सादा जीवन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
१९४२ में महात्मा गाँधी सूत कातते हुएँ। गांधी सादगी और आत्मनिर्भरता के जीवन में विश्वास रखते थे

सादा जीवन (अंग्रेज़ी: Simple living) विभिन्न स्वैच्छिक प्रथाओं से किसी के जीवन को सादगी भरा बनाने के लिए एक जीवनशैली हैं। उदाहरण के लिए, इन प्रथाओं में, अपनी सम्पत्ति को कम करना जिसे आम तौर पर मिनिमलिस्म कहा जाता हैं, या बढ़ती आत्मनिर्भरता, शामिल हो सकते हैं। सादे जीवन की विशेषता इसमें हैं कि व्यक्ति उससे संतुष्ट होते हैं जो हैं बजाए उसके की जो चाहते हैं[1][2] यद्यपि आम तौर पर तप सादा जीवन जीने और विलास से बचने के लिए प्रोत्साहित करता हैं, सादे जीवन के सभी समर्थक तपस्वी नहीं हैं। [3] सादा जीवन, मजबूरी के कारण गरीबी में रहने वाले लोगों से अलग है, क्योंकि यह एक स्वैच्छिक जीवनशैली पसंद है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Linda Breen Pierce (2000). Choosing Simplicity. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-9672067-1-4. Rather than being consumed by materialism, we choose to surround ourselves with only those material possessions we truly need or genuinely cherish
  2. Vernon Howard. Quotes about Happiness. You have succeeded in life when all you really want is only what you really need
  3. Griffiths, Michael. B., Flemming Christiansen, and Malcolm Chapman. (2010) 'Chinese Consumers: The Romantic Reappraisal’. Ethnography, Sept 2010, 11, 331–57.