स्वर्गपक्षी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
स्वर्गपक्षी
Bird-of-paradise
विल्सन स्वर्गपक्षी (Cicinnurus respublica)
विल्सन स्वर्गपक्षी (Cicinnurus respublica)
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: जंतु
संघ: कौरडेटा (Chordata)
वर्ग: पक्षी (Aves)
गण: पासरीफ़ोर्मीज़ (Passeriformes)
उपगण: पासेराए (Passeri)
कुल: पैराडाएसियेडाए (Paradisaeidae)
विगोर्ज़, १८२५
विविधता

१४ वंश, ४१ जातियाँ

स्वर्गपक्षी या बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ पासरीफ़ोर्मीज़ (Passeriformes) गण के पैराडाएसियेडाए (Paradisaeidae) कुल के सदस्य हैं। इस जाति की अधिकांश जातियाँ न्यू गिनी के द्वीप और इसके समीपी क्षेत्रों में पाई जाती हैं, तथा कुछ प्रजातियाँ मोलुक्कास और पूर्वी ऑस्ट्रेलिया में पाई जाती हैं। इस जाति की 13 श्रेणियों में 40 प्रजातियां हैं। अधिकांश प्रजातियों में नरों के पंखों के कारण इस जाति के सदस्य प्रसिद्ध हैं, ये पंख विशेष रूप से अत्यधिक लंबे होते हैं तथा चोंच, डैनों एवं सिर पर फैले हुए परों के रूप में होते हैं। इनकी अधिकांश संख्या घने वर्षावनों तक ही सीमित हैं। सभी प्रजातियों का प्रमुख आहार फल तथा कुछ हद तक कीड़े मकोड़े हैं। बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ पक्षियों में प्रजनन की विभिन्न प्रणालियां हैं जो एक मादा से लेकर सामूहिक रूप से कई मादाओं पर आधारित होती है।

न्यू गिनी के निवासियों के लिए इस जाति का सांस्कृतिक महत्व है। बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ की खालों तथा पंखों का व्यापार दो हज़ार साल पुराना है, तथा पश्चिमी संग्रहकर्ताओं, पक्षी वैज्ञानिकों एवं लेखकों की इन पक्षियों में काफी रूचि है। शिकार तथा निवास स्थलों की हानि के कारण कई प्रजातियां खतरे में हैं।

विवरण[संपादित करें]

बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ का शरीर आम तौर पर कौवे जैसा होता है तथा वास्तव में ये कॉर्विड्स प्रजाति (कौवे तथा नीलकंठ) से संबंधित हैं। बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ पक्षी विभिन्न आकारों में पाए जाते हैं जो किंग बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ 50 ग्रा (1.8 औंस) और 15 सेमी (5.9 इंच) से ले कर कर्ल-क्रेस्टेड मनुकोड 44 सेमी (17 इंच) व 430 ग्रा (15 औंस) तक के आकार के होते हैं। अपनी लंबी पूंछ के साथ नर ब्लैक सिक्लेबिल सभी प्रजातियों में सबसे लंबी प्रजाति है।110 सेमी (43 इंच) सभी प्रजातियों में नर मादा से बड़े और लंबे होते हैं, तथा यह अंतर मामूली से लेकर विशाल आकार तक का हो सकता है। पंख गोल होते हैं और कुछ प्रजातियों में ध्वनि निकालने के लिए संरचनात्मक रूप से संशोधित होते हैं। पूरी जाति में चोंच के आकार में विविधता पाई जाती है। सिक्लेबिल व राइफ़लबर्ड प्रजातियों में चोंच लंबी तथा अवक्राकार हो सकती है तथा एस्ट्रापिया में छोटी और पतली हो सकती है। लिंग के आधार पर शरीर के साथ-साथ चोंच का औसत आकार बदलता रहता है, हालांकि आम तौर पर नरों की तुलना में लंबी चोंच वाली मादाओं की प्रजातियां अधिक हैं और ऐसा विशेष रूप से कीट खाने वाली प्रजातियों में है।[1] नरों के भड़कीले आकर्षक रंगों वाले पंखों की तुलना में मादाओं के छद्मावरण पंख विशेष रूप से अपने निवास के रंगों में अच्छी तरह घुल मिल जाते हैं।[2]

