सौर कोर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सौर कोर सूर्य का वह क्षेत्र है जहां परमाणु प्रतिक्रियाएं हीलियम बनाने के लिए हाइड्रोजन की खपत करती है। यह तिक्रियाएं ऊर्जा को प्रकाश के रूप में छोड़ती है, जिसकी वजह से सूर्य के केंद्र से बहार की और का तापमान और घनत्व दोनों कम हो जाते है। सौर कोर की संरचना चार परतो से मिलकर बनी है, सौर कोर को विकिरण क्षेत्र भी कहते है।

सन्दर्भ[संपादित करें]