादित करें]

एक विचार धारा[कौन?] ने दावा किया कि मातृ पूजा का रिवाज़ पुराने ग्रीस से उत्पन्न हुआ है जो स्य्बेले ग्रीक देवताओं की मां थीं, उनके सम्मान में मनाया जाता था। यह त्यौहार एशिया माइनर के आस-पास और साथ ही साथ रोम में भी वसंत विषुव के आस-पास इदेस ऑफ़ मार्च (15 मार्च) से 18 मार्च तक मनाया जाता था।

प्राचीन रोमवासी एक अन्य छुट्टी मनाते थे, जिसका नाम है मेट्रोनालिया, जो जूनो को समर्पित था, यद्यपि इस दिन माताओं को उपहार दिये जाते थे।

यूरोप और ब्रिटेन में कई प्रचलित परम्पराएं हैं जहां एक विशिष्ट रविवार को मातृत्व और माताओं को सम्मानित किया जाता हैं जिसे मदरिंग सन्डे कहा जाता था। मदरिंग सन्डे समारोह, अन्ग्लिकान्स सहित, लितुर्गिकल कैलेंडर का हिस्सा है, जो कई ईसाई उपाधियों और कैथोलिक कैलेंडर में लेतारे सन्डे, चौथे रविवार लेंट में वर्जिन मेरी और "मदर चर्च" को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता हैं। परम्परानुसार इस दिन प्रतीकात्मक उपहार देने तथा कुछ परम्परागत महिला कार्य जैसे अन्य सदस्यों के लिए खाना बनाने और सफाई करने को प्रशंसा के संकेत के रूप में चिह्नित किया गया था।[तथ्य वांछित]

मातृ दिवस, अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में कई देशों में 8 मार्च को मनाया जाता हैं।

"मदर डे प्रोक्लामेशन" जुलिया वार्ड होवे द्वारा सर्वप्रथम अमेरिका में मातृ दिवस मनाया गया था। होवे द्वारा 1870 मे रचित "मदर डे प्रोक्लामेशन" में अमेरिकन सिविल वार (युद्घ) और फ्रांको-प्रुस्सियन वार में हुई-मारकाट में शांतिवादी प्रतिक्रिया लिखी गयी थी। यह प्रोक्लामेशन होवे का नारीवादी विश्वास था जिसके अनुसार महिलाओं को राजनीतिक स्तर पर अपने समाज को आकार देने का सम्पूर्ण दायित्व मिलना चाहिए.

वर्तनी[संपादित करें]

1912 में एना जार्विस ने "सेकंड सन्डे इन मे" और "मदर डे" कहावत को ट्रेडमार्क बनाया और मदर डे इंटरनेशनल एसोसिएशन का सृजन किया।[1][3]

"She was specific about the location of the apostrophe; it was to be a singular possessive, for each family to honour their mother, not a plural possessive commemorating all mothers in the world."[1]

अमेरिकी राष्ट्रपति वुड्रो विल्सन, अमेरिकी कांग्रेस द्वारा बिल,[4][5] पर तथा अन्य अमेरिकी राष्ट्रपतियों द्वारा उनकी घोषणाओं में छुट्टी को पंजीकृत करने के लिए इसी वर्तनी का कानूनी रूप में व्यवहार होता हैं।[6]

अंग्रेजी भाषा में साधारण रूप से एकवचन सम्बन्धवाचक में "मदर्स डे" वर्तनी का प्रयोग होता हैं हालांकि "मदर्स डे" (बहुवचन सम्बन्धवाचक) अनसुना नहीं हैं।

दुनिया भर की तिथियां[संपादित करें]

मातृ दिवस दुनिया भर में अलग-अलग दिनों में मनाया जाता हैं।गूगल खोज की जांच प्रवृति के अनुसार "मातृ दिवस" के दो प्राथमिक परिणाम सामने आते हैं, वो है,लेंट में मदरिंग सन्डे की ब्रिटिश परंपरा से चौथे सन्डे (रविवार) का छोटा हिस्सा और मई के दूसरे सन्डे को सबसे बड़ा हिस्सा.[7]