विभिन्न लिंगों के बीच पंखों में भिन्नता प्रजनन प्रणाली से बारीकी से संबंधित है। मनुकोड और पैराडाइज़ क्रो, जो सामाजिक रूप से एक मादा के साथ रहते हैं, लैंगिक तौर पर मोनोमोर्फिक (अर्थात जिनका जीनोटाइप एक ही प्रकार का होता है) होते हैं। इसी तरह पैराडिगाला की दो प्रजातियां हैं जो एक से अधिक मादा के साथ रहती हैं। इन सभी प्रजातियों के हरे और नीले रंग की घटती बढ़ती मात्रा के साथ आम तौर पर काले पंख होते हैं।[1]

निवास और विस्तार[संपादित करें]

ब्राउन सिकेलबिल्स पर्वतीय प्रजातियां हैं

न्यू गिनी का विशाल द्वीप बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ पक्षियों की विविधता का प्रमुख केंद्र है; केवल दो को छोड़ कर बाकी सभी प्रजातियां न्यू गिनी पर पाई जाती हैं। जो दो प्रजातियां यहां नहीं पाई जातीं, वे हैं मोनोटाइपिक श्रेणी की लाइकोकॉरेक्स तथा सेमिप्टेरा, जो न्यू गिनी के पश्चिम में स्थित मोलुक्कास की निवासी हैं। टिलोरिस वर्ग के राइफलबर्ड पक्षियों की दो प्रजातियां पूर्वी ऑस्ट्रेलिया के तटीय जंगलों में पाई जाती हैं, एक ऑस्ट्रेलिया तथा न्यू गिनी दोनों जगहों पर पाई जाती हैं, तथा एक प्रजाति केवल न्यू गिनी में मिलती है। केवल मनुकोडिया एक वर्ग है जिसकी प्रजातियां न्यू गिनी के बाहर पाई जाती हैं, तथा इनका एक प्रतिनिधि क्वींसलैंड के उत्तरी छोर पर पाया जाता है। शेष प्रजातियां न्यू गिनी और आसपास के द्वीपों तक सीमित हैं। कई प्रजातियां अत्यधिक सीमित क्षेत्रों में मिलती हैं, विशेष रूप से मध्य-पर्वतीय वन (जैसे ब्लैक सिक्लेबिल) या द्वीप स्थलों (जैसे विल्सन बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़) जैसे सीमित निवास स्थानों में पाई जाने वाली कुछ प्रजातियां.[1]

बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ की अधिकांश प्रजातियां वर्षा वनों, दल-दली जगहों, तथा काई के वनों सहित उष्णकटिबंधीय वनों में पाई जाती हैं,[1] लगभग सभी प्रजातियां एकांत रूप से वृक्षों पर निवास करती हैं।[2] तटीय सदाबहार वनों में कई प्रजातियां पाई जाती हैं।[3] सुदूर दक्षिण में पाई जाने वाली ऑस्ट्रेलिया की पैराडाइज़ राइफलबर्ड प्रजातियां उप उष्णकटिबंधीय और शीतोष्ण नम वनों में रहती हैं। एक समूह के रूप में मनुकोड अपने निवास स्थलों के प्रति सबसे अधिक अनुकूलित स्वभाव वाले होते हैं, जिसमे से विशेष रूप से ग्लॉसी-मेंटल्ड मनुकोड वनों तथा सवाना वुडलैंड, दोनों जगहों पर निवास करते हैं।[1] मध्य-पर्वतीय निवास स्थल सर्वाधिक आबादी वाले निवास स्थल हैं, चूंकि 40 में से 30 प्रजातियां 1000-2000 मीटर की ऊंचाइयों पर पाई जाती हैं।[3]

आचरण[संपादित करें]

आहार एवं पोषण[संपादित करें]

वर्ग शेफ्लेरा का फल रिबन टेल्ड एस्ट्रापिया के आहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं
पुरुष ग्रेटर पैराडाइज़ पक्षी का प्रदर्शन

बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ का प्रमुख आहार फल और कीट हैं। प्रजातियों में दोनों प्रकार के आहारों के अनुपात में विभिन्नता है, कुछ प्रजातियों में फलों को खाने वाले पक्षी अधिक हैं और दूसरी प्रजातियों में कीटों को खाने वाले पक्षी अधिक हैं। दोनों का यह अनुपात प्रजातियों के व्यवहार के अन्य पहलुओं को प्रभावित करता है, उदाहरण के लिए फ्रुगिवोर्स (फल खाने वाली) प्रजातियां जंगलों में पेड़ों के ऊपर मिलती हैं, जबकि इन्सेक्टिवोर्स (कीट खाने वाली) प्रजातियां अधिक नीची जगहों पर भोजन करती हैं। फ्रुगिवोर्स इन्सेक्टिवोर्स की तुलना में अधिक सामाजिक होते हैं जबकि इन्सेक्टिवोर्स अधिक एकाकी तथा प्रादेशिक होते हैं।[1]

