समोच्च रेखा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
इस आरेख के नीचे वाले भाग में कई समोच्च रेखाएँ दर्शायी गयी हैं। साथ में, ऊपर के भाग में, प्रत्येक समोच्च-रेखा के संगत मान देखा जा सकता है। इन मानों को समोच्च-रेखाओं के ऊपर संख्या लिखकर भी दर्शाया जाता है।

समोच्च रेखाएं (= सम + उच्च रेखाएँ) या परिरेखाएँ (contour/कन्टूर) उस वक्र को कहते हैं जो जिस पर किसी भौतिक राशि (जैसे ऊँचाई, ताप, आदि) का मान समान होता है। उदाहरण के लिए, किसी क्षेत्र के मानचित्र पर सामान ऊँचाई वाले बिदुओं को मिलाने वाली रेखाएँ (वक्र) समोच्च रेखाएँ कहलाएँगी।

दूसरे शब्दों में, यदि कोई भौतिक राशि दो चरों का फलन हो तो इस तल में एक वक्र की कल्पना करें जिसके सभी बिन्दुओं पर किसी भौतिक राशि (जैसे ताप) समान हो तो इस वक्र को एक परिरेखा कहेंगे। मानचित्रण में प्रायः समान ऊँचाई वाले बिन्दुओं को मिलाकर समोच्च रेखाएँ बनायी जातीं हैं। किन्तु समोच्च रेखाओं का उपयोग मानचित्रण के अलावा बहुत से अन्य क्षेत्रों में भी किया जाता है।

समोच्च रेखाओं के कुछ प्रकार[संपादित करें]

  • समदाब रेखाएँ
  • समताप रेखाएँ
  • समघनत्व रेखाएँ
  • समोच्च रेखाएँ