सम्यक-प्रधान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

बौद्ध दर्शन में सम्यक प्रधान या सम्यकप्रहाण (पालि : सम्मप्पधान) ज्ञानप्राप्ति का मूल तत्त्व है।