जैसा कि अमेरिकी छुट्टी अन्य देशों और संस्कृतियों के द्वारा अपनाया गया था, इसलिए पहले से ही मातृत्व सम्मान का जश्न मनाने के लिए तारीख बदली गई, जैसे कि UK में मदरिंग सन्डे या यीशु के ग्रीस के मंदिर में परम्परानिष्ठ उत्सव मनाये जाते हैं। कुछ देशों में बहुसंख्यक धर्मों के महत्त्वपूर्ण तिथियों की महत्ता को सम्मानित करने के लिए तारीख बदली गयी, जैसे कि कैथोलिक देशों में वर्जिन मेरी डे अथवा इस्लामी देशों में पैगंबर मुहम्मद की बेटी के जन्मदिन के मामले में हुआ। अन्य देशों ने इन्हें ऐतिहासिक तारीखों में बदल दिया, जैसे बोलीविया ने उस खास युद्ध की तारीख का उपयोग किया जिसमें महिलाओं ने हिस्सा लिया था। पूरी सूची के लिए "इंटरनेशनल हिस्ट्री एंड ट्राडिशंस" देखें.


अंतर्राष्ट्रीय इतिहास और परम्पराएं[संपादित करें]

अधिकांश देशों में, मातृ दिवस हाल ही में पालन की गयी छुट्टियों से व्युत्पन्न है जो उत्तरी अमेरिका और यूरोप में विकसित हुई है। जब यह अन्य देशों और संस्कृतियों के द्वारा अपनाया गया था तब इसे दूसरा अर्थ दिया गया, जो अलग घटनाओं (धार्मिक, ऐतिहासिक या पौराणिक) से जुड़े थे और अलग-अलग तारीख या तारीखों पर मनाये जाते थे।

कुछ देशों में पहले से ही मातृत्व का सम्मान करने के लिए समारोह था और उन्होंने समारोह का पालन करने के लिए अपनी स्वयं की मां को गुलनार फूल और अन्य उपहार देने जैसी कई बाहरी विशेषताएं अमेरिकन छुट्टियों से ली गयीं .

इस समारोह को मनाने का अपना-अपना तौर-तरीका हैं। कुछ देशों में अगर मातृत्व दिवस के उपलक्ष्य पर अपनी मां को सम्मानित नहीं किया गया तो यह अपराध माना जाता हैं। कुछ देशों में, यह एक छोटे से प्रसिद्ध त्योहार के रूप में मनाया जाता हैं, जो अप्रवासियों या मीडिया के अनुसार विदेशी संस्कृति (वैसे ही जैसे कि ब्रिटेन और अमेरिका में दिवाली का त्यौहार) की देन हैं।

धर्म[संपादित करें]

कैथोलिक धर्म में यह छुट्टी वर्जिन मेरी के श्रद्धांजली देने की प्रथा के साथ जुड़ा हुआ हैं।[8]

हिंदू परंपरा में, इसे "माता तीर्थ औंशी" या "मदर पिल्ग्रिमेज फोर्टनैट" कहा जाता हैं और यह हिंदू जनसंख्या वाले देशों, विशेष रूप से नेपाल में, मनाया जाता हैं।

देश[संपादित करें]

अफ्रीकी देश[संपादित करें]

कई अफ्रीकी देशों ने एक ही तरह का मातृ दिवस मनाने का तरीका ब्रिटिश परंपरा से अपनाया हैं, हालांकि मातृ दिवस मनाने के कई समारोह और घटनाएं जो अफ्रीका के यूरोपीय शक्तियों द्वारा उपनिवेशित होने से पहले कई विभिन्न संस्कृतियों के अंतर्गत अफ्रीकन महाद्वीप में मनाया जाता था।

बोलीविया[संपादित करें]

बोलीविया में, मातृत्व दिवस 27 मई को मनाया जाता हैं। इसे कोरोनिल्ला युद्घ को स्मरण करने के लिए 8 नवम्बर 1927 को कानून पारित किया गया। यह युद्ध 27 मई 1812 को उस जगह हुआ था जो अब कोचाबाम्बा का शहर कहलाता है। इस लड़ाई में, उन महिलाओं का स्पेनिश सेना द्वारा सरेआम कत्ल कर दिया गया जो देश की आजादी के लिए लड़ रही थी।

चीन[संपादित करें]

