सदस्य:Mahimarajiv1/शेर्लोट मैरी म्यू

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

शार्लेट मैरी म्यू[संपादित करें]

शार्लेट मैरी म्यू (१५ नवंबर १८६९ - २४ मार्च १९२८) एक अंग्रेजी कवियत्री थी, जिनके काम विक्टोरियन कविता और आधुनिकतावाद के युग में फैला है।

प्रारंभिक जीवन और शिक्षा[संपादित करें]

उनका जन्म ब्लूम्सबरी, लंदन मे हुआ था। वे एन्ना केंडल और आर्किटेक्ट फ्रेडरिक मेव, हंपस्टेड टाउन हॉल के डिजाइनर,की बेटी थी। उनकी शादी से सात बच्चे पैदा हुए। शेरलेट अपने परिवार द्वारा उपनामित लोटी नाम से भी जानी जाती थी। उन्होनेअपनी शिक्षा गोवर स्ट्रीट स्कूल से किया, जहां वे स्कूल की मुख्याध्यापक लुसी हैरिसन से मोहित हो गयी और यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन में व्याख्यान दिया।[1] उनके पिता की मृत्यु परिवार के लिए पर्याप्त प्रावधान किए बिना १८९८ मे हो गई। उसके दो भाई-बहन मानसिक बीमारी से पीड़ित थे, और संस्थानों के लिए प्रतिबद्ध थे। तीन और भाइ-बेहनो की मृत्यु बचपन मे ही हो गयी थी। केवल उनकी मां और उसकी बहन ऐन ही उन्का परिवार था। चार्लोट और ऐनी ने अपने बच्चों को मानसिक बीमारी देने के डर से कभी भी विवाह नहीं किया। अपने अधिकांश वयस्क जीवन के के दोरान्, म्यू ने एक बांका की उपस्थिति को अपनाने के लिए मर्दाना पोशाक पहना और बालों को कम रखा था।[2]

लेखनिय कैरियर[संपादित करें]

१८९४ में, म्यू 'द येलो बुक' में एक लघु कहानी प्रकाशित करने में सफल हुई, और इस पत्रिका के लिए अक्सर योगदान करने लगी। लेकिन इस समय उन्होंने बहुत कम कविता लिखी। उनकी कविता का पहला संग्रह, द फार्मर्स ब्राइड, १९१६ में पोएट्री बुकस्टॉप द्वारा, चेपबूक प्रारूप में प्रकाशित किया गया था। अमेरिका में इस संग्रह का नाम "सेटर्डे मार्केट" था और मैकमिलन ने १९२१ में इसको प्रकाशित किया था। इस्के द्वारा उन्होने सिडनी कॉकररे से प्रशंसा प्राप्त की और एक कवि के रूप में लोकप्रिय सम्मान बनाया।[3] उनकी कविताओं में विविधताएं हैं: उनमें से कुछ (जैसे 'मेडेलिन इन चर्च') विश्वास की आवेशपूर्ण चर्चाएं है और कुछ् ईश्वर में विश्वास की संभावनाएं हैं। अन्य आधुनिक वातावरण में प्रोटो-आधुनिकतावादी के रूप मे हैं ( जैसे'ननहेड कब्रिस्तान में')। उनकी कई कविताएं नाटकीय मोनोलॉग के रूप में थीं, और वह अक्सर एक पुरुष व्यक्तित्व ('द फर्मर्स ब्राइड') के दृष्टिकोण से लिखा करती थी। दो कविताए मानसिक बीमारी पर आधार थी- "केन" और "ऑन एज़ीलम रोड"। "केन", "द केमर्स ब्राइड" और "शनिवार मार्केट" सहित कई म्यू की कविताए विचित्र आकृतिया के बारे में हैं, जो उस समुदाय से म्यू की अलगाव की भावनाओं को व्यक्त करते है। म्यू ने कई साहित्यिक आंकड़ों के संरक्षण प्राप्त किए, विशेषकर थॉमस हार्डी, जिन्होंने म्यू को अपने दिन की सर्वश्रेष्ठ महिला कवि कहा, वर्जीनिया वूल्फ, जिन्होंने कहा था कि वह "बहुत अच्छी और रोचक और किसी और अन्य कवियो से विपरीत थी",आदि। कॉकररेल, हार्डी, जॉन मेसेफिल्ड और वाल्टर डे ला मेयर की सहायता से उसने प्रति वर्ष सत्तर-पाउंड का नागरिक सूची पेंशन प्राप्त की। इससे उनकी वित्तीय कठिनाइयों को कम करने में मदद मिली।[4]

अस्वीकार और मृत्यु[संपादित करें]

१९२७ में कैंसर के कारण उनकी बहन की मृत्यु के बाद, वे एक गहरी अवसाद में चली गई, और उनकी भर्ती एक नर्सिंग होम में कराया गया जहां उन्होंने अंततः लीसोल पीकर आत्महत्या कर लीया। लंदन के हंपस्टेड कब्रिस्तान के उत्तरी भाग में म्यू को दफन किया गया है।[5]

  1. http://www.british-history.ac.uk/report.asp?compid=22648
  2. https://en.wikipedia.org/wiki/Charlotte_Mew#cite_note-1
  3. https://www.poetryfoundation.org/poets/charlotte-mew
  4. http://pennyspoetry.wikia.com/wiki/Charlotte_Mew
  5. https://www.britannica.com/biography/Charlotte-Mew