प्रजनन[संपादित करें]

अधिकांश प्रजातियों में विस्तृत संभोग पद्धतियां पाई जाती हैं, जिनमे से पैराडाइसिया प्रजातियां सामूहिक संभोग आधारित प्रणाली अपनाती हैं। सिसीन्नुरुस और पैरोटिया जैसी प्रजातियों में अत्यधिक रस्मों वाले संभोग नृत्य होते हैं। लैंगिक रूप से द्विलिंगी प्रजातियों में नर एक से अधिक मादाओं से संबंध बनाते हैं जबकि कुछ एकलिंगी प्रजातियों में एक मादा से संबंध भी रखते हैं। इन पक्षियों में संकरण बहुत आम है, जिससे यह पता चलता है कि एक से अधिक प्रजातियों की मादाओं से संबंध बनाने वाले बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ विभिन्न वर्गों से संबंध रखने के बावज़ूद आपस में नजदीकी से जुड़े हैं। कई संकर प्रजातियों को नई प्रजातियों के रूप में वर्णित किया गया है और यह संदेह रहता है कि क्या रोथ्सचाइल्ड लोब-टेल्ड जैसे बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के कुछ प्रकार वैध हैं अथवा नहीं.[कृपया उद्धरण जोड़ें] संकर प्रजातियों की उपस्थिति के बावजूद, कुछ पक्षी विज्ञानी यह तर्क देते हैं कि कम से कम कुछ विख्यात वैध संकर प्रजातियां मौजूद हैं जो विलुप्त हो सकती हैं।[4]

बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ अपना घोंसला पत्तों, पंखों, लताओं के तंतुओं जैसी मुलायम सामग्री से बनाते हैं जो विशेष रूप से पेड़ की टहनियों पर रखी जाती है।[5] अण्डों की संख्या कुछ हद तक अनिश्चित है। बड़ी प्रजातियों में, यह संख्या लगभग हमेशा केवल एक अंडा होती है। छोटी प्रजातियां 2-3 अंडे दे सकती हैं।[6] 16-22 दिनों के बाद अंडे से पक्षियों के बच्चे निकलते हैं और युवा पक्षी 16 से 30 दिनों की उम्र में घोंसला छोड़ देते हैं।[5]

वर्गीकरण तथा क्रमबद्धता[संपादित करें]

कई सालों तक बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ को बोवेरबर्ड से संबंधित माना जाता था। क्योंकि आज दोनों को ऑस्ट्रेलेसियन वंशज कोर्विडा का हिस्सा माना जाता है, इसलिए दोनों को केवल दूर के संबंधी माना जाता है। बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ से सबसे नजदीकी संबंधी कोर्विड प्रकार के कौवे और नीलकंठ, मोनार्क फ्लाईकैचर मोनार्काइडे तथा ऑस्ट्रेलियाई मुडनेस्टर स्ट्रुथीडिडे हैं।[1]

इस जाति तथा इसके नजदीकी संबंधियों का आपस में संबंध का पता लगाने के लिए 2009 में किए गए एक अध्ययन में सभी प्रजातियों के माइटोकॉन्ड्रियल डीएनए के परीक्षण से यह अनुमान लगाया गया कि इस जाति का उद्भव 24 लाख साल पहले हुआ था जो कि इसके पिछले अध्ययन द्वारा अनुमानित समय से अधिक पुराना है। अध्ययन में जाति के भीतर पांच जीव समूहों की पहचान की गई तथा पहले जीव समूह के बीच विभाजन किया गया जिसमे एकलिंगी मनुकोड तथा पैराडाइज़ कौवे शामिल हैं तथा बाकी सभी बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ दस लाख वर्ष पुराने हैं। दूसरे जीव समूह में पैरोटिया तथा किंग ऑफ़ सेक्सॉनी बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ शामिल हैं। तीसरे जीव समूह में सेल्युसाइडिस, ड्रेपानोर्निस सिक्लेबिल, सेमिओप्टेरा, टिलोरिस तथा लोफोरिना जैसे कई वर्ग शामिल हैं लेकिन इनमे से कुछ को शामिल करने को समर्थन प्राप्त नहीं है। चौथे जीव समूह में एपिमाकुस सिक्लेबिल, पैराडिगाला और एस्ट्रापिया शामिल हैं। अंतिम जीव समूह में सिसीन्नुरुस और पैराडाइसिया बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ शामिल हैं।[7]

