सदस्य:Tirathnagda95/प्रयोगपृष्ठ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
                              अर्थशास्त्र का ओलंपिक मे उपयोग
                                                '

ओलंपिक खेलों, 'एथलीटों के प्रदर्शन और खेल में अपने कौशल दिखाने का एक मंच है जो हर चार साल में खेला जाता है । ओलंपिक खेल के आयोजन से किसी भी अर्थव्यवस्था में सबसे महत्वपूर्ण लाभ व्यापार और पर्यटन के क्षेत्र में होता है , और इसलिए यह एक बहुत ही प्रतिस्पर्धी बोली जाती है। लेकीन लंदन द्वारा होस्ट ओलिंपिक खेल से उनके अर्थशास्त्र को ज्यादा फायदा नही उत्प्पन हुआ । बल्की उन्हे आर्थिक मंदी का सामना करना पड़ा, उनके बजट मे £६.९ अरब का घाटा निकला । जैसे कि हम जानते है कि सकल घरेलू उत्पाद में समय की अवधि में एक अर्थव्यवस्था द्वारा उत्पादित माल और सेवाओं का कुल मूल्य है और लंदन की सकल घरेलू उत्पाद की पहली तिमाही में 0.३% की कमी हुई है और आगे की दूसरी तिमाही में 0.७% । प्रधानमंत्री द्वारा उद्धृत से हमे पता चला कि इस अवसर का लाभ हासिल करने के लिए अपनी लागत में कटौती का उपाय भी काम न लगा ।

Olympic Rings.jgp.jpg

लागत लाभ विश्लेषण के संदर्भ में, लंदन इस घटना पर $१४.४ अरब का खर्चा किया है और अन्य साधनों के माध्यम से विभिन्न लाभ की उम्मीद की है। ओलिंपिक कि वजह से व्यापार और पर्यटन कि दिशा मे नौकरिया मिलने की सम्भावना बढने से बेरोजगारी का कम करने कि उम्मिद भी बढ जानती है । लेकिन लागत अपेक्षित लाभ से बढ गया और् वास्तविक नुकसान का अनुमान पहले से ही लगा चुके थे । ओलंपिक का मेज़बान करने क असली खरचा लंदन को $१८ अरब आया। यह आंकड़ा $१४ अरब से अपने शुरुआती बजट से बढ़ चुका था जिसकी वजह से ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था एक भारी संकट मे आ गया और टोनी ब्लेयर कि सरकार को गलत साबित किया । वर्ष २000 के दौरान सिडनी में आयोजित पिछले ओलंपिक खेलों में $१.८८ अरब का नुकसान हुआ और एथेंस में लगभग $९ अरब का शुद्ध घाटा, इन आंकड़ों लेख के संदर्भ में, होस्ट करने के लिए एक प्रोत्साहन के रूप में काम नहीं करते। और ब्राजील अपनी आर्थिक ताकत का संकेत करने के लिए उत्सुक हो सकता है, खेल भी देश की प्रतिष्ठा को धूमिल कर सकता हैं। म्यूनिख ओलंपिक की छवि एक स्की मुखौटा में एक आदमी जैसी है; २००४ के ओलंपिक से खस्ताहाल स्थान ग्रीस के आर्थिक संकट के लिए एक रूपक बन गया। फिलिप पोर्टर, जो दक्षिण फ्लोरिडा विश्वविद्यालय में एक अर्थशास्त्री है, खेल की घटनाओं के प्रभाव का अध्ययन किया है, उनहोने कहा कि " हमने जभी भि देखा तब हर समय - विद्वानों के दर्जनों दर्जनों बार - हम आर्थिक गतिविधि में कोई वास्तविक परिवर्तन पाते नही है,"। प्रमुख खेल आयोजनों की मेजबानी की तरह लोग: फिर भी, यहां तक कि बोस्टन और सैन फ्रांसिस्को जैसे स्थापित शहरों के लिए, ओलंपिक या विश्व कप का पीछा करने का एक स्पष्ट कारण है और वह है खेल महोतसव का आयोजन करने कि खुशी। पैसे की गिनती करना आसान है क्योंकि अर्थशास्त्रियों, पैसे को खुशी से अधिक ध्यान देते है। "यह एक शादी की तरह है," मैथेसन मुझे बताया था। "यह तुम अमीर नहीं होगा, लेकिन यह आपको खुश कर सकता है।

Economy and olympics.jpg

इन बाधाओं के बावजूद शहरों का ओलंपिक की मेजबानी करने का मुख्य कारण हैं कि सरकार मतदाताओ मे बेतहाशा लोकप्रिय हो जाते है। आईओसी ने खोजा कि ओलंपिक की मेजबानी के लिए जन समर्थन टोक्यो में लगभग ७०%, मैड्रिड में ७६% और इस्तांबुल में ८३% था पाया। लंदन के लोग २०१२ मे खेल के पक्ष में थे भले हि समाचार पत्र ने इसे पेरिस के लिए छोड़ने की सिफारिश की थी लोकप्रियता एक तरफ, ओलंपिक बोली अक्सर अन्य एजेंडा पर निर्भर करती है। बीजिंग खेल का मुख्य लक्ष्य चीन की खर्च और संगठनात्मक शक्ति दिखाने का था। लंदन के राजधानी के एक गरीब हिस्से को समृद्ध और सफल बनाने का एक साधन थे। टोक्यो २०२० खेल जापान की मंद अर्थव्यवस्था को समृद्ध बनाने कि उम्मिग है ।

