सोन्घाई साम्राज्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सोन्घाई साम्राज्य
सोन्घाई
साम्राज्य
चित्र:Mali Empire Flag.svg
c. 1340–1591
 

 

The Songhai Empire, (ca. 1500)
राजधानी गाओ[1]
भाषाएँ सोन्घाई
धार्मिक समूह इस्लाम
शासन राजतंत्र
सोन्नी; असकिया
 -  1468–1492 सोन्नी अली (पहला)
 -  1588–1592 असकिया इशाक़ II (आख़री)
इतिहास
 -  गाओ में सोन्घाई राज्य का उभर c.1000
 -  माली साम्राज्य से स्वतंत्रता 14 वीं सदी
 -  सोन्नी राजवंश का शुरुआत 1468
 -  असकिया राजवंश का शुरुआत 1493
 -  सोन्घाई साम्राज्य का विनाश 1591
 -  डेंडी राज्य 1592
क्षेत्रफल
 -  1500[2] 14,00,000 किमी ² (5,40,543 वर्ग मील)
 -  1550[3] 8,00,000 किमी ² (3,08,882 वर्ग मील)
मुद्रा कौड़ी
(सोना, नमक और तांबा भी)
Warning: Value specified for "continent" does not comply

सोन्घाई साम्राज्य (Songhai Empire) पश्चिम अफ्रीका में स्थित एक राज्य था, जो आरंभिक पंद्रह सदी से सोलहवीं सदी के अंत तक स्थापित रही। सोन्घाई इतिहास में सबसे बड़ी इस्लामी सलतंनतो में से एक थी। सोंघाई का आरंभ गाव के नदी शहर से हुआ था। शहर के अभिजात वर्ग ने 9 वीं शताब्दी ce के दौरान नाइजर नदी के क्षेत्र में अपने नियंत्रण का विस्तार किया। 14 वीं शताब्दी में माली साम्राज्य के तहत सोंघाईराज्य को शामिल किया गया था, लेकिन 15 वीं शताब्दी में माली के कमजोर पड़ने के कारण इसकी स्वतंत्रता पर फिर से जोर दिया गया। युद्ध के डिब्बे और एक घुड़सवार सेना के साथ सशस्त्र, सोननी अली ने सफल सैन्य अभियानों का नेतृत्व किया जिसमें सोंघाईकी सीमाओं का विस्तार करते हुए टिम्बकटू (1468) और जेने (1473) शहर शामिल थे।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Bethwell A. Ogot, Africa from the Sixteenth to the Eighteenth Century, (UNESCO Publishing, 2000), 303.
  2. hunwick 2003, पृ॰प॰ xlix.
  3. Taagepera 1979, पृ॰प॰ 497.