जाति की सटीक सीमा संशोधन का विषय भी रही है। साटिनबर्ड (नेमोफिलस तथा लोबोपैराडाइसिया) की तीन प्रजातियों को बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, नेमोफिलिने के एक उपपरिवार से संबंधित माना गया है। मुंह, पैरों की आकृति तथा घोंसले बनाने की आदतों में विभिन्नता के बावजूद वे इस जाति में बने रहे जब तक कि 2000 के एक अध्ययन में उन्हें बैरीपैकर तथा लॉन्गबिल (मेलानोचेरिटिडेइ) के संबंधी के रूप में अलग जाति सिद्ध नहीं कर दिया गया.[8] इसी अध्ययन में पाया गया कि मेक्ग्रेजर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ वास्तव में ऑस्ट्रेलेसियन हनीईटर जाति का सदस्य था। इन तीनों प्रजातियों के अलावा, कई व्यवस्थित रहस्यपूर्ण प्रजातियों और एक वर्ग को इस जाति के संभावित सदस्य होने पर विचार किया गया है। न्यू गिनी से ही मेलमपिट्टा वर्ग की दो प्रजातियों को बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ से जोड़ा गया है,[9] लेकिन इनके ये संबंध अनिश्चित बने हुए हैं और अभी हाल ही इन्हें ऑस्ट्रेलियाई मुडनेस्टर के साथ जोड़ा गया है।[1] फिजी की सिल्कटेल को इसकी खोज के बाद से ही कई बार बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के साथ जोड़ा गया है, लेकिन इसे कभी भी औपचारिक रूप से इस जाति से संबंधित नहीं किया गया है। हाल ही के आणविक सबूत इन प्रजातियों को अब फैनटेल के साथ जोड़ते हैं।[10]

प्रजातियां[संपादित करें]

लायकोकॉरक्स वर्ग

  • पैराडाइज़ क्रो, लायकोकॉरक्स पायरोपटेरस

मनुकोडिया वर्ग

  • चमकदार पंखों वाले मनुकोड, मनुकोडिया एट्रा
  • जोबी मनुकोड, मनुकोडिया जोबिएनसिस
  • क्रिन्कल-कॉलर मनुकोड, मनुकोडिया चेलीबाटा
  • कर्ल-क्रेस्टेड मनुकोड, मनुकोडिया कॉमरी
  • ट्रम्पेट मनुकोड, मनुकोडिया केरौड्रेनी

पैराडिगाला वर्ग

  • लंबी पूंछ वाले पैराडिगाला, पैराडिगाला कारुन्कुलाटा
  • छोटी पूंछ वाले पैराडिगाला, पैराडिगाला ब्रेविकॉडा

एस्ट्रापिया वर्ग

  • अर्फाक एस्ट्रापिया, एस्ट्रापिया नाइग्रा
  • स्प्लेंडिड एस्ट्रापिया, एस्ट्रापिया स्प्लेंडिडिस्सिमा
  • रिबन जैसी पूंछ वाले एस्ट्रापिया, माएरी एस्ट्रापिया
  • प्रिंसेस स्टेफ़नी एस्ट्रापिया, एस्ट्रापिया स्टेफनीए
  • ह्युऑन एस्ट्रापिया, एस्ट्रापिया रोथ्सचिल्डी

पैरोटिया वर्ग

  • वेस्टर्न पैरोटिया, पैरोटिया सेफिलाटा
  • क्वीन कैरोला पैरोटिया, पैरोटिया कैरोलाए
  • ब्रॉन्ज़ पैरोटिया, पैरोटिया बेर्लेप्शी
  • लावेस पैरोटिया, पैरोटिया लावेसी
  • पूर्वी पैरोटिया, पैरोटिया हेलेनाए
  • वाह्नेस पैरोटिया, पैरोटिया वाह्नेसी

टेरीडॉफोरा वर्ग

  • किंग ऑफ़ सेक्सॉनी बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, टेरीडॉफोरा एल्बर्टी

लोफोरीना वर्ग

  • सुपर्ब बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ लोफोरीना सुपर्बा

टिलोरिस वर्ग

  • मेग्निफिसेन्ट राइफलबर्ड, टिलोरिस मेग्निफिकस
  • ग्रोव्लिंग राइफलबर्ड, टिलोरिस इंटेर्सेडेंस
  • पैराडाइज़ राइफलबर्ड, टिलोरिस पैराडाईसेयस
  • विक्टोरिया राइफलबर्ड, टिलोरिस विक्टोरिए

