सरला रॉय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सरला राय एक शिक्षाविद थी और उन्हें कोलकाता के गोखले मेमोरियल स्कूल के संस्थापक के रूप में याद किया जाता है (जिसे पहले कलकत्ता कहा जाता था)। वह प्रसिद्ध ब्राह्मो सुधारक दुर्गा मोहन दास की बेटी थीं। उनकी डॉ. पी.के. रॉय से शादी हुए जो, कोलकाता प्रेसीडेंसी कॉलेज के प्रिंसिपल बनने वाले पहले भारतीय थे।[1]

वह कलकत्ता में गोखले मेमोरियल गर्ल्स स्कूल और कॉलेज के संस्थापक थे, जो १९२० में स्थापित हुआ था।[2]

वह कलकत्ता विश्वविद्यालय के सीनेट के सदस्य और अखिल भारतीय महिला सम्मेलन के नेताओं में से एक ब्रह्मो बालिका शिक्षालय के सचिव होने वाली पहली महिला थीं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Sengupta, Subodh Chandra and Bose, Anjali (editors), 1976/1998, Sansad Bangali Charitabhidhan (Biographical dictionary) Vol I, साँचा:Bn icon, p23, ISBN 81-85626-65-0
  2. "Gokhale Memorial Girls' School was founded on the 20 th of April 1920 by Smt. Sarala Ray. She worked out a scheme to prove that "Education meant development of thought and culture- that education brought in wider outlook of life."". मूल से 25 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 5 मई 2017.