चीन में, मातृ दिवस और अधिक लोकप्रिय होता जा रहा है और इस दिन उपहार के रूप में गुलनार का फूल, जो बहुत लोकप्रिय हैं सबसे अधिक बिकते हैं।[9] ये दिन गरीब माताओं की मदद के लिए 1997 में निर्धारित किया गया था। खासतौर पर लोगों को उन गरीब माताओं की याद दिलाने के लिए जो ग्रामीण क्षेत्रों, जैसे कि पश्चिम चीन में रहती थीं।[9]पीपुल्स डेली में, जो चीन के कम्युनिस्ट पार्टी की पत्रिका हैं उसमें, एक लेख में कहा गया था कि संयुक्त राष्ट्र में इस दिन का प्रादुर्भाव होने के बावजूद, चीन के लोग इस छुट्टी को बिना किसी हिचकिचाहट के मनाते हैं क्योंकि ये परम्परागत नीतियों, बुजुर्गों के प्रति सम्मान और संतानों का माता-पिता के प्रति धर्मनिष्ठा, के रूपरेखा के अंतर्गत आते हैं।[9]

हाल ही के कुछ सालों में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य ली हंकिऊ ने मातृ दिवस को मेंग मु, जो मेंग जी की मां थीं, की याद में कानूनी मान्यता देने के लिए हिमायत की और 100 कन्फ़ुसियन विद्वान और नैतिकता के प्रवक्ताओं की मदद से गैर सरकारी संगठन बनाया जिसका नाम चाइनिज मदर फेस्टिवल प्रोमोशन सोसाइटी है।[10][11] उन्होंने पश्चिमी उपहार गुलनार के बदले सफ़ेद लिली देने के लिए कहा जो प्राचीन समय में चीनी महिलाओं द्वारा तब लगाया जाता था जब उनके बच्चे अपना घर छोड़कर जाते थे।[11] सिर्फ कुछ छोटे शहरों के अलावा, यह एक अनौपचारिक त्यौहार रह गया है।

ग्रीस[संपादित करें]

ग्रीस में मातृ दिवस के रूप में यीशु की प्रस्तुति मंदिर में पूर्वी रूढ़िवादी उत्सव मनाया जाता था। चूंकि थियोटोकोस (परमेश्वर की मां), जो मसीह को यरूशलेम के मंदिर तक लाने के कारण प्रमुख रूप से इस उत्सव से संलग्न हैं इसलिए यह दावत माताओं के साथ जुड़ी है।[तथ्य वांछित]

ईरान[संपादित करें]

मुहम्मद की बेटी फातिमा का सालगिरह 20 जुमादा अल-ठानी को मनाया जाता है।[12] यह ईरानी क्रांति के बाद बदल दिया गया था, इसका कारण नारीवादी आंदोलनों के सिद्धांतों को हटा कर पुराने पारिवारिक आदर्शों के लिए आदर्श प्रतिरूप को बढ़ावा देना था।[13][14] यह पहले ईरानी कैलेंडर में शाह युग[तथ्य वांछित] के दौरान 25 अजार था।

जापान[संपादित करें]

प्रारम्भ में मातृ दिवस जापान में शोवा अवधि के दौरान महारानी कोजुन(सम्राट अकिहितो की मां) के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता था। आजकल यह एक विपणन छुट्टी है जिसमें लोग गुलनार के फूल और गुलाब उपहार के रूप में देते हैं।

मेक्सिको[संपादित करें]

अलवारो ओब्रेगोन की सरकार ने एक्सेलसियर अख़बार के साथ मिलकर 1922 में यह छुट्टी अमेरिका से अपनाई जिसके लिए उस साल जबरदस्त संवर्धन अभियान चलाया गया।[15] रूढ़िवादी सरकार ने इस छुट्टी को माताओं को अपने परिवार में अधिक रूढ़िवादी भूमिका निभाने के लिए इस्तेमाल किया था जिसकी समाजवादियों ने आलोचना करते हुए कहा था कि ये औरतों की एक असत्य छवि को बदावा देते हैं जिसके अनुसार औरत प्रजनन मशीन से ज्यादा कुछ नहीं हैं।[15]

लाज़रो कार्देनस की सरकार ने 1930 के मध्य में इसे "देशभक्ति का त्यौहार" के रूप में बढ़ावा दिया.कार्देनस सरकार ने इस छुट्टी का उपयोग विभिन्न प्रयासों के लिए एक साधन के रूप में यह सोचते हुए किया कि परिवार का राष्ट्र के विकास में बहुत योगदान होता हैं और मेक्सिकन लोगों में अपनी मां के प्रति वफादारी का लाभ उठाते हुए चर्च और कैथोलिक प्रथाओं के प्रभावों को कम करते हुए मेंक्सिकन महिलाओं में नई नैतिकता का सूत्रपात किया।[16] सरकार ने स्कूलों में छुट्टी को प्रायोजित किया।[16] हालांकि, नाटकशाला के नाटकों ने सरकार के इन सख्त निर्देशों को नजरअंदाज कर दिया और इस प्रकार के नाटक धार्मिक प्रतीकों और विषयों से भर गए और सरकार की अनेक चेष्टाओं के बावजूद ये "राष्ट्रीय समारोह" "धार्मिक त्योहार" बन गए।[16]