एपिमाकुस वर्ग

  • ब्लैक सिक्लेबिल, एपिमाकुस फास्टुयोसस
  • ब्राउन सिक्लेबिल, एपिमाकुस मेयेरी

ड्रेपानोर्निस वर्ग

  • ब्लैक-बिल्ड सिक्लेबिल, ड्रेपानोर्निस एल्बर्टिसी
  • पेल बिल्ड सिक्लेबिल, ड्रेपानोर्निस ब्रुइज्नी

सिसीन्नुरुस वर्ग

  • मेग्निफिसेंट बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, सिसीन्नुरुस मेग्निफिकस
  • विल्सन बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, सिसीन्नुरुस रेस्प्युब्लिका
  • किंग बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, सिसीन्नुरुस रेगियस

सेमिओप्टेरा वर्ग

  • स्टेंडर्डविंग, सेमिओप्टेरा वाल्लाकी

सेलुसाइडिस वर्ग

  • ट्वेल्व वायर्ड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, सेलुसाइडिस मेलेनोल्यूका

पैराडाइसिया वर्ग

  • लेस्सर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, पैराडाइसिया माइनर
  • ग्रेटर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, पैराडाइसिया एपोडा
  • राग्गिआना बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, पैराडाइसिया राग्गिआना
  • गोल्डी बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, पैराडाइसिया डेकोरा
  • रेड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, पैराडाइसिया रूब्रा
  • एम्परर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, पैराडाइसिया गुइलिएल्मि
  • ब्लू बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, पैराडाइसिया रुडोल्फी

संकर प्रजातियां[संपादित करें]

बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ की संकर नस्लें तब उत्पन्न हो सकती हैं जब विभिन्न प्रजातियों के पक्षी, जो एक समान लगते हैं तथा जिनकी व्यापक श्रेणियां हैं, एक दूसरे को अपनी प्रजाति जैसा दिखने के लिए भ्रमित करते हैं तथा संकर नस्ल को जन्म देते हैं।

जब इरविन स्ट्रेसेमन्न को इस बात का एहसास हुआ बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ पक्षियों के अध्ययन से इस बारे में विस्तार से पता लग सकता है कि अधिकांश वर्णित प्रजातियां इतनी दुर्लभ क्यों हैं, तो उन्होनें 1920 तथा 1930 के दशक में कई विवादित नमूनों का परीक्षण किया, जो उनकी परिकल्पना के रूप में कई अख़बारों में प्रकाशित हुआ। 19वीं सदी के अंत और 20वीं सदी के प्रारंभ में वर्णित अधिकांश प्रजातियों को अब संकर माना जाता है, हालांकि इनमे से कुछ पर अभी भी विवाद है तथा संग्रहालय के नमूनों के आनुवंशिक परीक्षणों के बिना उनकी स्थिति स्पष्ट होने की संभावना नहीं है।

संकर और प्रकल्पित संकर नस्लों के कुछ प्रमुख नाम इस प्रकार हैं:[11]

