स्मृति सुरक्षा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

स्मृति सुरक्षा (Memory protection) एक तरह से कंप्यूटर में स्मृति को नियंत्रित रखने का एक तरीका है, जो लगभग सभी नए ऑपरेटिंग सिस्टम आदि में पहले से उपस्थित रहते हैं। स्मृति की सुरक्षा का मुख्य कारण ये है कि इसके द्वारा उन प्रोसेस को स्मृति से दूर रखा जा सके, जिसे स्मृति के उपयोग की अनुमति ही नहीं है। यह किसी प्रोसेस के अन्दर या किसी अन्य प्रोसेस में या ऑपरेटिंग सिस्टम में भी किसी प्रकार के त्रुटि या मालवेयर के प्रभाव को रोक देता है। इस तरह के कोशिश से हार्डवेयर में त्रुटि आ सकती है या स्मृति उपयोग करने योग्य नहीं रहती या इस तरह के कई अन्य तरह के त्रुटि आ जाते हैं, और इस तरह के कई त्रुटियों को होने से रोकने के लिए स्मृति सुरक्षा का उपयोग किया जाता है।

तरीके[संपादित करें]

विभाजन[संपादित करें]

पृष्ठांकित आभासी स्मृति[संपादित करें]

इसमें स्मृति के जगहों को समान भागों में विभाजित किया जाता है, जिसे आभासी स्मृति हार्डवेयर की सहायता से कंप्यूटर के भौतिक स्मृति में किसी भी स्थान पर ले जाया जा सकता है या उसे सुरक्षित स्मृति के रूप में भी रखा जा सकता है।

सुरक्षा कुंजी[संपादित करें]

स्मृति सुरक्षा कुंजी एक तरह से भौतिक स्मृति को किसी विशेष आकार में विभाजित कर देता है, इसमें प्रत्येक के पास एक संख्यात्मक मान होता है, जिसे सुरक्षा कुंजी कहा जाता है। इसके हर प्रोसेस में भी सुरक्षा कुंजी का एक अलग मान उससे जुड़ा होता है। इसके बाद जब भी कोई स्मृति का उपयोग करने की कोशिश करता है तो हार्डवेयर उस प्रोसेस के सुरक्षा कुंजी में उसके मान को देखता है कि दोनों समान है या नहीं और उसके बाद कोई स्मृति का उपयोग कर पाता है। यदि दोनों मान समान न हो तो त्रुटि दिखनी शुरू हो जाती है। इस तरह के तरीके का पहली बार उपयोग सिस्टम/360 वाले में किया गया था।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Memory protection keys [स्मृति सुरक्षा कुंजी], जोनाथन कॉर्बेट, 13 मई 2015, LWN.net

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]