स्नान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जवानी के फौब्बारे में स्नान का स्वप्न

पानी या किसी अन्य तरल में शरीर को डुबाकर या बिना डुबाये शरीर को धोना स्नान कहलाता है। स्नान कई प्रयोजनोंके लिये किया जाता है; जैसे- स्वच्छता, धार्मिक अनुष्ठान, चिकित्सकीय कारण आदि।

लोग चॉकलेट, कीचड़, दूध, शम्पेन आदि में भी स्नान करते हैं। सूरज के प्रकाश में खुले बदन बैठना या लेटना भी स्नान (सूर्य स्नान) कहलाता है।

रोमन स्नानागर

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]