सोलेदाद ओरोज्को गार्सिया, राष्ट्रपति मैनुअल एविला कामाचो की पत्नी ने, इस छुट्टी को सन् 1940 के दशक के दौरान इसे एक महत्वपूर्ण राज्य प्रायोजित समारोह बनाने में बढ़ावा दिया.[17] 1942 का उत्सव एक पूरे हफ्ते तक चला, जिसमें यह घोषणा करवा दी गयी कि सभी महिलाएं पव्नेद सिलाई मशीनों को मोंटे दे पिएदाद से बिना मूल्य पुनः प्राप्त कर सकती हैं।[17]

कैथोलिक राष्ट्रीय स्य्नार्चिस्ट संघ (UNS) ने 1941 के आसपास की छुट्टियों पर ओरोज्कोस की तरक्की के लिए ध्यान देना शुरू कर दिया था।[18] मैक्सिकन क्रांति (आजकल PRI) के सदस्यों जिनकी दुकानें थीं, उनका रिवाज था कि विनम्र वर्ग की महिलाएं मात् दिवस पर उनकी दुकानों पर जाकर कोई भी उपहार मुफ्त में लेकर अपने घर आकर परिवार वालों को दे सकती हैं। स्य्नार्चिस्ट्स इस बात पर चिंतित थे कि यह दोनों भौतिकवाद और निम्न वर्ग के आलस्य को बढ़ावा देगा और बदले में देश के पद्धतिबद्ध सामाजिक समस्याओं को सुदृढ बना देगा.[19] आजकल हम देखते हैं कि वह छुट्टी की प्रथा बहुत रूढ़िवादी बन गयी है, 1940 का UNS नजर रखे था इस छुट्टी के आधुनिकीकरण पर जो उस समय व्यापक बहस का एक भाग था।[20] यह आर्थिक आधुनिकीकरण अमेरिकी आदर्श द्वारा प्रेरित किया गया था तथा राज्य ने इसे प्रायोजित किया था और सच्चाई यह थी कि ये छुट्टी मूलतः अमेरिका से आयात की गयी थी, जिसका एकमात्र सबूत था मैक्सिकन समाज पर कैपिटलाइज़ेशन और भौतिकवाद थोपने का एक प्रयास.[20]

इसके अलावा, UNS और लियोन नगर के पादरी ने सरकारी कार्यों में यह देखा कि वे छुट्टी को किसी लौकिक-कार्य में लगा कर समाज में महिलाओं की सक्रिय भूमिका को बढ़ावा देने के साथ, पुरुषों को दीर्घकालिक आत्मिक रूप से कमजोर बना दिया जब महिलाओं ने अपनी पारंपरिक भूमिका को परित्यक्त कर दिया.[20] उन्होंने इन छुट्टियों को वेर्जिन मेरी पंथ के लौकिक कार्य के रूप में भी अजमाना चाहा, कई छुट्टियों को देक्रिस्तानिज करने के लिए अंदरूनी एक बड़ा प्रयास चल रहा था, जिस पर उन्होंने बड़े पैमाने पर रोक लगाने की कोशिश की और धार्मिक महिलाओं से राज्य के कार्यक्रम में उनकी सहायता करने तथा उन्हें "देपेग्निज" करने का प्रयास किया।[21] उसी समय 1942 में सोलेदाद का छुट्टी का सबसे बड़े उत्सव के रूप में, पादरियों ने लियोन में वर्जिन मेरी का 210वां अनुष्टान समारोह एक बड़े परेड के साथ आयोजित किया।[21]

यहां विद्वानों के विचारो में मेल है कि मैक्सिकन सरकार ने 1940 के दशक के दौरान क्रांति को त्याग दिया, जिसमें मातृ दिवस को प्रभावित करना भी शामिल था।[18] आजकल मैक्सिको में मातृ दिवस और वर्जिन मेरी दोनों ही छुट्टी का एक उत्सव हैं।

