स्वर-रज्जु

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

स्वर-रज्जु, जिन्हें आवाज़ के तार या वोकल कार्ड भी कहा जाता है, मनुष्यों और कुछ अन्य जीवों में गले के भीतर स्थित स्वरग्रंथि (लैरिंक्स) के अन्दर मौजूद श्लेष्मा-झिल्लियाँ (म्यूकस मेम्ब्रेन) होतीं हैं जिनके कंपकपाने से ये जीव बोल पाते हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

१.^ अंग्रेज़ी में स्वर-रज्जु को वोकल कार्ड या वोकल फ़ोल्ड (vocal cord या vocal fold) कहते हैं
२.^ अंग्रेज़ी में स्वरग्रंथि को लैरिंक्स (larynx) या वाइसबाक्स (voicebox) कहते हैं
३.^ अंग्रेज़ी में श्लेष्मा को म्यूकस (mucus), झिल्ली को मेम्ब्रेन (membrane) और श्लेष्मा-झिल्ली को म्यूकस मेम्ब्रेन (mucus membrane) कहतें हैं