  • एस्ट्रापियन सिक्लेबिल, जिसे हरी छाती वाले राइफलबर्ड के नाम से भी जाना जाता हैं, को एक प्रजाति के रूप में वर्णित किया गया था (एपिमाकुस एस्ट्रापियोइडेस रोथ्सचाइल्ड, 1897), लेकिन यह अर्फाक एस्ट्रापिया और ब्लैक सिक्लेबिल के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • बार्न्स एस्ट्रापिया, जिसे बार्न्स लॉन्ग टेल के नाम से भी जाना जाता है, को एक प्रजाति (एस्ट्राचिया बार्नेसी इरिडेल, 1948) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह रिब्बन टेल्ड एस्ट्रापिया और स्टेफ़नी एस्ट्रापिया के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • बेन्स्बक बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, जिन्हें बेन्स्बक राइफलबर्ड भी कहा जाता है, को एक प्रजाति (जेंथोथोरेक्स बेन्स्बकी बुट्टीकोफेर, 1894) के रूप में वर्णित किया गया था किन्तु इसे मेग्निफिसेंट राइफलबर्ड तथा लेस्सर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल माना गया है।
  • ब्लड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, जिन्हें कैप्टन ब्ल्ड्स बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, भी कहते हैं, को एक प्रजाति (पैराडाइसिया ब्लडी इरेडेल, 1948) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह राग्गियाना बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ और ब्लू बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • डुईवेन्बोडे बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ को एक प्रजाति (पैराडाइसिया डुइवेनबोडेइ मेनेगॉक्स, 1913) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह एम्परर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा लेस्सर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • डुईवेन्बोडे राइफलबर्ड को एक प्रजाति (पेरिफीफोरस (क्रेस्पेडीफोरा) डुईवेन्बोडेइ मेयेर, 1890) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह सुपर्ब बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा मेग्निफिसेंट राइफलबर्ड के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • डुईवेन्बोडे सिक्स-वायर्ड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ को एक प्रजाति ((पैरोटिया डुईवेन्बोडेइ रोथ्सचाइल्ड, 1900 के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु इसे वेस्टर्न पैरोटिया तथा सुपर्ब बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल माना जाता है।
  • इलियट बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, को एक प्रजाति (एपिमाकुस एल्लियोटी वार्ड, 1873 के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह अर्फाक एस्ट्रापिया और ब्लैक सिक्लेबिल के मिलन से बनी प्रकल्पित संकर नस्ल है।
  • फाल्स लोब्ड एस्ट्रापिया, जिसे फाल्स लोब्ड लॉन्ग टेल्ड के नाम से भी जाना जाता है, को एक प्रजाति (स्युडास्ट्रापिया लोबाटा रोथ्सचाइल्ड, 1907) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह लॉन्ग टेल्ड पैराडिगाला और ब्लैक सिक्लेबिल के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • गिलियर्ड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ एक संकर नस्ल है जो राग्गियाना बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा लेस्सर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी है।
  • किंग ऑफ़ हॉलैंड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, जिसे राजा विलियम तृतीय बर्ड ऑफ़ पैरडाइज़ भी कहा जाता है, को एक प्रजाति (डाइफ़िलोडेस गुलिएल्मी III मेयेर, 1875) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह मेग्निफिसेंट बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ और किंग बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • ल्युप्टन बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ को एक उपप्रजाति (पैराडाइसिया एपोडा ल्युप्टोनी लोवे, 1923) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह राग्गियाना बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा ग्रेटर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • लायर-टेल्ड किंग बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, जिसे लोनली लिटिल किंग या क्रिमसन बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ भी कहा जाता है, को एक प्रजाति (सिसीन्नुरुस ल्योगाय्रुस करी, 1900) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह मेग्निफिसेंट बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा किंग बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • मंटोयु राइफलबर्ड, जिसे ब्रुइजिन राइफलबर्ड भी कहा जाता है, को एक प्रजाति (क्रेस्पेडोफोरा मंटोयुइ ऑस्टालेट, 1891) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह मेग्निफिसेंट राइफलबर्ड तथा ट्वेल्व वायर्ड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी एक संकर नस्ल माना जाता है।
  • मारिया बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, जिसे फराओ रिचेनो बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ भी कहा जाता है, को एक प्रजाति (पैराडाइसिया मारिया रिचेनो, 1894) के रूप में वर्णित किया गया था, लेकिन ऐसा माना जाता है कि यह एम्परर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा राग्गियाना बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • मिस्टीरियस बर्ड ऑफ़ बोबैरो को ब्लैक सिक्लेबिल व सुपर्ब बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ की संकर नस्ल माना जाता है।
  • रोथ्सचाइल्ड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ को एक प्रजाति (पैराडाइसिया मिक्स्टा रोथ्सचाइल्ड, 1921) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह राग्गियाना बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा लेस्सर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • रोथ्सचाइल्ड लोब-बिल्ड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, जिन्हें नोबल लोब-बिल भी कहा जाता है, को एक प्रजाति (लोबोरहम्फुस नोबिलिस रोथ्सचाइल्ड, 1901) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु इसे लॉन्ग टेल्ड पैराडिगाला तथा सुपर्ब बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल माना जाता है।
  • रुई बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ को एक प्रजाति (नियोपैराडाइसिया रोएसी वेन ऊर्ट, 1996) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु इसे मेग्निफिसेंट बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा लेस्सर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल माना जाता है।
  • शॉड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ ब्लू बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा लावेस पैरोटिया के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • शार्प लोब-बिल्ड पैरोटिया, जिसे शार्प लोब-बिल्ड राइफलबर्ड भी कहा जाता है, को एक प्रजाति (लोबोरहाम्फुस टिलोरिस शार्प, 1908) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह वेस्टर्न पैरोटिया और लॉन्ग-टेल्ड पैराडिगाला के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • स्ट्रेसेमन बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ को एक प्रजाति (लोफोरिना सुपर्बा सूडोपैरोटिया स्ट्रेसेमन, 1934) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु यह सुपर्ब बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा कैरोला पैरोटिया के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • विल्हेल्मिना बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, जिसे विल्हेल्मिना राइफलबर्ड भी कहा जाता है, को एक प्रजाति (लैम्प्रोथोराक्स विल्हेल्मिनेइ मेयेर, 1894) के रूप में वर्णित किया गया था, किन्तु ऐसा माना जाता है कि यह सुपर्ब बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा मेग्निफिसेंट बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल है।
  • वंडरफुल बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ को एक प्रजाति (पैराडाइसिया मिराबिलिस रिचेनो, 1901) के रूप में वर्णित किया गया था किन्तु यह ट्वेल्व वायर्ड बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ तथा लेस्सर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के मिलन से बनी संकर नस्ल है।

