सामग्री पर जाएँ

हैंडबॉल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
हैंडबॉल
सर्वोच्च नियंत्रण निकाय अंतर्राष्ट्रीय हैंडबाल महासंघ
सबसे पहले खेला गया 19 वीं सदी के अंत में, यूरोप
विशेषताएँ
अनुबंध हाँ
दल के सदस्य 7 प्रति पक्ष
मिश्रित लिंग नहीं
वर्गीकरण इंडोर
ओलंपिक 1936 में खेलों का हिस्सा
1952 ओलम्पिक में प्रदर्शन
1972 से खेलों का नियमित हिस्सा

हैंडबॉल एक टीम खेल है जिसमें सात खिलाड़ियों की दो टीमें आपस में खेलती हैं। खिलाड़ियों का उद्देश्य विरोधी टीम के गोल में बॉल फ़ेकना होता है। सात खिलाड़ियों में से छह आपस में बॉल करते हुए विरोधी टीम के गोल की तरफ़ बढ़ते हैं जबकि बचा हुआ खिलाड़ी गोलकीपर या गोलरक्षक की भूमिका अदा करता है। एक मानक मैच 30 मिनट की दो अवधियों में बटा होता है।

आधुनिक हैंडबॉल आमतौर पर इंडोर स्टेडियम में खेली जाती है, परन्तु बाह्य प्रकार भी उपलब्ध हैं जैसे फ़ील्ड हैंडबॉल, चेक हैंडबॉल (जो भूतकाल में अधिक प्रसिद्ध थी) और बीच हैंडबॉल (जिसे सैंडबॉल भी कहा जाता है)।

यह खेल काफ़ी तेजी से खेला जाता है जिसमें शरीर संपर्क भी शामिल है क्योंकि रक्षक खिलाड़ी हमला करने वाले खिलाड़ीयों को अपने गोल की तरफ़ जाने से रोकते हैं। इस प्रकार के संपर्क की केवल उसी स्थिति में अनुमति दी जाती है जब रक्षक खिलाड़ी आक्रामक खिलाड़ी के सामने पूरी तरह से आ जाए, मतलब गोल और आक्रामक खिलाड़ी के बीच में। इसे खिलाड़ी सैंडविच कहा जाता है। सामने के आलावा किसी और दिशा से किया गया सम्पर्क (विशेष रूप से पीछे से) खतरनाक माना जाता है और इसके लिए आमतौर पर दंड मिलता है।[1]

1917 में कार्ल शेलेंज़, मैक्स हाइज़र, और एरिक कोनिग]] द्वारा हैंडबॉल के नए नियम प्रकाशित किए गए।[2] इससे ही खेल की जन्मतिथि के रूप में 29 अक्टूबर को गण्य किया जाता है।[3][4] इसके बाद से कई संशोधन हुए हैं। 1917 में जर्मनी में पहला आधिकारिक हैंडबॉल मैच खेला गया।[3] कार्ल शेलेंज़ ने 1919 में नियमों में संशोधन किए।[2] अंतरराष्ट्रीय खेलों में पहला मैच 1925 में पुरुषों के बीच (जर्मनी और बेल्जियम के बीच) और 1930 में महिलाओं के बीच (जर्मनी और ऑस्ट्रिया के बीच) खेले गए।[5]

मूल और विकास[संपादित करें]

रोमन महिलाओं के हैंडबाल खेलने के सबूत मिले है जो इसे ``expulsim ludere`` कहती थी। फ्रांस, ग्रीनलैंड, डेनमार्क, जर्मनी, चेक गणराज्य, स्लोवाकिया और यूक्रेन मे 19वीं सदी मे भी इसी तरह के खेलों का अस्तित्व था। आज के हैंडबाल खेल को उत्तरी यूरोप-मुख्य रूप से डेनमार्क, जर्मनी, नार्वे और स्वीडन में 19 वीं सदी के अंत में संहिताबद्ध किया गया था। हैंडबॉल के नियमों का प्रथम लिखित स्वरूप डेनिश जिम शिक्षक, लेफ्टिनेंट और ओलंपिक पदक विजेता होल्गर नीलसन द्वारा 1906 में प्रकाशित हुआ था। नियमों का आधुनिक स्वरूप 29 अक्टूबर 1917 को जर्मनी के मैक्स हेसर, कार्ल सलेनज और एरिक कोनाइ द्वारा प्रकाशित किया गया था। 1919 के बाद नियमों मे कार्ल सलेनज द्वारा सुधार किया गया। इन नियमों के तहत पुरुषों का पहला अन्तर्राष्ट्रीय मैच जर्मनी और बेल्जियम के बीच 1925 मे खेला गया। महिलाओं का पहला अन्तर्राष्ट्रीय मैच 1930 मे जर्मनी और ऑस्ट्रिया के बीच खेला गया था। सन् 1926 में, अन्तर्राष्ट्रीय एमेच्योर एथलेटिक्स फेडरेशन की कांग्रेस मे हैंडबाल के अन्तर्राष्ट्रीय नियमों को गठित करने के लिए एक समिति बनाई गई। अन्तर्राष्ट्रीय एमेच्योर हैंडबाल फेडरेशन का गठन 1928 मे किया गया था और अंतर्राष्ट्रीय हैंडबाल महासंघ का गठन 1946 किया गया था। पुरुषों की हैंडबाल प्रतियोगिता पहली बार 1936 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में बर्लिन में खेली गई। 1972 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक से हैडंबाल ओलंपिक का स्थायी खेल है। अंतर्राष्ट्रीय हैंडबाल महासंघ द्वारा 1938 में पुरुषों की विश्व चैम्पियनशिप का आयोजन किया गया और तब से हर चार साल (कभी कभी तीन) मे द्वितीय विश्व युद्ध से लेकर 1995 तक होता रहा। आइसलैंड में सन् 1995 की विश्व चैम्पियनशिप के बाद से, यह हर दो साल मे होती है। महिला विश्व चैम्पियनशिप 1957 के बाद से खेली गयी है।

