काँगड़ा जिला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
काँगड़ा जिला
—  जिला  —
हिमाचल प्रदेश के मानचित्र में जिला काँगड़ा
हिमाचल प्रदेश के मानचित्र में जिला काँगड़ा
निर्देशांक: (निर्देशांक ढूँढें)
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य हिमाचल प्रदेश
ज़िला काँगड़ा
जनसंख्या
घनत्व
11,74,072 (2001 के अनुसार )
क्षेत्रफल 5,739 km² (2,216 sq mi)
आधिकारिक जालस्थल: hpkangra.nic.in/

काँगड़ा भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश का एक जिला है । काँगड़ा जिले का मुख्यालय धर्मशाला है ।

इतिहास[संपादित करें]

त्रिगर्त के नाम से प्रसिद्ध कांगड़ा हिमाचल प्रदेश की प्राचीनतम रियासत है। महाभारत काल में इसकी स्थापना सुशर्मा ने की थी। कांगड़ा को ‘त्रिगर्त’ के अलावा ‘नगरकोट’ के नाम से भी जाना जाता है। प्रचीनकाल में यह कटोच राजाओं का केंद्र रहा। ग्यारवीं शताब्दी में हिंदू शाही वंश के शासक जयपाल की पूर्वी सीमा कांगड़ा था। 1399 में तैमूर ने कांगड़ा पर आक्रमण किया था। जहांगीर के समय 1620 ई. में कांगड़ा को मुगल साम्राज्य में जिला मिला लिया गया। उसके पश्चात कांगड़ा की स्थानीय राजपूत शैली और मुगल शैली से मिश्रित चित्रकारी की शैली विकसित हुई। 1785 ई. के पश्चात संसारचंद व रणजीत सिंह का भी कांगड़ा पर अधिकार रहा। 1966 के पंजाब पुनर्गठन के फलस्वरूप कांगड़ा को हिमाचल प्रदेश को सौंप दिया गया। पहली सितंबर, 1972 को कांगड़ा जिला के तीन भाग कर ऊना, हमीरपुर, कांगड़ा जिलों का निर्माण किया गया।

क्षेत्रफल - वर्ग कि.मी.

जनसंख्या - 11,74,072 (2001 जनगणना)

साक्षरता -

एस. टी. डी (STD) कोड - 01892

जिलाधिकारी - (सितम्बर 2006 में)

समुद्र तल से उचाई -

अक्षांश - उत्तर

देशांतर - पूर्व

औसत वर्षा - मि.मी.

बाहरी कड़ियां[संपादित करें]