चित्रशाला[संपादित करें]

मनुष्यों के साथ संबंध[संपादित करें]

निवास के नुकसान के कारण असुरक्षित के रूप में ब्लू पैराडाइस सूचीबद्ध

न्यू गिनी समाज के अधिकांश लोग बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ के पंखों का प्रयोग अपनी पोशाकों तथा रस्मों में करते हैं, तथा यूरोप में पिछली कई सदियों से मेम सहिबाओं की टोपियों को पंखों से सजाना अत्यधिक लोकप्रिय था। पंखों के लिए होने वाले शिकार तथा घटते निवास स्थानों के कारण कुछ कुछ प्रजातियां विलुप्त होने के कगार पर है; तथा जंगलों की कटाई के कारण निवास स्थलों का नष्ट होना अब सबसे प्रमुख खतरा है।[1]

ग्रेटर बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ प्रकार की प्रजातियों सहित पैराडाइसिया एपोडा, पैराडाइसिया वंश के सर्वश्रेष्ठ ज्ञात सदस्यों में से एक हैं। प्रारंभिक सोलहवीं सदी में व्यापार अभियान से लाए गए नमूनों के आधार पर इन प्रजातियों का वर्णन किया गया था। इन नमूनों को स्थानीय व्यापारियों द्वारा उनके डैनों तथा पैरों को हटा कर तैयार किया गया था ताकि वे सजावट के सामान के रूप में इस्तेमाल किए जा सकें. खोजकर्ताओं को इस बारे में जानकारी नहीं थी और इसीलिए सूचना के अभाव के कारण इनके बारे में कई धारणाएं बनीं. संक्षेप में उन्हें पौराणिक फीनिक्स पक्षी माना जाने लगा था। पैरों रहित तथा डैनों रहित खाल से इस धारणा को बल मिला कि ये पक्षी कभी धरती पर नहीं उतरे थे बल्कि अपने पंखों के सहारे स्थाई रूप से ऊपर ही रहते थे। उनकी खाल प्राप्त करने वाले पहले यूरोपीय एंटोनियो पिगाफेट्टा ने लिखा था कि "लोग हमें बताते थे कि ये पक्षी स्वर्ग से आए हैं तथा वे उन्हें बोलों दिउआटा कहते थे, जिसका अर्थ है "भगवान् के पक्षी".[12] यह इसके दोनों नामों "बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़" और विशिष्ट नाम एपोडा -विदआउट फीट का मुख्य आधार है।[13]

शिकार[संपादित करें]

बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ पक्षियों का शिकार लंबे समय तक होता रहा है और संभवतः ऐसा मनुष्य के बसने के बाद से ही होता आ रहा है। अक्सर शिकार होने वाली प्रजातियों के बीच एक खास बात यह है कि नर पक्षी अपने सजावटी पंखों के उगने से पहले ही कई अवसरों पर संभोग शुरू कर देते हैं। शिकार के दबाव में आबादी के स्तर को बनाए रखने के लिए शायद ऐसा किया जाता है और इसी वजह से ये 30 सहस्त्राब्दियों से जीवित रह सके हैं।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

19वीं सदी के अंत में तथा 20वीं सदी की शुरुआत में मेम सहिबाओं की टोपियों के व्यापार के लिए बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ पक्षियों का शिकार व्यापक रूप से किया जाता था, लेकिन वर्तमान में इन पक्षियों को कानूनी संरक्षण प्राप्त है तथा केवल स्थानीय जनजातीय आबादी की औपचारिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सीमित संख्या में शिकार की अनुमति दी जाती है।[14] टेरीडोफोरा पंखों की आवश्यकता पड़ने पर बूढ़े बोवेरबर्ड के घोंसले से पंख इकट्ठे करने को ही प्राथमिकता दी जाती है।