उपस्थिति रिकॉर्ड[संपादित करें]

सात खिलाड़ी हैंडबॉल के वैश्विक उपस्थिति रिकॉर्ड 6 सितंबर 2014 को स्थापित हुआ था, जब हाम्बर्ग और राइन-नेकर लियॉन्स के बीच एक न्यूट्रल स्थान पर जर्मन लीग का मैच खेला गया।[6] यह मुकाबला फ्रैंकफर्ट के कोमर्ज़बैंक एरीना में 44,189 दर्शकों को आकर्षित किया, जो 2011 के डेनिश कप फाइनल के दौरान कोपेनहेगन के पार्कन स्टेडियम में स्थापित पूर्व रिकॉर्ड 36,651 को पार कर गया।[6]

स्मृति मुद्राएं[संपादित करें]

हैंडबॉल के कई कार्यक्रमों ने संग्रहीत मुद्राओं में मुख्य विषय के रूप में चुने गए हैं। इनमें से एक है 2003 में मुद्रित यूरोपीय €10 ग्रीक स्मरणीय सोने और चांदी की मुद्राएं (यूनान)#2004 सिक्काघर का हैंडबॉल स्मरणीय सिक्का, जो 2004 संग्रीहीत ओलंपिक की याद में मुद्रित किया गया था। इस सिक्के पर, आधुनिक खिलाड़ी अपने हाथों में गेंद को अपने लक्ष्य की ओर निर्देशित करते हुए दिखाई देता है, जबकि पृष्ठभूमि में प्राचीन खिलाड़ी एक गेंद फेंकने के लिए तैयार होता है, जिसे चीरोस्फेरा के नाम से जाना जाता है, जो पुरानी-कालजी के गहरे रंग वाली मिट्टी की मटकी से लिया गया है।[7]

हैंडबॉल के विषय में सबसे हाल की स्मृति मुद्रा ब्रिटिश 50 पैसे सिक्का है, जो लंदन 2012 ओलंपिक खेल की स्मृति में जारी की गई है।[8]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "The official Handball rules" (पीडीएफ). ihf.info अंतर्राष्ट्रीय हैंडबाल महासंघ. मूल से 17 मई 2017 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि जुलाई 24, 2012.
  2. Laver, L.; Landreau, P.; Seil, R.; Popovic, N. (2018). Handball Sports Medicine: Basic Science, Injury Management and Return to Sport. Springer Berlin Heidelberg. पृ॰ 25. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-3-662-55892-8. अभिगमन तिथि 14 May 2022.
  3. Pazen, Björn (31 October 2017). "Handball in Germany celebrates 100th anniversary". European Handball Federation (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 5 March 2020.
  4. Nestler, Stefan (24 January 2019). "Handball: Will the winter fairytale last?". DW.com (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 5 March 2020.
  5. Laver, L.; Landreau, P.; Seil, R.; Popovic, N. (2018). Handball Sports Medicine: Basic Science, Injury Management and Return to Sport. Springer Berlin Heidelberg. पपृ॰ 25–26. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-3-662-55892-8. अभिगमन तिथि 14 May 2022.
  6. cie. "World record: 44,189 spectators in Frankfurt". www.handball-world.com. मूल से 23 जनवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2016-12-26.
  7. "Athens 2004 – Series F coins". Fleur de Coin. अभिगमन तिथि 3 September 2016.
  8. "London 2012 Olympic and Paralympic Games". RoyalMint.com. 2012. मूल से 31 March 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 September 2016.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]