भूपर्पटी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
बुध ग्रह की आतंरिक संरचना - '1' द्वारा नामांकित सबसे बाहरी परत पर्पटी (क्रस्ट) है

भूपर्पटी या क्रस्ट (अंग्रेज़ी: crust) भूविज्ञान में किसी पथरीले ग्रह या प्राकृतिक उपग्रह की सबसे ऊपर की ठोस परत को कहते हैं। यह जिस सामग्री का बना होता है वह इसके नीचे की भूप्रावार (मैन्टल) कहलाई जाने वाली परत से रसायनिक तौर पर भिन्न होती है। हमारे सौरमंडल में पृथ्वी, शुक्र, बुध, मंगल, चन्द्रमा, आयो और कुछ अन्य खगोलीय पिण्डों के भूपटल ज़्यादातर ज्वालामुखीय प्रक्रियाओं में बने हैं (यानि अंदर से उगले गये हैं)।[1] अन्तरिक्ष से देखने पर पृथ्वी लगभग गोलाकार गेंद की भाँति दिखाई देती है। इस गोलाकार पृथ्वी की पर्पटी की संतरे के छिलके से तुलना की जा सकती है। मोटाई के आधार पर यह सबसे पतली परत है और इसकी औसत मोटाई लगभग ३३ कि॰ मी॰ मानी जाती है। भूपर्पटी हल्की चट्टानों से बनी है जिसमें सिलिका और आक्सीजन की प्रधानता है।

रासायनिक संगठन[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Science and Health Today, pp. 247, Rex Bookstore, Inc., ISBN 9789712318962, ... The earth is composed of three layers: the crust, the mantle, and the core. Look at the illustration. The crust is the thinnest and the outermost layer. The mantle is the thickest and the middle layer. The core is the innermost layer ...