अन्य उदाहरण[संपादित करें]

  • दक्षिणी गोलार्द्ध नक्षत्र एपस में बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ पाए जाते हैं।
  • कलगी वाले एक व्यस्क बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़ को पापुआ न्यू गिनी के ध्वज पर दर्शाया गया है।
  • इस जाति के विभिन्न सदस्यों को डेविड एटनबोरो द्वारा एटनबोरो इन पैराडाइज़ में दर्शाया गया है।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Firth, Clifford B.; Firth, Dawn W. (2009). "Family Paradisaeidae (Birds-of-paradise)". In del Hoyo, Josep; Elliott, Andrew; Christie, David. Handbook of the Birds of the World. Volume 14, Bush-shrikes to Old World Sparrows. Barcelona: Lynx Edicions. pp. 404–459. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-84-96553-50-7. 
  2. होनोलूलू चिड़ियाघर ", बर्ड्स ऑफ़ पैराडाइस, 3 फ़रवरी 2011 को अभिगम
  3. Heads, M (2001). "Birds of paradise, biogeography and ecology in New Guinea: a review". Journal of Biogeography 28 (7): 893–925. doi:10.1111/j.1365-2699.2001.00600.x. 
  4. Fuller, Errol (January 1997). The Lost Birds of Paradise. Voyageur Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1-8531-0566X. 
  5. Frith, Clifford B. (1991). Forshaw, Joseph. ed. Encyclopaedia of Animals: Birds. London: Merehurst Press. pp. 228–231. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1-85391-186-0. 
  6. Mackay, Margaret D. (1990). "The Egg of Wahnes' Parotia Parotia wahnesi (Paradisaeidae)". Emu 90 (4): 269.  पीडीएफ (PDF) का सम्पूर्ण टेक्स्ट
  7. Irested, Martin; Jønsson, Knud A ;Fjeldså, Jon; Christidis, Les and Per GP Ericson (2009). "An unexpectedly long history of sexual selection in birds-of-paradise". Evolutionary Biology 9 (235): 235. doi:10.1186/1471-2148-9-235. http://www.biomedcentral.com/1471-2148/9/235. 
  8. Cracraft, J. & Feinstein, J. (2000). "What is not a bird of paradise? Molecular and morphological evidence places Macgregoria in the Meliphagidae and the Cnemophilinae near the base of the corvoid tree.". Proc. R. Soc. B 267: 233–241. doi:10.1098/rspb.2000.0992. 
  9. सिबली,. और अह्ल्कुइस्ट, जे. (1987). "द लेसर मेलैमपिटा इज अ बर्ड ऑफ़ पैराडाइस" इमू 87 : 66-68
  10. Irested, Martin; Fuchs J; Jønsson KA; Ohlson JI; Pasquet E & Per G.P. Ericson (2009). "The systematic affinity of the enigmatic Lamprolia victoriae (Aves: Passeriformes)—An example of avian dispersal between New Guinea and Fiji over Miocene intermittent land bridges?". Molecular Phylogenetics and Evolution 48 (3): 1218–1222. doi:10.1016/j.ympev.2008.05.038. PMID 18620871. http://www.nrm.se/download/18.7d9d550411abf68c801800012645/Irestedt%2Bet%2Bal%2BLamprolia.pdf. 
  11. Frith, Clifford B. & Beehler, Bruce M. (1998). The Birds of Paradise: Paradisaeidae. Oxford University Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-19-854853-2. 
  12. Harrison, Thomas P. (1960). "Bird of Paradise: Phoenix Redivivus". Isis 51 (2): 173–180. doi:10.1086/348872. 
  13. Jobling, James A. (1991). A Dictionary of Scientific Bird Names. Oxford: Oxford University Press. pp. 15–16. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-19-854634-3. 
  14. क्रिब, रॉबर्ट (1997): औपनिवेशिक इंडोनेशिया पर्यावरण राजनीति और में बर्ड ऑफ़ पैराडाइज़, 1890-1931. इन: बूमगार्ड, पिटर; कोलोमबिन, फ्रीक एंड हेनली, डेविड (एड्स.): पेपर लैंडस्केप्स: एक्सप्लोरेशन इन द इन्वाइरन्मेन्तल हिस्ट्री ऑफ़ इंडोनेशिया : 379-408. केआईटीएलवी (KITVL) प्रेस, लिडेन. ISBN 90-6718-124-2

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]