राजनीतिक अर्थव्यवस्था और ओलंपिक खेल[संपादित करें]

यह खेल और चार्ल्स ए सेंटो, पीएचडी, और जेरार्ड सीएस मिल्ड्नर,पीएचडी द्वारा संपादित सार्वजनिक नीति का एक अंश है। ओलंपिक खेल अतिरिक्त, आर्थिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक, और स्थानिक आयात के लिए सहायता करता है इसलिए ओलंपिक खेलों का आयोजन किया जाता हैं। अपनी स्थापना के कारण निकट से सामाजिक और तकनीकी प्रगति के एक विचारधारा के साथ जुड़े होने के लिए ओलंपिक खेलो का आयोजन किया जाता है। विशेष रूप से, इन अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं के राष्ट्रीय लक्ष्यों और राजनीतिक एजेंडा (हिल,१९९६;२००० ताकना,१९७९) को व्यक्त करने के लिए एक उपकरण के रूप में इस्तेमाल किया गया है। इसके अलावा, ओलंपिक का आर्थिक मूल्य ज्यादा है क्योंकि दूरसंचार क्रांति के समय के साथ यह और नाटकीय रूप से बढ़ गया है और राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रसारण अधिकार के लिए भुगतान मात्रा में वृद्धि(बार्नीऔर मार्टिन २००२; लार्सन और उद्यान,१९९३) की तालिका ११॰१॰१९६० से २००८ के ग्रीष्मकालीन खेलों के टेलीविजन प्रसारण अधिकार से राजस्व वृद्धि से पता चलता है। इन राजस्व वृद्धि खेल का अधिक से अधिक व्यावसायीकरण (चांडलर,२००५; टॉमलिंसन,२००५) आया था, और साथ अधिक से अधिक संसाधनों और अपने ब्रांड को नियंत्रित किया था। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के एक अंतरराष्ट्रीय संगठन के रूप में रूपांतरित किया गया है। ओलंपिक के लिए अधिक से अधिक शोहरत के और प्रतिक्रिया करने के लिए शुरू किया गया और खेलों की मेजबानी करने के लिए प्रतियोगिता(बरबैंक,२००१) तेज हो गया। ओलंपिक की वृद्धि की दृश्यता और उत्पाद विपणन के साथ अपने घनिष्ठ सहयोग से विभिन्न आंदोलनों और दोनों सामाजिक और खेल से संबंधित है और ओलिंपिक मे परिवार को भी सहयोजित किया गया है।

ओलिंपिक खेलों की राजनीतिक अर्थव्यवस्था के आकलन में विशेष रूप से जांच के काबिल है क्यो कि एक विषय उनके मेजबान शहरों पर खेल के आर्थिक प्रभाव डालता है। उदाहरण के लिए कासीमाती(२००३),ओलंपिक की मेजबानी के आर्थिक प्रभाव का अध्ययन की जांच की और १९८४ के खेलों से पहले कोई प्रभाव अध्ययन मे आयोजित किया गया था। तब से,शहरों की एक किस्म के प्रभाव बोली के चरण के दौरान और खेल समाप्त होने के बाद विश्लेषण करती आयोजन किया है। कासीमाती बोली चरण के दौरान उत्पादन के अध्ययन द्वारा चित्रित गुलाबी तस्वीर पूर्व डाक द्वारा विश्लेषण करती है लेकिन ऐसा पुष्टि नहीं किया है और यह इसलिए सुधार सिद्धांत के लिए जरूरत के संकेत देता है। बाद मे निष्कर्ष निकाला कि(कासीमाती,२००३) खेलों के अर्थशास्त्र के व्यापक विश्लेषण का आयोजन किया गया है, जो १९८० के दशक के बाद से खेला के बारे में गारंटी दी जा सकी थी। स्थानीय आयोजन समितियों हो जाएगा कि यह लगभग तय हो सकता है क्योंकि मोटे तौर पर अंतरराष्ट्रीय प्रायोजन और टीवी ठेके के आईओसी की बातचीत के खेल के बाद एक वित्तीय अधिशेष। दूसरा, खेल बड़ा खेल सुविधाओं और एथलीटों, पर्यटकों के लिए नए बुनियादी सुविधाओं, और मीडिया के लिए आवश्यक हैं इस मुद्दे पर जहां का विस्तार किया है। इस टिकटों की बिक्री की संख्या और मीडिया प्रतिनिधियों ओलिंपिक खेलों में एथलीटों की संख्या से बढ़ना के लिए किया है ये इसका वास्तव में सबूत है। ओलंपिक का आकार भी बार्सिलोना १९९२ खेलों के लिए किया था और के रूप में व्यापक पैमाने पर पुनर्विकास के लिए एक आधार के रूप में खेल का उपयोग करने के लिए शहरों है कि अवसर बढ़ जाती थी बीजिंग २००८ खेलों के लिए किया था। शहरों के इस तरह के व्यापक पुनर्विकास, तथापि, जिनके हितों नया खेल के बुनियादी ढांचे के निवासियों की जरूरतों के साथ हालात में अक्सर होता है, क्योंकि इसका सवाल पुनर्विकास से उठाया जा रहा है।

बाहरी कडीया[संपादित करें]