नेपाल[संपादित करें]

"माता तीर्थ औंशी", जिसका अनुवाद है "मदर पिल्ग्रिमेज फोर्टनाईट" जो बैशाख के महीने के कृष्ण पक्ष में पड़ता हैं। यह त्यौहार अमावस्या के दिन होता है, इसलिए इसे "माता तीर्थ औंशी" कहते हैं। यह शब्द "माता" अर्थात् मां और "तीर्थ" अर्थात् तीर्थयात्रा शब्द से व्युत्पन्न हुआ हैं। यह त्यौहार जीवित और स्वर्गीय माताओं के स्मरणोत्सव और सम्मान में मनाया जाता है, जिसमें जीवित माताओं को उपहार दिया जाता हैं तथा स्वर्गीय माताओं का स्मरण किया जाता हैं। नेपाल की परंपरा में माता तीर्थ की तीर्थयात्रा पर जाना प्रचलित हैं जो काठमांडू घाटी के माता तीर्थ ग्राम विकास समिति की परिधि के पूर्व में स्थित हैं।

इस तीर्थ यात्रा के संबंध में एक किंवदंती हैं। प्राचीन समय में भगवान श्री कृष्ण की मां देवकी प्राकृतिक दृश्य देखने के लिए घर से बाहर निकल गयी। उन्होंने कई स्थानों का दौरा किया और घर लौटने में बहुत देर कर दी.भगवान कृष्ण अपनी मां के न लौटने पर दुखी हो गए। वे अपनी मां की तलाश में कई स्थानों पर घूमते रहे परन्तु उन्हें सफलता नहीं मिली .अंत में, जब वह "माता तीर्थ कुंड" पहुंचे तो उन्होंने देखा कि उनकी मां तालाब के फुहार में नहा रही हैं। भगवान कृष्ण अपनी मां को देख कर बहुत खुश हुए और अपनी समस्त शोकपूर्ण घटना जो उनकी माता की अनुपस्थिति में हुई थी उनके आगे कहने लगे.मां देवकी ने कृष्ण भगवान से कहा कि "ओह!बेटा कृष्णा फिर तो इस स्थान को बच्चों की उनकी स्वर्गीय माताओं से मिलने का पवित्र स्थल ही रहने दिया जाये".तब से यह किंवदंती है कि यह स्थान एक पवित्र तीर्थयात्रा बन गया हैं जहां श्रद्धालु एवं भक्तगण अपनी स्वर्गीय माताओं को श्रद्धा अर्पण करने आते हैं। साथ ही यह भी किंवदंती हैं कि एक भक्त ने अपनी मां की छवि को तालाब में देखा और उसके अंदर गिर कर उसकी मृत्यु हो गई। आज भी वहां एक छोटे से तालाब को चरों तरफ से लोहे की सिकल से बांध दिया गया हैं। पूजा करने के पश्चात तीर्थयात्री वहां पूरे दिन गाने-बजाने का संपूर्ण आनद उठाते हैं। इस किंवदंती को साबित करने का ऐसा कोई भी सबूत नहीं है

थाईलैंड[संपादित करें]

थाईलैंड में मातृत्व दिवस थाइलैंड की रानी के जन्मदिन पर मनाया जाता है।[तथ्य वांछित]

रोमानिया[संपादित करें]

रोमानिया में ये दो अलग छुट्टियों, मातृ दिवस और महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है।[तथ्य वांछित]

यूनाइटेड किंगडम और आयरलैंड[संपादित करें]

यूनाइटेड किंगडम और आयरलैंड में, मदरिंग सन्डे लेंट के चौथे रविवार को पड़ता है, इस्टर सन्डे के ठीक तीन सप्ताह पहले (23 मार्च 2009 को). ऐसा माना जाता है कि इसका प्रादुर्भाव 16वीं सदी में ईसाइयों द्वारा प्रत्येक साल अपनी मां के गिरिजाघर में जाने से हुआ हैं, जिसका मतलब है कि अधिकतर माताएं अपनी संतानों से इस दिन मिल सकेंगी.अधिकांश इतिहासकार यह मानते हैं कि युवा नौ‍सिखिया और युवतियां सप्ताह के अंत में अपने स्वामी की गुलामी के बंधन से मुक्त हो कर अपने परिजनों से मिल सकते हैं।[22] धर्मनिरपेक्षता के फलस्वरूप, उचित हैं कि मां के प्रति श्रद्धा अर्पण किया जाये. हालांकि यह अभी भी ऐतिहासिक अर्थों में कुछ चर्चों द्वारा अभिमुल्यन हुआ हैं, पर मदर मेरी जो यीशु मसीह की मां हैं और साथ में परंपरागत संकल्पना 'मदर चर्च' को ध्यान में रखते हुए मान्यता प्राप्त हैं।

