मणीन्द्र अग्रवाल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मणीन्द्र अग्रवाल
जन्म २० मई १९६६
इलाहाबाद, भारत
निवास कानपुर
राष्ट्रीयता भारतीय
क्षेत्र संगणक विज्ञान
संस्थाएँ भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर
मातृसंस्था भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर
डॉक्टरेट छात्र नितिन सक्सेना
नीरज कयाल
प्रसिद्ध कार्य ऐकेएस पराएमीलिटी टेस्ट
पुरस्कार शांति स्वरूप भटनागर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पुरस्कार (२००३)
गोडेल पुरस्कार (२००६)
पद्म श्री (२०१३)

मणीन्द्र अग्रवाल (जन्म: २० मई, १९६६, इलाहाबाद) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर के संगणक विज्ञान एवं अभियान्त्रिकी विभाग में प्रोफेसर है। संगणक विज्ञान के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सन् २०१३ में भारत सरकार ने उन्हें पद्म श्री प्रदान किया।[1]

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

अग्रवाल ने आईआईटी कानपुर से बी.टेक. एवं पीएचडी की उपाधियाँ प्राप्त की।


जीवन-वृत्ति[संपादित करें]

उन्होंने नीरज कयाल एवं नितिन सक्सेना के साथ मिलकर ऐकेएस पराएमीलिटी टेस्ट का आविष्कार किया, जिसके लिए उन्हें उनके सहकर्ताओं के साथ संयुक्त रूप से वर्ष २००६ का प्रतिष्ठित गोडेल पुरस्कार मिला।[2]

वर्ष २००८ में गणित के क्षेत्र में उनके असीम योगदान के लिए अग्रवाल का चयन प्रथम इन्फोसिस गणित पुरस्कार हेतु किया गया।[कृपया उद्धरण जोड़ें]


संदर्भ[संपादित करें]

  1. "राजेश खन्ना व जसपाल भट्टी को मरणोपरांत पद्मभूषण". दैनिक जागरण (नई दिल्ली). २६ जनवरी २०१३. http://www.jagran.com/news/national-padma-bhushan-for-rajesh-khanna-jaspal-bhatti-10074864.html. अभिगमन तिथि: २८ जनवरी २०१३. 
  2. मणीन्द्र अग्रवाल. "प्रकाशन". http://www.cse.iitk.ac.in/~manindra/publications.html. अभिगमन तिथि: १६ नवम्बर २०१०. 

बाह्य सूत्र[संपादित करें]