साँचा वार्ता:भक्ति काल के कवि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह पृष्ठ साँचा:भक्ति काल के कवि पन्ने के सुधार पर चर्चा करने के लिए वार्ता पन्ना है। यदि आप अपने संदेश पर जल्दी सबका ध्यान चाहते हैं, तो यहाँ संदेश लिखने के बाद चौपाल पर भी सूचना छोड़ दें।

मेघवंश के महान संत रविदास[संपादित करें]

संत रविदास जी का जन्म मेघवंश में हुआ| इनका जन्म वि. स. 1433(1376ईँ) में बनारस के निकट मंडूर गाँव में माघ पूर्णिमा के दिन हुआ | इनके पिता का नाम रघू जी तथा माता का नाम वर्मा देवी था| ये | ये चमार का काम करते थे| ये हमेशा सर्वव्यापी राम में अटूट आस्था रखते थे एवं इनका ही सिमरन करते थे |एक किवंदती के अनुसार ये पूर्व जन्म में रख मार्कुण्डेय ऋषि के पुत्र तथा गंगा के भाई थे|ये रामानंद के शिष्य थे तथा कबीर के गुरुभाई थे| भक्त शिरोमणी मीराबाई इनकी भक्ति से प्रभावित होकर इन्हें गुरू बना लिया |त्वि. स. 1524(1467ई) में चितौड में ही इनकी कंचन देह पंचतत्वोँ में विलीन हो गई|इनके जीवन से संबंधित कई दृष्टांत मिलते हैँ||रमेश रोहीन भूतगाँव