मदरिंग सन्डे जल्द से जल्द 1 मार्च (उस साल जब ईस्टर दिवस 22 मार्च को पड़ता है) या देर हुई तो 4 अप्रैल को (जब ईस्टर दिवस 25 अप्रैल को पड़ता है) तब मनाया जाता हैं।

संयुक्त राज्य (अमेरिका) / कनाडा[संपादित करें]

संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा मई के दूसरे रविवार को मातृ दिवस मनाते हैं।

वियतनाम[संपादित करें]

वियतनाम में मातृ दिवस को ले वू-लैन कहा जाता है और ये चंद्रनामा के सातवें महीने के पन्द्रहवें दिन मनाया जाता हैं। जो लोग अपनी मां के साथ रह रहे हैं उन्हें शुक्रगुजार होना चाहिए, जबकि जिनकी माताओं की मृत्यु हो गई है उन्हें अपनी मां की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करनी चाहिए.[तथ्य वांछित]

वाणिज्यीकरण[संपादित करें]

नौ साल के बाद पहले अधिकृत मातृ दिवस पर, अमेरिका में छुट्टी के व्यावसायीकरण होने के कारण इतनी उग्रता बढ गई कि एना जारविस खुद इस छुट्टी की मुख्य विरोधी हो गई तथा अपना समस्त जीवन और उत्तराधिकार इस छुट्टी की दुरुपयोगिता के विरूद्व लड़ने में बिता दिया.[1]

तत्पश्चात मातृ दिवस का वाणिज्यिक और अन्य शोषण के रूप में इस्तेमाल होता देख कर एना जबरदस्त क्रोधित हो गई और अपनी आलोचनाओं को सब के सामने स्पष्ट रूप से प्रस्तुत करने लगी.[1][2] उन्होंने शुभकामना कार्ड की खरीद की आलोचना की जिसे उन्होंने व्यक्ति द्वारा एक व्यक्तिगत पत्र लिखने में अतिरिक्त आलसी हो जाने के प्रतीक के रूप में देखा.वह 1948 में जब मदर्स डे के व्यावसायीकरण के खिलाफ विरोध कर रही थी तब शांति भंग करने के लिए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था और तब अंत में वह बोली कि "काश कि वो यह दिन शुरू नहीं करती क्योंकि यह नियंत्रण के बाहर हो गया।.."[2]

मातृ दिवस का दिन आज भी अमेरिका के उत्सवों में सबसे अधिक सफल वाणिज्यिक उत्सवों में से एक है।नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका में मातृ दिवस आजकल भोजनालय में खाने-पीने के लिए साल का सबसे लोकप्रिय दिन बन गया है।[23]

उदाहरण के लिए, IBISWorld, व्यापार शोध के प्रकाशक के अनुसार, अमरीकी लगभग 2.6 बिलियन डॉलर फूलों पर, 1.53 बिलियन डॉलर खुश करने वाले उपहारों पर-जैसे स्पा उपचार-और 68 मिलियन (1 मिलियन = 10 लाख) डॉलर शुभकामना कार्ड देने पर खर्च करेंगे.[24]

माताओं को अंगूठी देने की परंपरा के कारण अमेरिका के गहने उद्योग के वार्षिक राजस्व का 7.8% मातृत्व दिवस को ही प्राप्त होगा.[25]

यदि फूल एवं वाणिज्यिक उद्योगों द्वारा इसे लगातार समर्थन नहीं मिलता तो ऐसा सम्भव था कि ये छुट्टी बहुत पहले ही प्रचलन में नहीं रहती . चिल्ड्रेन्स डे और टेमपरेंस सन्डे जैसी प्रोटेस्टेंट छुट्टियां शुरू से ही इतनी लोकप्रिय नहीं हैं।[26]

यह भी देखें[संपादित करें]

नोट्स[संपादित करें]


संदर्भ[संपादित करें]

  1. Louisa Taylor, Canwest News Service (2008-05-11). "Mother's Day creator likely 'spinning in her grave'". Vancouver Sun. http://www.canada.com/vancouversun/news/story.html?id=c942370c-cdbb-43b2-af59-71ad4b546854. अभिगमन तिथि: 2008-07-07. 
  2. AP (2008-05-11). "Mother's Day reaches 100th anniversary, The woman who lobbied for this day would berate you for buying a card". MSNBC. http://www.msnbc.msn.com/id/24556903/. अभिगमन तिथि: 2008-07-07. 
  3. लारोस्सा, 1997, पृष्ठ 72 (फुटनोट 51)
  4. हाउस वोट # 274 (7 मई 2008) H Res. 1113: संयुक्त राज्य अमेरिका में माताओं की भूमिका का जश्न मनाने और मार्ग पर (वोट) के लक्ष्यों और माता का दिवस के आदर्शों का समर्थन.
  5. हाउस वोट # 275 (7 मई 2008) टैबिल प्रस्ताव पर पुनर्विचार करने के लिए: H RES 1113 अमेरिका में माताओं की भूमिका का जश्न मनाने और समर्थन के लक्ष्यों और माता का दिवस के आदर्शों.
  6. अमेरिकन प्रेसिडेंसी प्रोजेक्ट से प्रेसिडेंसियल प्रोक्लामेशनस् .
  7. "mothers day (sic)". Google Trends. Google. http://www.google.com/trends?q=mothers+day&ctab=0&date=all&geo=all. अभिगमन तिथि: 28 मई 2006. 
  8. Cordelia Candelaria, Peter J. García (2004). Encyclopedia of Latino popular culture (illustrated ed.). Greenwood Publishing Group. प॰ 375. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 031333210X, 9780313332104. http://books.google.es/books?id=STjcB_f7CVcC&pg=PA375&dq=mother%27s+day+virgin+mary. 
  9. people.com.cn, sina.com.cn (2008-06-17). "Researchers and Experts Propose a Chinese Mother's Day". All-China Women's Federation. http://www.womenofchina.cn/Issues/OPINION/204586.jsp. 
  10. "Do we need our own Mother's Day?". China Daily. 2007-05-16. http://www.chinadaily.com.cn/ezine/2007-05/16/content_873529.htm. 
  11. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; iranpresident नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  12. Shahin Gerami (1996). Women in Fundamentalism. New York: Garland Publishing. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-8153-0663-6. http://www.dhushara.com/book/zulu/islamp/wiff/wif.htm. "To this end, to counteract the Mother's Day of the previous regime, the state first moved it to December 16 [that was the date for that year?], to coincide with Fatemeh's birthday. Then it was expanded to a week with festivities, celebrations, speeches, gifts, prizes, and honors for achieving women." ऑनलाइन संस्करण
  13. Ali Akbar Mahdi (2003). "Iranian Women: Between Islamization and Globalization" (DOC). Iran Encountering Globalization: Problems and Prospects. Ali Mohammadi. London and New York: Routledge/Curzon. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0415308275. http://www.owu.edu/~aamahdi/globalization-final.doc. "Other role models for women often cited by the officials and ideologues of the IRI are Khadijah, the prophet Mohammad's wife, and Zaynab, daughter of the first Shi'i Imam Ali. In fact, the IRI replaced the universal Mother's Day with Fatima Zahar's birthday." 
  14. न्यूकमर, पृष्ठ 133
  15. शेरमेन, पृष्ठ 44
  16. न्यूकमर, पृष्ठ 133-134
  17. न्यूकमर, पृष्ठ 134
  18. न्यूकमर, 134-135
  19. न्यूकमर, 135-136
  20. न्यूकमर, 136-139
  21. "Mothering Sunday". Religion & Ethics (bbc.co.uk). http://www.bbc.co.uk/religion/religions/christianity/holydays/motheringsunday_1.shtml. अभिगमन तिथि: 2006-05-28. 
  22. प्रेस विज्ञप्ति:
  23. मंदी या नहीं: मां सबसे पहले (phillyBurbs.com) |लोकल बिजनेस
  24. Barnett Helzberg (2003). John Wiley and Sons. ed. What I Learned Before I Sold to Warren Buffet. प॰ 80. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0471445398. http://books.google.com/books?id=Vq-UzfJhqYAC&pg=PA80&dq=%22mother%27s+ring%22&lr=&client=opera&hl=es. 
  25. लिघ, पृष्ठ 256

ग्रंथ सूची[संपादित करें]

बाह्य लिंक[संपादित करें]